1. हिन्दी समाचार
  2. पीएम मोदी ने कहा-हिंदुस्तान की मिट्टी के मुसलमानों को नागरिकता कानून और NRC से कोई लेना-देना नहीं है

पीएम मोदी ने कहा-हिंदुस्तान की मिट्टी के मुसलमानों को नागरिकता कानून और NRC से कोई लेना-देना नहीं है

Pm Modi Is Addressing Rally In Ramlila Maidan

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रामलीला मैदान पहुंच गए हैं। वह धन्यवाद रैली को संबोधित कर रहे हैं। पीएम के संबोधन करते ही समर्थक जमकर नारेबाजी कर रहे हैं। वहीं, धन्यवाद रैली के जरिए पीएम मोदी बीजेपी के चुनावी अभियान का शंखनाद कर दिया है।

पढ़ें :- छोटी-छोटी गलतियों को ध्यान दिया जाए तो दुघर्टनाओं पर लगेगी रोक : सीएम योगी

पढ़ें :- कांग्रेस नए साल के कैलेंडर के जरिए पहुंचेगी घर-घर, प्रियंका गांधी की लगी हैं तस्वीरें

रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि 40 लाख के जीवन में नया सवेरा लाए। उन्होंने कहा कि आपको अपनी जमीन पर संपूर्ण अधिकार मिला है। कुछ लोगों ने रोड़ा अटकाने की कोशिश किए थे। अवैध कालोनियों पर सिर्फ वादे किए गए लेकिन किसी ने वादा नहीं पूरा किया।

पीएम ने कहा कि, विपक्ष के लोगों की इस रफ्तार को देखते हुए हमने कहा कि ऐसा नहीं चलेगा और न मैं चलने दूंगा। इसलिए हमने इस साल मार्च में ये काम अपने हाथ में लिया। लोकसभा और राज्यसभा के बीते सत्र में दिल्ली की कॉलोनियों से जुड़ा बिल पास कराया जा चुका है।

उन्होंने कहा कि, इतने कम समय में टेक्नोलॉजी की मदद से दिल्ली की 1700 से ज्यादा कॉलोनियों की बाउंड्री को चिह्नित करने का काम पूरा किया जा चुका है। इतना ही नहीं 1200 से ज्यादा कॉलोनियों के नक्शे भी पोर्टल पर डाले जा चुके हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि, सोचिये जिन लोगों पर आप लोगों ने अपने घरों को नियमित कराने के लिए भरोसा किया था, वो खुद क्या कर रहे थे? इन लोगों ने दिल्ली के सबसे आलीशान और सबसे महंगे इलाकों में 2 हजार से ज्यादा बंगले, अवैध तरीके से अपने करीबियों को दे रखे थे। पहले जो सरकार चला रहे थे उन्होंने इन बंगलों में रहने वालों को तो पूरी छूट दी, लेकिन आपके घरों को नियमित करने के लिए कुछ किया भी नहीं और जब मैं कर रहा था तो रोड़ा अटकाने का कोई मौका भी नहीं छोड़ रहे हैं।

पीएम ने कहा कि, हमने एक तरफ वीआईपी लोगों से दिल्ली के 2000 से ज्यादा बंगले खाली कराए हैं और 40 लाख से ज्यादा गरीबों और मध्यम वर्ग को उनके घर का हक भी दे दिया है। उनके वीआईपी उनको मुबारक, मेरे वीआईपी तो आप लोग हैं, देश का सामान्य मानवी है।

पढ़ें :- सीरम इंस्टीट्यूट में आग लगने से पांच लोगों की मौत, कोविड वैक्सीन सुरक्षित

रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि, दिल्ली मेट्रो के फेज-4 को लेकर अगर यहां की राज्य सरकार ने बेवजह के रोड़ा न लगाया होता तो इसका काम भी काफी पहले शुरू हो गया होता। इसलिए मैं कहता हूं कि आप के नाम पर राजनीति करने वाले, आपकी तकलीफों को कभी न समझे हैं और न ही उनको समझने का इरादा है।

पीएम ने कहा कि आज दिल्ली में जो राज्य सरकार है, वो यहां की सबसे बड़ी समस्या से आंख बंदकर बैठी हुई है। ये समस्या है पीने के पानी की। इन लोगों के अनुसार पूरी दिल्ली में हर जगह बिसलरी जैसा साफ पानी मिलता है।

