1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. गुजरात को पीएम मोदी ने दिया खास तोहफा, गांधीनगर-वाराणसी ट्रेन को दिखाई हरी झंडी

गुजरात को पीएम मोदी ने दिया खास तोहफा, गांधीनगर-वाराणसी ट्रेन को दिखाई हरी झंडी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार गुजरात को कई खास तोहफे दिए। उन्होंने पुनर्निर्मित वडनगर रेलवे स्टेशन का शुक्रवार को डिजिटल तरीके से उद्घाटन किया और गांधीनगर-वाराणसी ट्रेन को हरी झंडी दिखाई। बता दें कि, ये वही रेलवे स्टेशन है जहां प्रधानमंत्री मोदी बचपन में चाय बेचते थे।

By शिव मौर्या 
Updated Date

Pm Modi Gave A Special Gift To Gujarat Gave Green Signal To Gandhinagar Varanasi Train

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार गुजरात को कई खास तोहफे दिए। उन्होंने पुनर्निर्मित वडनगर रेलवे स्टेशन का शुक्रवार को डिजिटल तरीके से उद्घाटन किया और गांधीनगर-वाराणसी ट्रेन को हरी झंडी दिखाई। बता दें कि, ये वही रेलवे स्टेशन है जहां प्रधानमंत्री मोदी बचपन में चाय बेचते थे।

पढ़ें :- Bhagirathi Amma का 105 की उम्र में निधन, जानें इनके नाम क्या था अनोखा रिकॉर्ड

गुजरात के मेहसाणा जिले में स्थित यह कस्बा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गृह नगर है। पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए 1,100 करोड़ रुपए से ज्यादा की परियोजनाओं का उद्घाटन किया। इनमें गुजरात साइंस सिटी में एक्वेटिक्स और रोबोटिक्स गैलरी और नेचर पार्क भी शामिल है।

गांधीनगर स्टेशन पर बना फाइव स्टार होटल 318 कमरों वाला है और 790 करोड़ रुपये की लागत से बना है। गांधीनगर रेलवे स्टेशन का पुनर्विकास और उसके ऊपर फाइव स्टार होटल का निर्माण जनवरी 2017 में शुरू हुआ था और पीएम ने इनकी आधारशिला रखी थी। होटल के ठीक सामने एक कॉन्फ्रेंस सेंटर स्थापित किया गया है जिसका नाम महात्मा मंदिर है।

यहां संगोष्ठियों और सम्मेलनों में हिस्सा लेने के लिए आने वाले देश-विदेश के मेहमान इस होटल में ठहर सकते हैं। वहीं, पीएम ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि विकास के पथ पर अग्रसर होने के लिए हमें शहरी विकास की पुरानी सोच को छोड़ना होगा और आधुनिक तौर तरीकों का उपयोग कर निर्माण करना होगा।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमारे देश का लक्ष्य कंक्रीट का स्ट्रक्चर खड़ा करना नहीं हैं। बेहतर पब्लिक स्पेस हमारी जरूरी आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि हमारे शहरों की एक बड़ी आबादी क्वालिटी पब्लिक लाइफ और क्वालिटी पब्लिक स्पेस से वंचित रही है। अब अर्बन डेवलपमेंट की पुरानी सोच को पीछे छोड़कर, देश आगे बढ़ रहा है। 21वीं सदी के भारत की जरूरत, 20वीं सदी के तौर तरीकों से पूरी नहीं हो सकती है। इसलिए रेलवे में नए सिरे से सुधार लाने की जरूरत है।

पढ़ें :- पीएम मोदी यूपी को देंगे बड़ी सौगात, 30 जुलाई को इन जिलों को मिलेगा मेडिकल कॉलेज का तोहफा

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X