जर्नलिस्ट ने दिखाई इंसानियत, काम छोड़ बचाई बच्ची की जान

Photographer Ne Dikhai Insaniyat Kaam Chhod Bachai Bachchi Ki Jaan

कश्मीर। इंसानियत पेशे से बढ़कर होता है, इस बात कि मिसाल एक बार फिर कश्मीर में देखने को मिली जब एक फोटोग्राफर ने अपना काम छोड़ एक बच्ची को जान बचाने का प्रयास किया। दरअसल पिछले दिनों एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही थी। इस तस्वीर में दिख रहा है कि एक पत्रकार खून से लथपथ एक स्कूली बच्ची को गोद में लेकर कहीं जा रहा है।




जानकारी के अनुसार इस पत्रकार का नाम यासीन डार है। यासीन कश्मीर में प्रशासन के खिलाफ किसी प्रदर्शन की रिपोर्टिंग करने पहुंचे थे। बताया गया कि वहां पर प्रदर्शन उग्र हो गया जिसके बाद पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच पत्थरबाजी होने लगी। इसी पत्थरबाजी में एक स्कूली छात्रा जिसका नाम खुशबू जान बताया गया उसके सिर पर पत्थर लग गया। देखते ही देखते उसका पूरा चेहरा लहू-लुहान हो गया और वह चक्कर खा कर गिर पड़ी। जैसे ही तस्वीरें खीच रहे पत्रकार यानीन डार की नजर उन्होंने अपना कैमरा छोड़ उस बच्ची पर पड़ी वह तुरंत उसकी तरफ दौड़ पड़े। यासीन ने बच्ची को गोद में उठाया और सीधे अस्पताल की तरफ निकल गए।




बच्ची के साथ उसकी सहेलियां भी यासीन के साथ अस्पताल की तरफ चल दी। यासीन ने घायल बच्ची की सहेलियों को बताया कि खुशबू जैसी ही उनकी भी बेटियां हैं। पत्रकार द्वारा दिखाई गई इस मानवता को किसी और पत्रकार ने अपने कैमरे में कैद कर लिया। धीरे-धीरे ये तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो गई

कश्मीर। इंसानियत पेशे से बढ़कर होता है, इस बात कि मिसाल एक बार फिर कश्मीर में देखने को मिली जब एक फोटोग्राफर ने अपना काम छोड़ एक बच्ची को जान बचाने का प्रयास किया। दरअसल पिछले दिनों एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही थी। इस तस्वीर में दिख रहा है कि एक पत्रकार खून से लथपथ एक स्कूली बच्ची को गोद में लेकर कहीं जा रहा है। जानकारी के अनुसार इस पत्रकार का नाम यासीन डार है। यासीन…