UPPCL में पीएफ घोटाला : ईओडब्ल्यू को मिली ​आधे दर्जन बैंक खातों की जानकारी, दो लोग रडार पर

uppcl
UPPCL में पीएफ घोटाला : ईओडब्ल्यू को मिली ​आधे दर्जन बैंक खातों की जानकारी, दो लोग रडार पर

लखनऊ। यूीपीपीसीएल में हुए पीएफ घोटाले की जांच कर रही ईओडब्ल्यू हर रोज नए खुलासे कर रही है। जांच में अब आधा दर्जन ऐसे बैंक खातों का पता लगा है जो फर्जी नाम और पतों पर खोले गए थे। इन बैंक खातों के जरिए ​कमिशन का रुपया दूसरे खातों में ट्रांसफर किया गया था।

Pf Scam In Uppcl Eow Gets Information Of Half A Dozen Bank Accounts Two People On Radar :

ईओडब्ल्यू को इसकी जानकारी मिलने के बाद ईओडब्ल्यू उन लोगों की तलाश में जुटी है, जिन्होंने ये खाते खुलवाए या बैंक खाते खुलवाने में मदद की थी। ईओडब्ल्यू के अफसरों की मानें तो दो लोगों की जानकारी मिली है, जिन्हें जल्द गिरफ्तार कर लिया जायेगा। बता दें कि, नए साल में ईओडब्ल्यू दोषियों के खिलाफ अदालत में आरोप पत्र दाखिल करने की तैयारी में है। सूत्रों की माने तो ईओडब्ल्यू ने घोटाले की जांच करीब-करीब पूरी कर ली है।

घोटाले के बड़े आरोपितों को पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया जा चुका है। अब कुछ फर्जी ब्रोकर कंपनियों के संचालकों और फर्जी बैंक खाता धारकों की तलाश शेष है। मामले में आरोप पत्र दाखिल करने के लिए अब ईओडब्ल्यू को फरेंसिक जांच रिपोर्ट का इंतजार है। वहीं, अब इसको लेकर विजिलेंस (सतर्कता अधिष्ठान) भी ​सक्रिय हो गया है।

ईओडब्ल्यू जहां घोटाले की जांच कर रहा है, वहीं ईडी ने गुरुवार को इस मामले में मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज कर अपनी तहकीकात शुरू कर दी है। इन दोनों जांच एजेंसियों के साथ विजिलेंस विभाग ने भी सरकार के इशारे पर घोटाले के आरोपितों और उनके करीबियों की संपत्ति की जांच शुरू कर दी है।

लखनऊ। यूीपीपीसीएल में हुए पीएफ घोटाले की जांच कर रही ईओडब्ल्यू हर रोज नए खुलासे कर रही है। जांच में अब आधा दर्जन ऐसे बैंक खातों का पता लगा है जो फर्जी नाम और पतों पर खोले गए थे। इन बैंक खातों के जरिए ​कमिशन का रुपया दूसरे खातों में ट्रांसफर किया गया था। ईओडब्ल्यू को इसकी जानकारी मिलने के बाद ईओडब्ल्यू उन लोगों की तलाश में जुटी है, जिन्होंने ये खाते खुलवाए या बैंक खाते खुलवाने में मदद की थी। ईओडब्ल्यू के अफसरों की मानें तो दो लोगों की जानकारी मिली है, जिन्हें जल्द गिरफ्तार कर लिया जायेगा। बता दें कि, नए साल में ईओडब्ल्यू दोषियों के खिलाफ अदालत में आरोप पत्र दाखिल करने की तैयारी में है। सूत्रों की माने तो ईओडब्ल्यू ने घोटाले की जांच करीब-करीब पूरी कर ली है। घोटाले के बड़े आरोपितों को पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया जा चुका है। अब कुछ फर्जी ब्रोकर कंपनियों के संचालकों और फर्जी बैंक खाता धारकों की तलाश शेष है। मामले में आरोप पत्र दाखिल करने के लिए अब ईओडब्ल्यू को फरेंसिक जांच रिपोर्ट का इंतजार है। वहीं, अब इसको लेकर विजिलेंस (सतर्कता अधिष्ठान) भी ​सक्रिय हो गया है। ईओडब्ल्यू जहां घोटाले की जांच कर रहा है, वहीं ईडी ने गुरुवार को इस मामले में मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज कर अपनी तहकीकात शुरू कर दी है। इन दोनों जांच एजेंसियों के साथ विजिलेंस विभाग ने भी सरकार के इशारे पर घोटाले के आरोपितों और उनके करीबियों की संपत्ति की जांच शुरू कर दी है।