समुद्री लुटेरों ने हांगकांग के जहाज में सवार 18 भारतीयों का किया अपहरण, भारतीय दूतावास रिहाई में जुटा

समुद्री लुटेरे
समुद्री लुटेरों ने हांगकांग के जहाज में सवार 18 भारतीयों का किया अपहरण, भारतीय दूतावास रिहाई में जुटा

नई दिल्ली। नाइजीरियाई समुद्री तट के पास हांगकांग के झंडे वाले जहाज का समुद्री डाकुओं ने अपहरण कर लिया है। बताया जा रहा है कि जहाज में 18 भारतीय भी सवार हैं। यह जानकारी जहाजों की आवाजाही पर नजर रखने वाली अंतरराष्ट्रीय संस्था एआरएक्स मैरीटाइम ने दी है। संस्था व्यापारिक जहाजों को आपदा के समय मदद पहुंचाने का कार्य करती है। भारतीयों के अगवा होने की खबर मिलते ही भारतीय दूतावास के अफसरों ने नाइजीरया से संपर्क साधा है ताकि घटना के बारे में और ब्योरा हासिल किया जा सके। साथ ही अगवा भारतीयों को सकुशल रिहा कराया जा सके।

Pirates Kidnap 18 Indians Aboard Hong Kong Ship Indian Embassy Gets Released :

भारतीयों को ले जा रहे जहाज के अपहरण की सूचना मिलते ही नाइजीरिया स्थित भारतीय दूतावास के अधिकारियों ने अफ्रीकी देशों से मदद के लिए संपर्क किया है। एआरएक्स मैरीटाइम की रिपोर्ट के अनुसार समुद्री डाकुओं ने सोमवार शाम को जहाज पर कब्जा किया और इसके बाद वे जहाज को अज्ञात स्थान पर ले गए। जहाज में 19 लोग सवार हैं जिनमें से 18 भारतीय हैं। हांगकांग के झंडे वाले जहाज का नाम वीएलसीसी नेव कांस्टेलेशन है।

बताया जा रहा है कि जहाज सुरक्षित है और नाइजीरियाई नेवी की निगरानी में है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि भारतीयों के अपहरण की खबरों के बाद नाइजीरिया में स्थित भारतीय मिशन ने घटना से संबंधित जानकारियों का पता लगाने और अपहृत भारतीयों को बचाने के लिए अफ्रीकी देश के अधिकारियों से संपर्क किया।

जहाजों की गतिविधियों को ट्रैक करने वाली संस्था एआरएक्स मैरीटाइम ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर बताया है कि जहाज को मंगलवार को समुद्री डाकुओं ने अपने कब्जे में ले लिया। उन्‍होंने जहाज पर सवार 19 लोगों का अपहरण कर लिया गया, जिनमें से 18 भारतीय और एक तुर्की नागरिक है। तीन दिसंबर की शाम को नाइजीरियाई तट के पास से गुजरते समय हांगकांग के झंडे वाले जहाज वीएलसीसी एनएवीई कान्स्टलेशन पर समुद्री लुटेरों ने हमला किया।

नई दिल्ली। नाइजीरियाई समुद्री तट के पास हांगकांग के झंडे वाले जहाज का समुद्री डाकुओं ने अपहरण कर लिया है। बताया जा रहा है कि जहाज में 18 भारतीय भी सवार हैं। यह जानकारी जहाजों की आवाजाही पर नजर रखने वाली अंतरराष्ट्रीय संस्था एआरएक्स मैरीटाइम ने दी है। संस्था व्यापारिक जहाजों को आपदा के समय मदद पहुंचाने का कार्य करती है। भारतीयों के अगवा होने की खबर मिलते ही भारतीय दूतावास के अफसरों ने नाइजीरया से संपर्क साधा है ताकि घटना के बारे में और ब्योरा हासिल किया जा सके। साथ ही अगवा भारतीयों को सकुशल रिहा कराया जा सके। भारतीयों को ले जा रहे जहाज के अपहरण की सूचना मिलते ही नाइजीरिया स्थित भारतीय दूतावास के अधिकारियों ने अफ्रीकी देशों से मदद के लिए संपर्क किया है। एआरएक्स मैरीटाइम की रिपोर्ट के अनुसार समुद्री डाकुओं ने सोमवार शाम को जहाज पर कब्जा किया और इसके बाद वे जहाज को अज्ञात स्थान पर ले गए। जहाज में 19 लोग सवार हैं जिनमें से 18 भारतीय हैं। हांगकांग के झंडे वाले जहाज का नाम वीएलसीसी नेव कांस्टेलेशन है। बताया जा रहा है कि जहाज सुरक्षित है और नाइजीरियाई नेवी की निगरानी में है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि भारतीयों के अपहरण की खबरों के बाद नाइजीरिया में स्थित भारतीय मिशन ने घटना से संबंधित जानकारियों का पता लगाने और अपहृत भारतीयों को बचाने के लिए अफ्रीकी देश के अधिकारियों से संपर्क किया। जहाजों की गतिविधियों को ट्रैक करने वाली संस्था एआरएक्स मैरीटाइम ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर बताया है कि जहाज को मंगलवार को समुद्री डाकुओं ने अपने कब्जे में ले लिया। उन्‍होंने जहाज पर सवार 19 लोगों का अपहरण कर लिया गया, जिनमें से 18 भारतीय और एक तुर्की नागरिक है। तीन दिसंबर की शाम को नाइजीरियाई तट के पास से गुजरते समय हांगकांग के झंडे वाले जहाज वीएलसीसी एनएवीई कान्स्टलेशन पर समुद्री लुटेरों ने हमला किया।