ना​गरिकता कानून को लेकर पीएम मोदी ने कहा कि, ये लोग किस तरह अपने स्वार्थ के लिए, अपनी राजनीति के लिए किस हद तक जा रहे हैं, ये आपने पिछले हफ्ते भी देखा है। जो बयान दिए गए, झूठे वीडियो, उकसाने वाली बातें कहीं, उच्च स्तर पर बैठे लोगों ने सोशल मीडिया में डालकर भ्रम और आग फैलाने का गुनाह किया है।

लेकिन नागरिकता संशोधन बिल के पास होने के बाद कुछ राजनीतिक दल तरह-तरह की अफवाहें फैलाने में लगे हैं, लोगों को भ्रमित कर रहे हैं, भावनाओं को भड़का रहे हैं। पीएम ने कहा कि मैं उनसे जानना चाहता हूं, क्या जब हमने दिल्ली की सैकड़ों कॉलोनियों को वैध करने का काम किया, तो किसी से पूछा क्या कि आपका धर्म है, आपकी आस्था क्या है, आप किस पार्टी के समर्थक हैं।

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर हो रही हिंसा पर पीएम मोदी ने कहा कि हिंसा से आपको क्या मिलेगा? उपद्रवियों ने पुलिस पर हमला किया। पीएम ने कहा कि मोदी का पुतला जलाओ लेकिन देश की संपत्ति मत जलाओं, गरीब की रिक्शा मत जलाओं, गरीब की झोपडी मत जलाओ।

रैली को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि, नागरिकता संशोधन कानून भारत के किसी नागरिक के लिए, चाहे वो हिंदू हो या मुसलमान, के लिए है ही नहीं। ये संसद में बोला गया है। इस कानून का देश के अंदर रह रहे 130 करोड़ लोगों से कोई वास्ता नहीं है।

पढ़ें :- दारोगा ने दो सिपाहियों के साथ मिलकर व्यापारियों से की थी लूट

पीएम ने कहा कि, महात्मा गांधी ने कहा था कि पाकिस्तान में रहने वाले हिंदू और सिख साथियों को जब लगे कि उन्हें भारत आना चाहिए तो उनका स्वागत है। ये रियायत तब की भारत की सरकार के वादे के मुताबिक है।

ममात बनर्जी पर हमला करते हुए पीएम ने कहा कि, कुछ साल पहले तक यही ममता दीदी संसद में खड़े होकर गुहार लगा रहीं थीं कि बांग्लादेश से आने वाले घुसपैठियों को रोका जाए, वहां से आए पीड़ित शरणार्थियों की मदद की जाए। संसद में स्पीकर के सामने कागज फेंकती थीं।

पीएम ने कहा कि, दीदी, अब आपको क्या हो गया ? आप क्यों बदल गयी? अब आप क्यों अफवाह फैला रही हों ? चुनाव आते हैं, जाते हैं, सत्ता मिलती है चली जाती है, मगर आप इतना क्यों डरी हो। बंगाल की जनता पर भरोसा करो, बंगाल के नागरिकों को आपने दुश्मन क्यों मान लिया है?

पीएम ने कहा कि CAA का विरोध करने वालों के हाथ में जब ईंट-पत्थर देखता हूं तो मुझे तकलीफ होती है। लेकिन मेरी सोच अलग है। जब उनके हाथ में हिंसा के साधन देखता हूं तो मुझे तकलीफ होती है। परन्तु जब उन्हीं में से कुछ के हाथ में तिरंगा देखता हूं, तो सुकून मिलता है। उन्होंने कहा कि, मुझे पूरा विश्वास है कि एक बार जब हाथ में तिरंगा आ जाता है तो वो फिर कभी हिंसा का, अलगाव का, बांटने की राजनीति का समर्थन नहीं कर सकता।

रैली को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि, कांग्रेस और उसके सहयोगी आज इस बात से भी तिलमिलाए हुए हैं कि आखिर क्यों मोदी को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर और खासकर मुसलिम बहुल देशों में इतना समर्थन मिलता है। क्यों वो देश मोदी को इतना पसंद करते हैं? अफगानिस्तान हो या फिलिस्तीन, सऊदी अरब हो या UAE, मालदीव हो या बहरीन – इन सब देशों ने भारत को अपना सर्वोच्च नागरिक सम्मान दिया है। भारत की संस्कृति के साथ अपने रिश्ते को और प्रगाढ़ करने की कोशिश की है।

पढ़ें :- राम मंदिर निर्माण के लिए गौतम गंभीर ने दान की बड़ी रकम, कही ये बातें...

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...