लोकसभा चुनाव: दूसरे चरण में 66% मतदान, बंगाल में सबसे ज्यादा 76.42% वोटिंग

bangal
लोकसभा चुनाव: दूसरे चरण में 66% मतदान, बंगाल में सबसे ज्यादा 76.42% वोटिंग

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में 11 राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश पुड्डुचेरी की कुल 95 सीटों पर वोट डाले गए। चुनाव आयोग ने बताया कि इस चरण में 66% मतदान हुआ। बंगाल में कई जगहों पर हिंसक घटनाओं के बावजूद सबसे ज्यादा 76.42% वोटिंग हुई।

Phase 2 Election 2019 States News Update Of Lok Sabha Chunav 2019 General Polls :

दूसरे चरण में 97 सीटों पर मतदान होना था, लेकिन तमिलनाडु की वेल्लोर सीट पर वोटरों में धन बांटे जाने के संदेह के कारण चुनाव रद्द कर दिया गया। वहीं, त्रिपुरा-पूर्व लोकसभा सीट पर कानून-व्यवस्था ठीक नहीं होने की वजह से 23 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे।

दूसरे चरण में 15.79 करोड़ मतदाताओं ने वोट डाले। इस चरण में 1629 उम्मीदवार चुनाव में उतरे थे। 1.81 लाख पोलिंग बूथ बनाए गए थे। 5 राज्यों की 68 सीटें ऐसी थीं, जहां एनडीए-यूपीए में सीधा मुकाबला है। 3 राज्यों की 9 सीटों पर गठबंधन नहीं, बल्कि भाजपा-कांग्रेस के बीच सीधा मुकाबला था।

बंगाल में तृणमूल-भाजपा कार्यकर्ताओं की भिड़ंत

लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में बंगाल में कई जगहों पर हिंसा हुई। यहां दिनाजपुर स्थित चोपड़ा में तृणमूल कांग्रेस और भाजपा कार्यकर्ताओं की भिड़ंत में ईवीएम टूट गई। वहीं, इस्लामपुर में माकपा नेता और प्रत्याशी मोहम्मद सलीम की गाड़ी पर हमला हुआ। माकपा ने तृणमूल कांग्रेस पर हमले का आरोप लगाया।

पुलिस ने लोगों पर आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठीचार्ज किया। लोगों का आरोप था कि उन्हें अज्ञात लोगों ने वोट डालने से रोका था। प्रदर्शनकारियों ने विरोध के चलते हाईवे ब्लॉक कर दिया था। भाजपा महासचिव और रायगंज (प.बंगाल) से उम्मीदवार देबश्री चौधुरी ने तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं पर बूथ कैप्चरिंग का आरोप लगाया।

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में 11 राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश पुड्डुचेरी की कुल 95 सीटों पर वोट डाले गए। चुनाव आयोग ने बताया कि इस चरण में 66% मतदान हुआ। बंगाल में कई जगहों पर हिंसक घटनाओं के बावजूद सबसे ज्यादा 76.42% वोटिंग हुई। दूसरे चरण में 97 सीटों पर मतदान होना था, लेकिन तमिलनाडु की वेल्लोर सीट पर वोटरों में धन बांटे जाने के संदेह के कारण चुनाव रद्द कर दिया गया। वहीं, त्रिपुरा-पूर्व लोकसभा सीट पर कानून-व्यवस्था ठीक नहीं होने की वजह से 23 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे। दूसरे चरण में 15.79 करोड़ मतदाताओं ने वोट डाले। इस चरण में 1629 उम्मीदवार चुनाव में उतरे थे। 1.81 लाख पोलिंग बूथ बनाए गए थे। 5 राज्यों की 68 सीटें ऐसी थीं, जहां एनडीए-यूपीए में सीधा मुकाबला है। 3 राज्यों की 9 सीटों पर गठबंधन नहीं, बल्कि भाजपा-कांग्रेस के बीच सीधा मुकाबला था। बंगाल में तृणमूल-भाजपा कार्यकर्ताओं की भिड़ंत लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में बंगाल में कई जगहों पर हिंसा हुई। यहां दिनाजपुर स्थित चोपड़ा में तृणमूल कांग्रेस और भाजपा कार्यकर्ताओं की भिड़ंत में ईवीएम टूट गई। वहीं, इस्लामपुर में माकपा नेता और प्रत्याशी मोहम्मद सलीम की गाड़ी पर हमला हुआ। माकपा ने तृणमूल कांग्रेस पर हमले का आरोप लगाया। पुलिस ने लोगों पर आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठीचार्ज किया। लोगों का आरोप था कि उन्हें अज्ञात लोगों ने वोट डालने से रोका था। प्रदर्शनकारियों ने विरोध के चलते हाईवे ब्लॉक कर दिया था। भाजपा महासचिव और रायगंज (प.बंगाल) से उम्मीदवार देबश्री चौधुरी ने तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं पर बूथ कैप्चरिंग का आरोप लगाया।