एग्जिट पोल के बाद पीएम मोदी आज कर सकते हैं संघ प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात

pm modi
एग्जिट पोल के बाद पीएम मोदी आज कर सकते हैं संघ प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव खत्म होने के बाद अब 23 मई का इंतजार होने लगा है। हालांकि इससे पहले एग्जिट पोल में बीजेपी की बहुमत से सरकार बनती दिख रही है। बताया जा रहा है कि​ एग्जिट पोल आने के बाद पीएम मोदी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात कर सकते हैं।

Pm Modi Can Meet Rss Chief Mohan Bhagwat Today :

सूत्रों का कहना है कि पीएम मोदी नागपुर स्थित संघ मुख्यालय पहुंचेंगे जहां वह विभिन्न मुद्दों पर उनसे चर्चा करेंगे। लोकसभा चुनाव के 23 मई को आने वाले नतीजों से पहले हो रही इस मुलाकात को काफी अहम माना जा रहा है। बताया जा रहा है कि पीएम मोदी का चार साल में यह पहला दौरा संघ मुख्यालय का होगा।

ऐसी अटकलें लगाई जा रही हैं कि एनडीए के पूर्ण बहुमत हासिल नहीं करने की स्थिति में संघ पीएम पद के लिए मोदी की जगह किसी दूसरे नेता का नाम प्रस्तावित कर सकता है। ऐसे में मोदी की भागवत से इस मुलाकात को उनका आशीर्वाद और पीएम पद के लिए समर्थन हासिल करने के तौर पर देखा जा रहा है।

पिछले कुछ सालों के दौरान मोदी ने संघ मुख्यालय से दूरी बनाए रखी और नागपुर दौरे से बचते रहे हैं। वहीं नागपुर इकाई के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि उम्मीद है कि पार्टी पूर्ण बहुमत से सरकार बनायेगी। हालां​कि ऐसा नहीं होने पर संघ किसी दूसरे के नाम को आगे कर सकती है। आखिर भाजपा की बागडोर अप्रत्यक्ष रूप से संघ के हाथों में ही है। दोनों नेताओं की मुलाकात के दौरान सरकार समेत कई मुद्दों पर चर्चा होने की उम्मीद है।

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव खत्म होने के बाद अब 23 मई का इंतजार होने लगा है। हालांकि इससे पहले एग्जिट पोल में बीजेपी की बहुमत से सरकार बनती दिख रही है। बताया जा रहा है कि​ एग्जिट पोल आने के बाद पीएम मोदी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात कर सकते हैं। सूत्रों का कहना है कि पीएम मोदी नागपुर स्थित संघ मुख्यालय पहुंचेंगे जहां वह विभिन्न मुद्दों पर उनसे चर्चा करेंगे। लोकसभा चुनाव के 23 मई को आने वाले नतीजों से पहले हो रही इस मुलाकात को काफी अहम माना जा रहा है। बताया जा रहा है कि पीएम मोदी का चार साल में यह पहला दौरा संघ मुख्यालय का होगा। ऐसी अटकलें लगाई जा रही हैं कि एनडीए के पूर्ण बहुमत हासिल नहीं करने की स्थिति में संघ पीएम पद के लिए मोदी की जगह किसी दूसरे नेता का नाम प्रस्तावित कर सकता है। ऐसे में मोदी की भागवत से इस मुलाकात को उनका आशीर्वाद और पीएम पद के लिए समर्थन हासिल करने के तौर पर देखा जा रहा है। पिछले कुछ सालों के दौरान मोदी ने संघ मुख्यालय से दूरी बनाए रखी और नागपुर दौरे से बचते रहे हैं। वहीं नागपुर इकाई के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि उम्मीद है कि पार्टी पूर्ण बहुमत से सरकार बनायेगी। हालां​कि ऐसा नहीं होने पर संघ किसी दूसरे के नाम को आगे कर सकती है। आखिर भाजपा की बागडोर अप्रत्यक्ष रूप से संघ के हाथों में ही है। दोनों नेताओं की मुलाकात के दौरान सरकार समेत कई मुद्दों पर चर्चा होने की उम्मीद है।