1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. पीएम मोदी ने किसान से पूछा-कंपनी सिर्फ आपकी अदरक ले जाती है या जमीन भी?

पीएम मोदी ने किसान से पूछा-कंपनी सिर्फ आपकी अदरक ले जाती है या जमीन भी?

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों का आंदोलन जारी है। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पीएम किसान सम्माम निधि योजना के तहत 18 हजार करोड़ रुपए जारी किए हैं। किसानों से संवाद शुरू होने से पहले पीएम मोदी ने किसान योजना की अगली किस्त के तौर पर देश के करीब नौ करोड़ से अधिक किसानों के खाते में 18 हजार करोड़ रुपए ट्रांसफर किए। वहीं, इसके बाद वह छह राज्यों के करोड़ों किसानों के साथ संवाद शुरू किए हैं। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग पर विपक्ष भ्रम फैला रहा है। पीएम ने किसानों संवाद के दौरान सबसे पहले अरुणाचल प्रदेश के किसान गगन पेरिंग से बात की।

पढ़ें :- Corona new variant: ओमिक्रॉन वैरिएंट पर वैक्सीन कितना है प्रभावी, जानिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने क्या कहा?

गगन पेरिंग ने बताया कि उन्हें पीएम किसान निधि के तहत 6,000 रुपये मिले हैं, जिसका उपयोग ऑर्गेनिक खाद और दवा खरीदने में किया। उन्होंने फिर बताया कि एफपीओ के तहत उनके साथ 446 किसान जुड़े हैं जो ऑर्गेनिक अदरक उगाते हैं। इसके बाद पीएम मोदी ने हल्के अंदाज में किसान गगन से पूछा कि क्या कंपनी सिर्फ आपकी अदरक ले जाती है या साथ में जमीन भी ले जाते हैं? इस पर गगन ने कहा कि नहीं, कंपनी जमीन नहीं ले जाती।

इस किसान की बात पर पीएम मोदी ने कहा कि आप इतनी दूर अरुणाचल प्रदेश में बैठे हैं और कह रहे हैं कि आपकी जमीन सुरक्षित है, मगर यहां किसानों के बीच भ्रम फैलाया जा रहा है कि किसानों की जमीन ले ली जाएगी। वहीं, इस दौरान पीएम मोदी ने ओडिशा के एक किसान से प्रधानमंत्री ने किसान क्रेडिट कार्ड को लेकर बात की और उसके फायदे पूछे।

प्रधानमंत्री ने कहा कि अटल जी की सरकार ने किसानों को सस्ते में कर्ज देने की शुरुआत की थी, हम उसे आगे बढ़ा रहे हैं। हरियाणा के किसान ने प्रधानमंत्री को बताया कि वे पहले धान की खेती करते थे, अब बागवानी करते हैं। महाराष्ट्र के किसान गणेश ने प्रधानमंत्री ने खेती और पशुपालन के अनुभव साझा किए। इसके साथ ही मध्य प्रदेश के किसान से बात करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसान आंदोलन को लेकर तंज किया। पीएम मोदी ने कहा कि जो लोग आज किसान आंदोलन के नाम पर बैठे हैं, उसी विचारधारा के लोग पहले गुजरात में विरोध करते थे।

 

पढ़ें :- केशव मौर्य बोले- लुंगी और जालीदार टोपी वाले गुंडों से बीजेपी ने दिलाई निजात

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...