PM मोदी ने शेख हसीना से की मुलाकात, सुरक्षा, कारोबार सहित कई मुद्दों पर हुई चर्चा

modi seikh haseena
PM मोदी ने शेख हसीना से की मुलाकात, सुरक्षा, कारोबार सहित कई मुद्दों पर हुई चर्चा

नयी दिल्ली। बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना इन दिनों भारत दौरे पर हैं। शनिवार को नई दिल्ली के हैदराबाद हाउस में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शेख हसीना की मुलाकात हुई। इस दौरान दोनों नेताओं के बीच सुरक्षा, कारोबार और एनआरसी सहित कई मुद्दों चर्चा हुई।

Pm Modi Met Sheikh Hasina Discussed Many Issues Including Security Business :

इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि मुझे खुशी है कि भारत और बांग्लादेश के बीच तीन और योजनाओं का उद्घाटन करने का मौका मिला। हमने एक साल के अंदर 12 संयुक्त प्रोजेक्ट शुरू किए हैं। पीएम मोदी ने कहा हमारा लक्ष्य अपने लोगों के जीवन को बेहतर बनाना है। यह हमारी मित्रता पर आधारित है। ऐसी संभावनाएं जताई जा रही हैं कि भारत और बांग्लादेश के बीच ट्रांसपोर्ट, कनेक्टिविटी समेत 6-7 समझौते पर हस्ताक्षर हो सकते हैं।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने बताया कि भारत और बांग्लादेश के बीच कभी नजदीकी संबंध नहीं रहे। निश्चित रूप से दोनों नेताओं के बीच द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने पर बातचीत होगी। जब हम द्विपक्षीय रिश्ते की बात कहते हैं तो इसका मतलब है कि दोनों देश संबंधों को नई दिशा में आगे बढ़ाने के लिए सकारात्मक पहल करने वाले हैं।

हसीना ने शुक्रवार को भारत-बांग्लादेश बिजनेस फोरम को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि प्याज से हमारे लिए दिक्कत हो गई है। मुझे मालूम नहीं क्यों आपने प्याज भेजना बंद कर दिया। थोड़ा समय देते तो प्याज दूसरी जगह से ला सकते थे। मैंने कुक को बोल दिया अब से खाने में प्याज डालना बंद कर दो। शेख हसीना की यह बात हिंदी में सुनकर वहां मौजूद लोग हैरान रह गए।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने इस मामले पर कहा कि हम कोशिश कर रहे हैं कि प्याज पर बांग्लादेश की प्रधानमंत्री ने जो चिंताएं जाहिर की हैं, उनका समाधान किस प्रकार किया जा सकता है। 29 सितंबर को वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने हर तरह के प्याज के निर्यात पर रोक लगा दी थी।

इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा, मुझे खुशी है कि हमारी आज की बातचीत से हमारे संबंधों को और भी ऊर्जा मिलेगी। पीएम मोदी ने कहा, बांग्ला संस्कृति की उदारता और खुली भावना की तरह ही इस मिशन में भी सभी पन्थों को मानने वालों के लिए स्थान है। और यह मिशन हर सम्प्रदाय के उत्सव को समान रूप से मनाता है। पीएम मोदी ने कहा, ढाका के रामकृष्ण मिशन में विवेकानंद भवन का प्रोजेक्ट दो महामानवों के जीवन से प्ररेणा लेता है। हमारे समाज और मूल्यों पर स्वामी रामकृष्ण और स्वामी विवेकानंद जी का अमिट प्रभाव है।

नयी दिल्ली। बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना इन दिनों भारत दौरे पर हैं। शनिवार को नई दिल्ली के हैदराबाद हाउस में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शेख हसीना की मुलाकात हुई। इस दौरान दोनों नेताओं के बीच सुरक्षा, कारोबार और एनआरसी सहित कई मुद्दों चर्चा हुई। इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि मुझे खुशी है कि भारत और बांग्लादेश के बीच तीन और योजनाओं का उद्घाटन करने का मौका मिला। हमने एक साल के अंदर 12 संयुक्त प्रोजेक्ट शुरू किए हैं। पीएम मोदी ने कहा हमारा लक्ष्य अपने लोगों के जीवन को बेहतर बनाना है। यह हमारी मित्रता पर आधारित है। ऐसी संभावनाएं जताई जा रही हैं कि भारत और बांग्लादेश के बीच ट्रांसपोर्ट, कनेक्टिविटी समेत 6-7 समझौते पर हस्ताक्षर हो सकते हैं। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने बताया कि भारत और बांग्लादेश के बीच कभी नजदीकी संबंध नहीं रहे। निश्चित रूप से दोनों नेताओं के बीच द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने पर बातचीत होगी। जब हम द्विपक्षीय रिश्ते की बात कहते हैं तो इसका मतलब है कि दोनों देश संबंधों को नई दिशा में आगे बढ़ाने के लिए सकारात्मक पहल करने वाले हैं। हसीना ने शुक्रवार को भारत-बांग्लादेश बिजनेस फोरम को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि प्याज से हमारे लिए दिक्कत हो गई है। मुझे मालूम नहीं क्यों आपने प्याज भेजना बंद कर दिया। थोड़ा समय देते तो प्याज दूसरी जगह से ला सकते थे। मैंने कुक को बोल दिया अब से खाने में प्याज डालना बंद कर दो। शेख हसीना की यह बात हिंदी में सुनकर वहां मौजूद लोग हैरान रह गए। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने इस मामले पर कहा कि हम कोशिश कर रहे हैं कि प्याज पर बांग्लादेश की प्रधानमंत्री ने जो चिंताएं जाहिर की हैं, उनका समाधान किस प्रकार किया जा सकता है। 29 सितंबर को वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने हर तरह के प्याज के निर्यात पर रोक लगा दी थी। इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा, मुझे खुशी है कि हमारी आज की बातचीत से हमारे संबंधों को और भी ऊर्जा मिलेगी। पीएम मोदी ने कहा, बांग्ला संस्कृति की उदारता और खुली भावना की तरह ही इस मिशन में भी सभी पन्थों को मानने वालों के लिए स्थान है। और यह मिशन हर सम्प्रदाय के उत्सव को समान रूप से मनाता है। पीएम मोदी ने कहा, ढाका के रामकृष्ण मिशन में विवेकानंद भवन का प्रोजेक्ट दो महामानवों के जीवन से प्ररेणा लेता है। हमारे समाज और मूल्यों पर स्वामी रामकृष्ण और स्वामी विवेकानंद जी का अमिट प्रभाव है।