नामांकन दाखिल करने कलेक्ट्रेट पहुंचे पीएम मोदी, कालभैरव का किया दर्शन—पूजन

pm modi
नामांकन दाखिल करने कलेक्ट्रट पहुंचे पीएम मोदी, कालभैरव का किया दर्शन—पूजन

वाराणसी। रोड के बाद आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नामांकन दाखिल करने के लिए कलेक्ट्रेट पहुंच चुके हैं। नामांकन दाखिल करने से पहले वह काशी के कोतवाल बाबा कालभैरव का दर्शन—पूजन किया। मंदिर परिसर में पीएम मोदी का स्वागत तुलसी की माला पहना कर किया गया। काल भैरव मंदिर में पूजा करने के बाद 11 बजे पीएम मोदी कलेक्ट्रेट की तरफ नामांकन के लिए रवाना हुए थे। इस दौरान पीएम नामांकन दाखिल कर रहे हैं।

Pm Modi Arrived In Filing Nomination :

इस दौरान उनके साथ प्रकाश सिंह बादल, अमित शाह, जेपी नड्डा, नीतीश कुमार, पीयूष गोयल, पनीर ओ सेल्वम, उद्धव ठाकरे, नितिन गडकरी और सुषमा स्वराद कलेक्ट्रेट पहुंचे। कलेक्ट्रेट ऑफिस में मौजूद एनडीए नेताओं ने पीएम मोदी का स्वागत किया।

प्रधानमंत्री आज होटल डी पैरिस में कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि डगर-डगर में अनुभव करता था कि काशी के कार्यकर्ताओं ने इतनी गर्मी में घर-घर जाकर सबसे आशीर्वाद मांगे। पीएम ने कहा कि मैं भी एक बूथ कार्यकर्ता था। मुझे भी दीवारों पर पोस्टर लगाने का सौभाग्य मिला है। इस दौरान उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं की मेहनत है कि आज कश्मीर से कन्याकुमारी तक काशी घाट से पोरबंदर तक उत्साह का माहौल है।

उन्होंने कहा कि देश में लोग खुद कह रहे हैं ‘फिर एक बार मोदी सरकार’। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि यह चुनाव होने के बाद पॉलिटिकल पंडितों को माथापच्ची करनी पड़ेगी। क्योंकि आजादी के बाद पहली बार प्रो इंकम्बैंसी लहर दिखाई दे रही है। हम सब कार्यकर्ता निमित्म मात्र हैं और जनता चुनाव लड़ रही है। जनता 5 साल के अनुभव के आधार पर अनेक आशा, आकांक्षा लेकर हमसे जुड़ गई है।

जनता ने पूरे देश के राजनीतिक चरित्र को बदल दिया है।पीएम मोदी ने कहा कि जनता ने सरकार चुनने का मन बना लिया है। इतिहास का ये पहला मौका है कि इस तरह का चुनाव हो रहा है। जनता हमें जैसा प्यार दे रही है उसका हर पल आभार जताना होगा। कार्यकर्ता का परिश्रम और लोगों का प्रेम, ऐसा कल का अद्भुत अनुभव था।

सरकार बनाना जनता का काम है और सरकार चलाना हमारी जिम्मेदारी है और ये जिम्मेदारी मैंने पूरी ईमानदारी से निभाई है। आपको मैं कार्यकर्ता के तौर पर हिसाब देता हूं। कार्यकर्ता के नाते पार्टी ने 5 साल में मुझसे जितना समय मांगा, जहां मांगा मैंने एक बार भी मना नहीं किया।

वाराणसी। रोड के बाद आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नामांकन दाखिल करने के लिए कलेक्ट्रेट पहुंच चुके हैं। नामांकन दाखिल करने से पहले वह काशी के कोतवाल बाबा कालभैरव का दर्शन—पूजन किया। मंदिर परिसर में पीएम मोदी का स्वागत तुलसी की माला पहना कर किया गया। काल भैरव मंदिर में पूजा करने के बाद 11 बजे पीएम मोदी कलेक्ट्रेट की तरफ नामांकन के लिए रवाना हुए थे। इस दौरान पीएम नामांकन दाखिल कर रहे हैं। इस दौरान उनके साथ प्रकाश सिंह बादल, अमित शाह, जेपी नड्डा, नीतीश कुमार, पीयूष गोयल, पनीर ओ सेल्वम, उद्धव ठाकरे, नितिन गडकरी और सुषमा स्वराद कलेक्ट्रेट पहुंचे। कलेक्ट्रेट ऑफिस में मौजूद एनडीए नेताओं ने पीएम मोदी का स्वागत किया। प्रधानमंत्री आज होटल डी पैरिस में कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि डगर-डगर में अनुभव करता था कि काशी के कार्यकर्ताओं ने इतनी गर्मी में घर-घर जाकर सबसे आशीर्वाद मांगे। पीएम ने कहा कि मैं भी एक बूथ कार्यकर्ता था। मुझे भी दीवारों पर पोस्टर लगाने का सौभाग्य मिला है। इस दौरान उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं की मेहनत है कि आज कश्मीर से कन्याकुमारी तक काशी घाट से पोरबंदर तक उत्साह का माहौल है। उन्होंने कहा कि देश में लोग खुद कह रहे हैं 'फिर एक बार मोदी सरकार'। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि यह चुनाव होने के बाद पॉलिटिकल पंडितों को माथापच्ची करनी पड़ेगी। क्योंकि आजादी के बाद पहली बार प्रो इंकम्बैंसी लहर दिखाई दे रही है। हम सब कार्यकर्ता निमित्म मात्र हैं और जनता चुनाव लड़ रही है। जनता 5 साल के अनुभव के आधार पर अनेक आशा, आकांक्षा लेकर हमसे जुड़ गई है। जनता ने पूरे देश के राजनीतिक चरित्र को बदल दिया है।पीएम मोदी ने कहा कि जनता ने सरकार चुनने का मन बना लिया है। इतिहास का ये पहला मौका है कि इस तरह का चुनाव हो रहा है। जनता हमें जैसा प्यार दे रही है उसका हर पल आभार जताना होगा। कार्यकर्ता का परिश्रम और लोगों का प्रेम, ऐसा कल का अद्भुत अनुभव था। सरकार बनाना जनता का काम है और सरकार चलाना हमारी जिम्मेदारी है और ये जिम्मेदारी मैंने पूरी ईमानदारी से निभाई है। आपको मैं कार्यकर्ता के तौर पर हिसाब देता हूं। कार्यकर्ता के नाते पार्टी ने 5 साल में मुझसे जितना समय मांगा, जहां मांगा मैंने एक बार भी मना नहीं किया।