1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. नेताजी सुभाष चंद्र बोस को पीएम मोदी ने अर्पित की श्रद्धांजलि, 21 द्वीपों का भी किया नामकरण

नेताजी सुभाष चंद्र बोस को पीएम मोदी ने अर्पित की श्रद्धांजलि, 21 द्वीपों का भी किया नामकरण

आज पराक्रम दिवस पर, मैं नेताजी सुभाष चंद्र बोस को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं और भारत के इतिहास में उनके अद्वितीय योगदान को याद करता हूं। उन्हें औपनिवेशिक शासन के प्रति उनके उग्र प्रतिरोध के लिए याद किया जाएगा। उनके विचारों से गहराई से प्रभावित होकर हम भारत के लिए उनके विजन को साकार करने के लिए काम कर रहे हैं।

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 126वीं जयंती (126th birth anniversary of Netaji Subhash Chandra Bose) के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने कहा कि, आज पराक्रम दिवस पर, मैं नेताजी सुभाष चंद्र बोस को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं और भारत के इतिहास में उनके अद्वितीय योगदान को याद करता हूं। उन्हें औपनिवेशिक शासन के प्रति उनके उग्र प्रतिरोध के लिए याद किया जाएगा। उनके विचारों से गहराई से प्रभावित होकर हम भारत के लिए उनके विजन को साकार करने के लिए काम कर रहे हैं।

पढ़ें :- एक साल में PM के ‘फेवरेट मित्र’ की सम्पत्ति 46% कैसे बढ़ी? राहुल गांधी ने साधा निशाना

इसके साथ ही इस मौके पर पीएम मोदी (Pm Modi) ने अंडमान और निकोबार के 21 बड़े द्वीपों का नामकरण किया। इसमें खास बात ये है कि इन द्वीपों को परमवीर चक्र विजेताओं के नाम से जाना जाएगा। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पीएम मोदी कार्यक्रम में हिस्सा लिए। पीएम मोदी ने इस मौके पर कहा कि, इन 21 द्वीपों को अब परमवीर चक्र विजेताओं के नाम से जाना जाएगा। आज के इस दिन को आजादी के अमृत काल के एक महतपूर्ण अध्याय के रूप में आने वाली पीढ़ियां याद करेंगी। हमारी आने वाली पीढ़ियों के लिए ये द्वीप एक चिरंतर प्रेरणा का स्थल बनेंगे। मैं सभी को इसके लिए बहुत बहुत बधाई देता हूं।

अंडमान की ये धरती वो भूमि है, जिसके आसमान में पहली बार मुक्त तिरंगा फहरा था। सेल्यूलर जेल की कोठरियों से आज भी अप्रतिम पीड़ा के साथ-साथ उस अभूतपूर्व जज़्बे के स्वर सुनाई पड़ते हैं। इसके साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि, अंडमान में जिस जगह नेता जी ने सबसे पहले तिरंगा फहराया था वहां आज गगनचुंबी तिरंगा आजादी हिन्द फौज के पराक्रम का गुणगान कर रहा है। समंदर किनारे लहराते तिरंगे को देख, यहां आने वाले लोगों में देशभक्ति का रोमांच बढ़ जाता है।

इसके साथ ही कहा कि, दशकों से नेता जी के जीवन से जुड़ी फाइलों को सार्वजानिक करने की मांग हो रही थी, यह काम भी देश ने पूरी श्रद्धा के साथ आगे बढ़ाया। आज हमारी लोकतांत्रिक संस्थाओं के सामने ‘कर्तव्य पथ’ पर नेताजी की भव्य प्रतिमा हमें हमारे कर्तव्यों की याद दिला रही है।

विपक्ष पर भी साधा निशाना
इस मौके पर पीएम मोदी (Pm Modi) ने विपक्ष पर भी निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि, देश में पहले की सरकारों ने… और खास कर विकृत वैचारिक राजनीति के कारण दशकों से जो हीनभावना और आत्मविश्वास की कमी रही उसके कारण देश के सामर्थ्य को हमेशा कमतर आंका गया। उन्होंने कहा कि, मुझे विश्वास है कि हम एक ऐसे भारत का निर्माण करेंगे जो सक्षम होगा… समर्थ होगा और आधुनिक विकास कि बुलंदियों को छुएगा।

पढ़ें :- Wrestlers Protest : खेल मंत्रालय का बड़ा एक्शन, कुश्ती संघ के अतिरिक्त सचिव को किया सस्पेंड

 

 

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...