मोदी और आबे की मुलाकात आज, 12 अहम समझौतों पर होंगे हस्ताक्षर

नई दिल्ली। विदेश दौरे पर जापान पहुंचे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शुक्रवार को जपान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे से मुलाकात करेंगे। तय कार्यक्रम के मुताबिक यह मुलाकात लंबे समय तक चलेगी। जिसमें दोनों देशों के बीच कारोबारी रिश्ते मजबूत करने और परस्पर सहयोग पर चर्चा होगी। जिसमें सबसे अहम मुद्दा जापान से असैन्य परमाणु सहयोग को लेकर होने वाले समझौते को माना जा रहा है। उम्मीद की जा रही है कि आज भारत और जापान के बीच असैन्य परमाणु समझौता दोनों देशों के बीच के रिश्ते को नई मजबूती देगा।




मिली जानकारी के मुताबिक गुरूवार को जापान में एक बिजनेस मीट को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने भारत और जापान की दोस्ती को वैश्विक पटल पर विकास का केन्द्र बने एशिया को आगे ले जाने के लिए अहम बताया। जापान विदेशी निवेश जुटाने के मामले में दुनिया में चौथे स्थान पर है तो भारत 2015 में सबसे बेहतर जीडीपी वाला देश रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि एशिया के स्थायी विकास के लिए जापान और भारत का मजबूत होना जरूरी है।

उन्होंने कहा कि भारत को स्केल, स्पीड और स्किल के लिए जापान के सहयोग की जरूरत है। पिछले कुछ समय में भारत को एक ओपन इकोनॉमी बनाने की दिशा में कई प्रयास किए गए हैं। विदेशी निवेशकों के लिए भारत में एक सुगम कारोबारी माहौल बनाने की दिशा में तेजी से काम किया जा रहा है।




गौरतलब है कि प्रधानमंत्री के जापान दौरे के बाद जापान के साथ असैन्य परमाणु समझौते पर हस्ताक्षर होने की पूरी उम्मीद है। गत वर्ष दिसंबर में जापानी प्रधानमंत्री की भारत यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच इस मसौदे पर उच्च स्तरीय वार्ता हुई थी। जिसके बाद जापान ने भारत को असैन्य परमाणु सहयोग देने का मन बना लिया था, इस सहयोग के लिए तैयार हुए मसौदे में कुछ तकनीकि उलझनों के कारण समझौते को लंबित रखा गया था। जिसे शिखर वार्ता के दौरान स्पष्ट कर दिया गया है।