पीएम मोदी बोले: धर्मशाला में वैश्विक सम्मेलन, ये कल्पना नहीं सच्चाई है

PM modi
पीएम मोदी बोले: धर्मशाला में वैश्विक सम्मेलन, ये कल्पना नहीं सच्चाई है

धर्मशाला। हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में आयोजित दो दिवसीय वैश्विक निवेशक सम्मेलन 2019 को पीएम मोदी ने संबोधित किया। वैश्विक निवेशक सम्मेलन को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि धर्मशाला में ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट, ये सुनने ही थोड़ा अटपटा लगता है लेकिन ये कल्पना नहीं है, ये सच्चाई है। इसके लिए आप सभी को बधाई हो। देश और दुनिया को ये हिमाचल प्रदेश का एक स्टेटमेंट है कि हम भी अब कमर कस चुके हैं।

Pm Modi Said Global Conference In Dharamshala This Is Not Fiction But Truth :

इन्वेस्टर मीट के उद्घाटन सत्र में पीएम के अलावा केन्द्रीय पर्यटन राज्य मंत्री प्रह्लाद एस पटेल, वित्त राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर, सीएम जयराम ठाकुर, सिक्किम के मुख्यमंत्री प्रेम सिंह थमांग, बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे, नीति आयोग के वाइस चेयरमैन राजीव कुमार और केंद्रीय मंत्रालय के अधिकारी मौजूद हैं। पहले दिन इन्वेस्टर मीट में देश-विदेश के 200 डेलीगेट्स सहित 1700 से अधिक प्रतिनिधि सभागार में मौजूद हैं।

इस मौके पर पीएम ने कहा कि पहले इस प्रकार के वैश्विक सम्मेलन देश के कुछ ही राज्यों में हुआ करते थे। यहां अनेक ऐसे साथी मौजूद हैं जिन्होंने पहले की स्थितियां देखी हैं। लेकिन अब स्थितियां बदल रही हैं और इसकी एक गवाह यहां हिमाचल में हो रही ये समिट भी है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि निवेशक राज्यों को देखकर निवेश करते हैं कि किस राज्य में कितनी छूट मिल रही है। आज भारत में विकास की गाड़ी नई सोच, नई अप्रोच के साथ चार पहियों पर चल रही है। एक पहिया समाज का, दूसरा पहिया सरकार का, तीसरा पहिया इंडस्ट्री का और एक चौथा पहिया ज्ञान का है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि बेवजह के नियम कायदे, सरकार का बहुत ज्यादा दखल कहीं न कहीं उद्योगों के बढ़ने की रफ्तार को रोकता है। मुझे खुशी है कि इसी सोच के साथ हिमाचल प्रदेश सरकार भी काम कर रही है। अब राज्य सरकारें समझने लगी हैं कि रियायतों की स्पर्धा न राज्य का भला करती हैं और न ही उद्योंगों को आकर्षित कर पाती हैं।

इससे पहले अभिनेत्री यामी गौतम ने पीएम का शाल और टोपी पहनाकर स्वागत किया। पीएम मोदी ने मंच पर ‘इन्वेस्टर हेवन राइजिंग हिमाचल’ कॉफी टेबल बुक का लोकापर्ण किया। हिमाचल में औद्योगिक निवेश बढ़ाने के लिए पहली बार देवभूमि में ग्लोबल इन्वेस्टर मीट (निवेशक सम्मेलन) शुरू हुआ है। दो दिवसीय इन्वेस्टर मीट में देश-विदेश के नामी उद्योग घरानों के उद्योगपतियों सहित 1,720 प्रतिनिधि शरीक हो रहे हैं।

धर्मशाला। हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में आयोजित दो दिवसीय वैश्विक निवेशक सम्मेलन 2019 को पीएम मोदी ने संबोधित किया। वैश्विक निवेशक सम्मेलन को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि धर्मशाला में ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट, ये सुनने ही थोड़ा अटपटा लगता है लेकिन ये कल्पना नहीं है, ये सच्चाई है। इसके लिए आप सभी को बधाई हो। देश और दुनिया को ये हिमाचल प्रदेश का एक स्टेटमेंट है कि हम भी अब कमर कस चुके हैं। इन्वेस्टर मीट के उद्घाटन सत्र में पीएम के अलावा केन्द्रीय पर्यटन राज्य मंत्री प्रह्लाद एस पटेल, वित्त राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर, सीएम जयराम ठाकुर, सिक्किम के मुख्यमंत्री प्रेम सिंह थमांग, बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे, नीति आयोग के वाइस चेयरमैन राजीव कुमार और केंद्रीय मंत्रालय के अधिकारी मौजूद हैं। पहले दिन इन्वेस्टर मीट में देश-विदेश के 200 डेलीगेट्स सहित 1700 से अधिक प्रतिनिधि सभागार में मौजूद हैं। इस मौके पर पीएम ने कहा कि पहले इस प्रकार के वैश्विक सम्मेलन देश के कुछ ही राज्यों में हुआ करते थे। यहां अनेक ऐसे साथी मौजूद हैं जिन्होंने पहले की स्थितियां देखी हैं। लेकिन अब स्थितियां बदल रही हैं और इसकी एक गवाह यहां हिमाचल में हो रही ये समिट भी है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि निवेशक राज्यों को देखकर निवेश करते हैं कि किस राज्य में कितनी छूट मिल रही है। आज भारत में विकास की गाड़ी नई सोच, नई अप्रोच के साथ चार पहियों पर चल रही है। एक पहिया समाज का, दूसरा पहिया सरकार का, तीसरा पहिया इंडस्ट्री का और एक चौथा पहिया ज्ञान का है। प्रधानमंत्री ने कहा कि बेवजह के नियम कायदे, सरकार का बहुत ज्यादा दखल कहीं न कहीं उद्योगों के बढ़ने की रफ्तार को रोकता है। मुझे खुशी है कि इसी सोच के साथ हिमाचल प्रदेश सरकार भी काम कर रही है। अब राज्य सरकारें समझने लगी हैं कि रियायतों की स्पर्धा न राज्य का भला करती हैं और न ही उद्योंगों को आकर्षित कर पाती हैं। इससे पहले अभिनेत्री यामी गौतम ने पीएम का शाल और टोपी पहनाकर स्वागत किया। पीएम मोदी ने मंच पर 'इन्वेस्टर हेवन राइजिंग हिमाचल' कॉफी टेबल बुक का लोकापर्ण किया। हिमाचल में औद्योगिक निवेश बढ़ाने के लिए पहली बार देवभूमि में ग्लोबल इन्वेस्टर मीट (निवेशक सम्मेलन) शुरू हुआ है। दो दिवसीय इन्वेस्टर मीट में देश-विदेश के नामी उद्योग घरानों के उद्योगपतियों सहित 1,720 प्रतिनिधि शरीक हो रहे हैं।