दहशत : यमुना एक्सप्रेस- वे से डरे लोग, एक माह में घटे 78 हजार वाहन

yamuna express way
दहशत : यमुना एक्सप्रेस- वे से डरे लोग, एक माह में घटे 78 हजार वाहन

नई दिल्ली। यमुना एक्सप्रेस वे पर आए दिन हो रही बड़ी दुर्घटनाओं से लोग दहशत में है। आलम ये है कि लोग अब यमुना एक्सप्रेस वे पर सफर करने से भी कतरा रहे है। बता दें कि बीते एक माह में करीब 78 हजार वाहन एक्सप्रेसवे से कम गुजरे हैं। इसके पीछे की वजह तेज रफ्तार को माना जा रहा है। गौरतलब हो कि इस सड़क पर बीती जनवरी से अब तक 127 लोगों की मौत हो चुकी है।

People Scared Of Yamuna Expressway 78 Thousand Vehicles Reduced In A Month :

बता दें कि आगरा से नोएडा तक यमुना एक्सप्रेस वे 165 किलोमीटर का है। जिसमें आए दिन भयंकर सड़क हादसे हो रहे हैं। हादसों का प्रमुख कारण वाहनों की तेज रफ्तार को माना गया है। बताया जा रहा है कि इनसे से 90 फीसदी हादसे तेज रफ्तार के कारण हुए हैं, बावजूद इसके रफ्तार पर ब्रेक नहीं लग रहा है। इसी वजह से एक्सप्रेसवे से लोग अब सफर करने से पीछे हटने लगे हैं।

आंकड़ो के मुताबिक जून में 4 लाख 90 हजार 99 वाहन गुजरे, उसकी तुलना में जुलाई में 4 लाख 12 हजार 410 वाहन स्वामियों ने एक्सप्रेस वे पर सफर किया है। करीब 78 हजार वाहन एक माह में कम गुजरे हैं। इस हिसाब से करीब 2600 वाहन प्रतिदिन कम आ रहे हैं। वहीं एक से आठ अगस्त तक भी वाहनों के गुजरने का ग्राफ गिर रहा है। जून की तुलना में करीब 400 वाहन प्रतिदिन कम गुजर रहे हैं। एक से आठ अगस्त तक करीब 97 हजार 510 वाहन गुजरे हैं।

नई दिल्ली। यमुना एक्सप्रेस वे पर आए दिन हो रही बड़ी दुर्घटनाओं से लोग दहशत में है। आलम ये है कि लोग अब यमुना एक्सप्रेस वे पर सफर करने से भी कतरा रहे है। बता दें कि बीते एक माह में करीब 78 हजार वाहन एक्सप्रेसवे से कम गुजरे हैं। इसके पीछे की वजह तेज रफ्तार को माना जा रहा है। गौरतलब हो कि इस सड़क पर बीती जनवरी से अब तक 127 लोगों की मौत हो चुकी है। बता दें कि आगरा से नोएडा तक यमुना एक्सप्रेस वे 165 किलोमीटर का है। जिसमें आए दिन भयंकर सड़क हादसे हो रहे हैं। हादसों का प्रमुख कारण वाहनों की तेज रफ्तार को माना गया है। बताया जा रहा है कि इनसे से 90 फीसदी हादसे तेज रफ्तार के कारण हुए हैं, बावजूद इसके रफ्तार पर ब्रेक नहीं लग रहा है। इसी वजह से एक्सप्रेसवे से लोग अब सफर करने से पीछे हटने लगे हैं। आंकड़ो के मुताबिक जून में 4 लाख 90 हजार 99 वाहन गुजरे, उसकी तुलना में जुलाई में 4 लाख 12 हजार 410 वाहन स्वामियों ने एक्सप्रेस वे पर सफर किया है। करीब 78 हजार वाहन एक माह में कम गुजरे हैं। इस हिसाब से करीब 2600 वाहन प्रतिदिन कम आ रहे हैं। वहीं एक से आठ अगस्त तक भी वाहनों के गुजरने का ग्राफ गिर रहा है। जून की तुलना में करीब 400 वाहन प्रतिदिन कम गुजर रहे हैं। एक से आठ अगस्त तक करीब 97 हजार 510 वाहन गुजरे हैं।