1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. पर्यावरण दिवस पर बोले पीएम मोदी-इथेनॉल भारत की 21वीं सदी की प्राथमिकताओं से जुड़ गया है

पर्यावरण दिवस पर बोले पीएम मोदी-इथेनॉल भारत की 21वीं सदी की प्राथमिकताओं से जुड़ गया है

पर्यावरण दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हिस्सा लिया। इस दौरान पीएम मोदी ने इथेनॉल को 21वीं सदी के भारत की प्राथमिकता बताया। उन्होंने कहा कि भारत क्लाइमेट जस्टिस के नेता के रूप में उभर रहा है। पीएम ने कार्यक्रम में 'भारत में इथेनॉल मिश्रण 2020-2025 के लिए रोड मैप पर विशेषज्ञ समिति की रिपोर्ट' जारी की है।

By शिव मौर्या 
Updated Date

Pm Modi Said On Environment Day Ethanol Has Joined Indias 21st Century Priorities

नई दिल्ली। पर्यावरण दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हिस्सा लिया। इस दौरान पीएम मोदी ने इथेनॉल को 21वीं सदी के भारत की प्राथमिकता बताया। उन्होंने कहा कि भारत क्लाइमेट जस्टिस के नेता के रूप में उभर रहा है। पीएम ने कार्यक्रम में ‘भारत में इथेनॉल मिश्रण 2020-2025 के लिए रोड मैप पर विशेषज्ञ समिति की रिपोर्ट’ जारी की है।

पढ़ें :- राज्यसभा सांसद संजय सिंह बोले- बीजेपी की आस्था चंदा चोर और प्रॉपर्टी डीलर में, प्रभु श्री राम में नहीं

कार्यक्रम के दौरान पीएम ने बताया कि विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर भारत ने इथेनॉल क्षेत्र के विकास के लिए एक विस्तृत रोडमैप जारी किया है, जो कि एक महत्वपूर्ण कदम है। उन्होंने बताया कि इथेनॉल के उत्पादन और वितरण से संबंधित ई100 पायलट प्रोजेक्ट भी शनिवार से पुणे में शुरू किया गया है।

अपने संबोधन से पहले प्रधानमंत्री ने देश के अलग-अलग राज्यों के किसानों से इथेनॉल पर भी बात की। इस दौरान केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, केंद्रीय पेट्रोलियम परिवहन मंत्री धर्मेंद्र प्रधान कार्यक्रम में मौजूद रहे। पीएम मोदी ने कहा कि आज से 7-8 साल पहले भारत में एथेनॉल पर चर्चा दुर्लभ थी, लेकिन अब इथेनॉल भारत की 21वीं सदी की प्राथमिकताओं से जुड़ गया है।

यह पर्यावरण के साथ-साथ किसानों के जीवन की भी मदद कर रहा है। पीएम ने कहा कि हमने 2025 तक पेट्रोल में 20 फीसद एथेनॉल ब्लेंडिंग को पूरा करने का संकल्प लिया है। 2014 तक औसतन सिर्फ 1-1.5 फीसदी इथेनॉल ब्लेंड किया जा रहा था और आज यह करीब 8.5 फीसदी पर पहुंच गया है। बता दें कि इस वर्ष के कार्यक्रम का विषय ‘बेहतर पर्यावरण के लिए जैव ईंधन को बढ़ावा देना था।

पढ़ें :- मोदी सरकार का मंहगाई कम करने का नारा भी साबित हुआ जुमला : कमलनाथ

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X