लद्दाख में घुसे 55 चीनी सैनिक, नहर का काम रुकवाया

Pla Stops Canal Work In Ladakhs Demchok But Army Says No Incursion

नई दिल्ली| करीब 55 चीनी सैनिकों ने अपनी दादागिरी दिखाते हुए लद्दाख के डेमचोक इलाके में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर घुसपैठ करते हुए वहां चल रहे नहर का निर्माण कार्य रूकवा दिया| दरअसल, वास्तविक नियंत्रण रेखा पर देमचोक क्षेत्र में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच एक निर्माण कार्य को लेकर गतिरोध बना हुआ है| यह गतिरोध तब पैदा हुआ जब चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने भारतीय इंजीनियरों के निर्माण कार्य पर आपत्ति जताई|




भारतीय सैनिक लेह के 250 किलोमीटर पूर्व में स्थित देमचोक में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी कानून (मनरेगा) के तहत ग्रामीणों के लिए ‘हॉट स्प्रिंग’ जल को जोड़ने के लिए एक सिंचाई नहर का निर्माण कर रहे थे| तभी 55 चीनी सैनिक घटनास्थल पर पहुंचे और आक्रामक ढंग से काम रोक दिया| इसकी वजह से सेना और भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के जवानों को चीनी सैनिकों की आक्रामकता पर अंकुश लगाने के लिए घटनास्थल पर पहुंचना पड़ा|

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, चीन के पीपल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के जवान लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) को पार करके भारत में घुसे| रिपोर्ट के मुताबिक, स्थानीय प्रशासन डेमचोक एरिया में एक नहर तैयार कर रहा था ताकि एक हॉट स्प्रिंग का पानी एक गांव में पहुंचाया जा सके| यह काम ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के तहत हो रहा था| हालांकि, भारतीय सेना ने इस तरह किसी घुसपैठ से साफ इनकार किया है| सेना के एक सीनियर अधिकारी ने कहा कि कोई चीनी घुसपैठ नहीं हुआ है कंस्ट्रक्शन के मुद्दे को लेकर बॉर्डर पर्सनल मीटिंग और फ्लैग मीटिंग की जा रही है|



नई दिल्ली| करीब 55 चीनी सैनिकों ने अपनी दादागिरी दिखाते हुए लद्दाख के डेमचोक इलाके में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर घुसपैठ करते हुए वहां चल रहे नहर का निर्माण कार्य रूकवा दिया| दरअसल, वास्तविक नियंत्रण रेखा पर देमचोक क्षेत्र में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच एक निर्माण कार्य को लेकर गतिरोध बना हुआ है| यह गतिरोध तब पैदा हुआ जब चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने भारतीय इंजीनियरों के निर्माण कार्य पर आपत्ति जताई| भारतीय सैनिक लेह…