1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. PM Modi Live : केन्द्र सरकार पूरे देश को लगाएगी फ्री टीका, राज्यों का कोटा अपने हाथों में लिया

PM Modi Live : केन्द्र सरकार पूरे देश को लगाएगी फ्री टीका, राज्यों का कोटा अपने हाथों में लिया

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम संबोधित करते हुए कहा कि आज ये निर्णय़ लिया गया है कि राज्यों के पास वैक्सीनेशन से जुड़ा जो 25 प्रतिशत काम था। उसकी जिम्मेदारी भी अब केंद्र सरकार उठाएगी। ये व्यवस्था आने वाले 2 सप्ताह में लागू की जाएगी।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Pm Modi Live Address The Central Government Will Provide Free Vaccine To The Whole Country Took The Quota Of The States In Its Hands

नई दिल्ली। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम संबोधित करते हुए कहा कि आज ये निर्णय़ लिया गया है कि राज्यों के पास वैक्सीनेशन से जुड़ा जो 25 प्रतिशत काम था। उसकी जिम्मेदारी भी अब केंद्र सरकार उठाएगी। ये व्यवस्था आने वाले 2 सप्ताह में लागू की जाएगी। श्री मोदी ने कहा कि इन दो सप्ताह में केंद्र और राज्य सरकारें मिलकर नई गाइडलाइंस के अनुसार आवश्यक तैयारी कर लेंगी। उन्होंने कहा कि 21 जून, सोमवार से देश के हर राज्य में, 18 वर्ष से ऊपर की उम्र के सभी नागरिकों के लिए, भारत सरकार राज्यों को मुफ्त वैक्सीन मुहैया कराएगी। वैक्सीन निर्माताओं से कुल वैक्सीन उत्पादन का 75 प्रतिशत हिस्सा भारत सरकार खुद ही खरीदकर राज्य सरकारों को मुफ्त देगी।

पढ़ें :- राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा कि योग स्वस्थ जीवन जीने की कला

पीएम मोदी ने कहा कि देश की किसी भी राज्य सरकार को वैक्सीन पर कुछ भी खर्च नहीं करना होगा। उन्होंने कहा कि अब तक देश के करोड़ों लोगों को मुफ्त वैक्सीन मिल चुकी है। अब 18 वर्ष की आयु के लोग भी इसमें जुड़ जाएंगे।

पढ़ें :- भगवान श्रीकृष्ण ने मानवता को योग का ज्ञान दिया, इसीलिये उन्हें कहते हैं योगेश्वर : हेमा मालिनी

पीएम मोदी ने कहा कि देश में बन रही वैक्सीन में से 25 प्रतिशत, प्राइवेट सेक्टर के अस्पताल सीधे ले पाएंगें। उन्होंने कहा कि ये व्यवस्था जारी रहेगी। प्राइवेट अस्पताल, वैक्सीन की निर्धारित कीमत के उपरांत एक डोज पर अधिकतम 150 रुपए ही सर्विस चार्ज ले सकेंगे। पीएम मोदी ने कहा कि इसकी निगरानी करने का काम राज्य सरकारों के ही पास रहेगा।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि देश में कम होते कोरोना के मामलों के बीच, केंद्र सरकार के सामने अलग-अलग सुझाव भी आने लगे, भिन्न-भिन्न मांगे होने लगीं हैं। पूछा जाने लगा, सब कुछ केंद्र सरकार ही क्यों तय कर रही है? राज्य सरकारों को छूट क्यों नहीं दी जा रही? राज्य सरकारों को लॉकडाउन की छूट क्यों नहीं मिल रही? One Size Does Not Fit All जैसी बातें भी कही गईं। पीएम मोदी ने कहा कि पिछले काफी समय से देश लगातार जो प्रयास और परिश्रम कर रहा है, उससे आने वाले दिनों में वैक्सीन की सप्लाई और भी ज्यादा बढ़ने वाली है। आज देश में 7 कंपनियां, विभिन्न प्रकार की वैक्सीन्स का उत्पादन कर रही हैं। तीन और वैक्सीन्स का ट्रायल भी एडवांस स्टेज में चल रहा है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि देशवासियों की हर आशंका को दरकिनार करके भारत ने 1 साल के भीतर ही एक नहीं बल्कि दो मेड इन इंडिया वैक्सीन्स लॉन्च कर दी। उन्होंने कहा कि हमारे देश ने, वैज्ञानिकों ने ये दिखा दिया कि भारत बड़े-बड़े देशों से पीछे नहीं है। आज जब मैं आपसे बात कर रहा हूं तो देश में 23 करोड़ से ज्यादा वैक्सीन की डोज़ दी जा चुकी है।

पीएम मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना को दीवाली तक बढ़ाया गया है। इसके बाद 80 करोड़ लोगों को पहले की तरह ही मुफ्त अनाज मिलता रहेगा। उन्होंने कहा कि अब किसी भी परिवार को भूखे नहीं सोना पड़ेगा।

पीएम मोदी ने कहा कि आज पूरे विश्व में वैक्सीन के लिए जो मांग है, उसकी तुलना में उत्पादन करने वाले देश और वैक्सीन बनाने वाली कंपनियां बहुत कम हैं। कल्पना करिए कि अभी हमारे पास भारत में बनी वैक्सीन नहीं होती तो आज भारत जैसे विशाल देश में क्या होता? प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा कि आप पिछले 50-60 साल का इतिहास देखेंगे तो पता चलेगा कि भारत को विदेशों से वैक्सीन प्राप्त करने में दशकों लग जाते थे। विदेशों में वैक्सीन का काम पूरा हो जाता था तब भी हमारे देश में वैक्सीनेशन का काम शुरू नहीं हो पाता था।

पढ़ें :- जीवन की क़ीमत लगाना असंभव, लेकिन मोदी सरकार छोटी मुआवज़ा राशि भी देने को नहीं तैयार : राहुल

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कोरोना महामारी की दूसरी लहर के दौरान अप्रैल और मई के महीने में भारत में मेडिकल ऑक्सीजन की डिमांड अकल्पनीय रूप से बढ़ गई थी। भारत के इतिहास में कभी भी इतनी मात्रा में मेडिकल ऑक्सीजन की जरूरत महसूस नहीं की गई। इस जरूरत को पूरा करने के लिए युद्धस्तर पर काम किया गया। सरकार के सभी तंत्र लगे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X