वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए PM मोदी ने केदारनाथ में चल रहे कार्यों का लिया जायजा

kedarnath
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए PM मोदी ने केदारनाथ में चल रहे कार्यों का लिया जायजा

नई दिल्ली। केदारनाथ धाम में चल रहे विभिन्न कार्यों की जानकारी पीएम मोदी ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिए ली। इसके साथ ही ड्रोन के माध्यम से उनका अवलोकन किया। पीएम मोदी ने केदारनाथ मंदिर परिसर,आदिगुरू शंकराचार्य की समाधि, सरस्वती घाट पर बने पुल, केदारनाथ में बन रही गुफाओं, मन्दाकिनी नदी पर बन रहे पुल और मंदाकिनी और सरस्वती के संगम पर बन रहे घाटों का भी जायजा लिया।

Pm Modi Kedanath Dham Actions Taken :

पीएम ने कहा कि भगवान केदारनाथ और बदरीनाथ में विभिन्न कार्यों के लिए राज्य सरकार को केंद्र से हर सम्भव मदद दी जाएगी। उन्होंने बदरीनाथ के लिए भी विकास योजना बनाने के निर्देश देते हुए कहा कि इसमें अगले 100 साल तक की परिकल्पना का हिसाब रखा जाए।

उन्होंने कहा कि रामबाड़ा से केदारनाथ तक छोटे-छोटे हिस्सों को केदारनाथ की स्मृतियों से जोड़ा जाए। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में अध्यात्म से संबंधित अनेक कार्य किए जा सकते हैं जिनकी ओर ध्यान दिया जाए। प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि इससे श्रद्धालुओं को केदारनाथ के दर्शन के साथ ही यहां से जुड़े धार्मिक और पारंपरिक महत्व के बारे में भी जानकारी मिलेगी।

पीएम नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान ही केदारनाथ के आस-पास बनाई जा रही गुफाओं के सुनियोजित तरीके से विकास करने को कहा ताकि उनका स्वरूप आकर्षक हो। उन्होंने यह भी कहा कि अभी केदारनाथ में निर्माण कार्य तेजी से किए जा सकते हैं और प्राथमिकता के कार्यों को चिह्नित कर पहले उन्हे पूरा कर लिया जाए।

नई दिल्ली। केदारनाथ धाम में चल रहे विभिन्न कार्यों की जानकारी पीएम मोदी ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिए ली। इसके साथ ही ड्रोन के माध्यम से उनका अवलोकन किया। पीएम मोदी ने केदारनाथ मंदिर परिसर,आदिगुरू शंकराचार्य की समाधि, सरस्वती घाट पर बने पुल, केदारनाथ में बन रही गुफाओं, मन्दाकिनी नदी पर बन रहे पुल और मंदाकिनी और सरस्वती के संगम पर बन रहे घाटों का भी जायजा लिया। पीएम ने कहा कि भगवान केदारनाथ और बदरीनाथ में विभिन्न कार्यों के लिए राज्य सरकार को केंद्र से हर सम्भव मदद दी जाएगी। उन्होंने बदरीनाथ के लिए भी विकास योजना बनाने के निर्देश देते हुए कहा कि इसमें अगले 100 साल तक की परिकल्पना का हिसाब रखा जाए। उन्होंने कहा कि रामबाड़ा से केदारनाथ तक छोटे-छोटे हिस्सों को केदारनाथ की स्मृतियों से जोड़ा जाए। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में अध्यात्म से संबंधित अनेक कार्य किए जा सकते हैं जिनकी ओर ध्यान दिया जाए। प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि इससे श्रद्धालुओं को केदारनाथ के दर्शन के साथ ही यहां से जुड़े धार्मिक और पारंपरिक महत्व के बारे में भी जानकारी मिलेगी। पीएम नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान ही केदारनाथ के आस-पास बनाई जा रही गुफाओं के सुनियोजित तरीके से विकास करने को कहा ताकि उनका स्वरूप आकर्षक हो। उन्होंने यह भी कहा कि अभी केदारनाथ में निर्माण कार्य तेजी से किए जा सकते हैं और प्राथमिकता के कार्यों को चिह्नित कर पहले उन्हे पूरा कर लिया जाए।