1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. पीएम मोदी ने किया ‘गति शक्ति योजना’ का शुभारंभ, कहा-देश में इंफ्रास्ट्रक्चर का विषय राजनीतिक दलों की प्राथमिकता से दूर रहा है

पीएम मोदी ने किया ‘गति शक्ति योजना’ का शुभारंभ, कहा-देश में इंफ्रास्ट्रक्चर का विषय राजनीतिक दलों की प्राथमिकता से दूर रहा है

पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने 'प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना' (Pradhan Mantri Gati Shakti Yojana) की शुरुआत की है। इस योजना की शुरूआत करते हुए पीएम मोदी ने लोगों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि, आज दुर्गाष्टमी है, पूरे देश में आज शक्ति स्वरूपा का पूजन हो रहा है। शक्ति की उपासना के इस पुण्य अवसर पर देश की प्रगति की गति को भी शक्ति देने का शुभ कार्य हो रहा है।

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने ‘प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना’ (Pradhan Mantri Gati Shakti Yojana) की शुरुआत की है। इस योजना की शुरूआत करते हुए पीएम मोदी ने लोगों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि, आज दुर्गाष्टमी है, पूरे देश में आज शक्ति स्वरूपा का पूजन हो रहा है। शक्ति की उपासना के इस पुण्य अवसर पर देश की प्रगति की गति को भी शक्ति देने का शुभ कार्य हो रहा है।

पढ़ें :- राहुल गांधी का नरेंद्र मोदी पर डबल अटैक, बोले- कब हमारे PM silent और कब होते हैं Violent?

पीएम मोदी ने कहा कि, आत्मनिर्भर भारत के संकल्प के साथ हम, अगले 25 वर्षों के भारत की बुनियाद रच रहे हैं। पीएम गतिशक्ति नेशनल मास्टर प्लान, भारत के इसी आत्मबल को, आत्मविश्वास को, आत्मनिर्भरता के संकल्प तक ले जाने वाला है। ये नेशनल मास्टरप्लान, 21वीं सदी के भारत को गतिशक्ति देगा।

उन्होंने कहा कि, गतिशक्ति के इस महाअभियान के केंद्र में हैं भारत के लोग, भारत की इंडस्ट्री, भारत का व्यापार जगत, भारत के मैन्यूफैक्चरर्स, भारत के किसान। ये भारत की वर्तमान और आने वाली पीढ़ियों को 21वीं सदी के भारत के निर्माण के लिए नई ऊर्जा देगा, उनके रास्ते के अवरोध समाप्त करेगा।

पीएम मोदी ने कहा कि, हमने ना सिर्फ परियोजनाओं को तय समयसीमा में पूरा करने का work-culture विकसित किया बल्कि आज समय से पहले प्रोजेक्टस पूरे करने का प्रयास हो रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि, हमारे देश में इंफ्रास्ट्रक्चर का विषय ज्यादातर राजनीतिक दलों की प्राथमिकता से दूर रहा है।

ये उनके घोषणापत्र में भी नजर नहीं आता। अब तो ये स्थिति आ गई है कि कुछ राजनीतिक दल, देश के लिए जरूरी इंफ्रास्ट्रक्चर के निर्माण पर आलोचना करने लगे हैं। उन्होंने कहा कि, जबकि दुनिया में ये स्वीकृत बात है कि Sustainable Development के लिए Quality इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण एक ऐसा रास्ता है, जो अनेक आर्थिक गतिविधियों को जन्म देता है, बहुत बड़े पैमाने पर रोजगार का निर्माण करता है।

पीएम मोदी ने कहा कि, अबअ whole of government approach के साथ, सरकार की सामूहिक शक्ति योजनाओं को पूरा करने में लग रही है। इसी वजह से अब दशकों से अधूरी बहुत सारी परियोजनाएं पूरी हो रही हैं। पीएम मोदी ने कहा कि, भारत में पहली इंटरस्टेट नैचुरल गैस पाइपलाइन साल 1987 में कमीशन हुई थी। इसके बाद साल 2014 तक, यानि 27 साल में देश में 15,000 कि.मी. नैचुरल गैस पाइपलाइन बनी।

आज देशभर में 16,000 कि.मी. से ज्यादा गैस पाइपलाइन पर काम चल रहा है। ये काम अगले 5-6 वर्षों में पूरा होने का लक्ष्य है। इसके साथ ही पीएम ने कहा कि, 2014 से पहले के 5 सालों में सिर्फ 3000 किलोमीटर रेलवे का बिजलीकरण हुआ था। बीते 7 सालों में हमने 24 हजार किलोमीटर से भी अधिक रेलवे ट्रैक का बिजलीकरण किया है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...