1. हिन्दी समाचार
  2. NCC की रैली में बोले PM मोदी, हम युवा देश हैं, अब टाला नहीं, टकराया जाएगा

NCC की रैली में बोले PM मोदी, हम युवा देश हैं, अब टाला नहीं, टकराया जाएगा

By बलराम सिंह 
Updated Date

Pm Modi Said In Ncc Rally We Are Young Country Now Will Not Be Postponed

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को दिल्ली के करियप्पा परेड ग्राउंड में नेशनल कैडेट कोर रैली को संबोधित करते हुए कश्मीर को लेकर विपक्ष पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि 3-4 परिवारों ने कश्मीर के मुद्दों को सुलझाने की दिशा में काम नहीं किया बल्कि उन्हें उलझाने का काम किया। इसका नतीजा यह हुआ कि आतंकवाद के कारण हजारों बेगुनाहों की मौत हुई। लाखों लोगों को वहां से पलायन करने के लिए मजबूर होना पड़ा।

पढ़ें :- IPL 2021: जानिए क्यों, इस बार अपने फिटनेस को लेकर ज्यादा चिंतित नजर आ रहे हैं रोहित शर्मा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज विश्व में हमारी पहचान एक युवा देश के रूप में है। देश की 65 प्रतिशत से ज्यादा आबादी 35 वर्ष से कम उम्र की है। उन्होंने कहा कि आज का युवा देश बदलना चाहता है, स्थितियां बदलना चाहता है। इसलिए उसने तय किया है कि अब टाला नहीं जाएगा, अब टकराया जाएगा, निपटा जाएगा। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इस स्थिति को आज मेरे भारत का युवा स्वीकारने के लिए तैयार नहीं है। वो छटपटा रहा है कि स्वतंत्रता के इतने साल हो गए। इसके बाद भी चीजें कब तक ऐसे ही चलती रहेंगी? कब तक हम पुरानी कमजोरियां को पकड़कर बैठे रहेंगे।

रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि एनसीसी देश के युवाओं को ऊर्जा, अनुशासन, भक्ति की भावनाओं के लिए प्रेरित करता है। ये भावनाएं सीधे देश के विकास से जुड़ी हैं। कोई भी देश किसी को नहीं रोक सकता अगर उसके युवाओं में ये सब भावनाएं हैं। 65 प्रतिशत भारतीय 35 वर्ष से कम उम्र के हैं। देश युवा है, इसका हमें गर्व है, लेकिन देश की सोच युवा हो, ये हमारा दायित्व होना चाहिए।’

उन्होंने कहा कि जिस देश के युवा में अनुशासन हो, दृढ़ इच्छाशक्ति हो, निष्ठा हो, लगन हो, उस देश का तेज गति से विकास कोई नहीं रोक सकता। भारत का युवा कोई बदलाव न होता देख छटपटा रहा है। वह परिवर्तन चाहता है, जो आजादी के बाद से 70 वर्षों में नहीं हुआ है।

बिना नाम लिए पाकिस्तान पर हमला करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि पड़ोसी देश को हराने में हमें 10 दिन भी नहीं लगेंगे। पड़ोसी देश तीन बार युद्ध हार चुका है। वह प्रॉक्सी वॉर लड़ रहा है। क्या हम अपने युवाओं को ऐसा देश सौंप सकते हैं जहां आतंकवाद की समस्या थी?

पढ़ें :- विंध्याचल में नवरात्र के पहले ही दिन कोविड प्रोटोकॉल की उड़ीं धज्जियां

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...