1. हिन्दी समाचार
  2. पीएम मोदी बोले- पहले गरीब सरकार के पीछे दौडता था लेकिन अब सरकार गरीबों के पास जाती है

पीएम मोदी बोले- पहले गरीब सरकार के पीछे दौडता था लेकिन अब सरकार गरीबों के पास जाती है

Pm Modi Said Previously The Poor Used To Run After The Government But Now The Government Goes To The Poor

By सोने लाल 
Updated Date

नई दिल्ली। पीएम मोदी ने शनिवार को पीएम आवास योजना ग्रामीण को गरीबों को आत्मविश्वास देने वाली योजना करार दिया। पीएम ने मध्य प्रदेश में इस योजना के तहत बने एक लाख 75 हजार आवासों का उद्घाटन करने के बाद कहा कि यह सिर्फ मकान बनाने की योजना नहीं है बल्कि इसका मकसद गरीब को ताकतवर बनाना है।

पढ़ें :- महिला खिलाड़ी ने तोड़ा महेंद्र सिंह धोनी का रिकॉर्ड, जानिए पूरा मामला

पीएम मोदी ने कहा, इस योजना का मकसद है ​गरीब लोग घर, बिजली, पानी, ईंधन जैसी राजमर्रा की जद्दोजहद से बाहर निकलकार अपने भविष्य और प्रगति पर ध्यान लगाएं। प्रधानमंत्री ने कहा कि गरीब मेहनत करने के बाद जब रात में थका हुआ घर पहुंचे तो चैन की नींद सोए और अगले दिन फिर तरोताजा होकर काम परनिकल पड़े।

गरीबी को पराजित करना है, गरीबी से बाहर निकलना है तो गरीबी से मुक्ति पाने का सबसे बड़ा रास्ता है गरीब को ताकतवर बनाने का, गरीब को अपनी लड़ाई लड़ने की ताकत मिल रही है, उसका परिणाम भी नजर आने लगा है।

पीएम मोदी ने कहा कि 2022 तक देश के हर परिवार को घर देने के लक्ष्य की दिशा में यह एक और महत्वपूर्ण कदम है। प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण के तहत तैयार किए गए ये घर इस बात का सबूत हैं कि कोरोना महामारी भी विकास कार्यों में बाधक नहीं बन सकी है।

पीएम ने कहा कि आज मध्य प्रदेश के लाभार्थियों को अपना पक्का घर मिला है, अपने सपनों का घर मिला है। एक नया विश्वास आपके मन में पैदा हुआ है। मध्य प्रदेश के 1.75 लाख ऐसे परिवार जो अपने घर में आज प्रवेश कर रहे हैं, उन सभी को मैं बधाई और शुभकामनाएं देता हूं।

पढ़ें :- संसद के बाद कृषि विधेयकों को राष्ट्रपति ने दी मंजूरी, विपक्ष कर रहा था इसका विरोध

प्रधानमंत्री ने बताया कि मुझे कई बार लोग पूछते हैं कि घर तो पहले भी गरीबों के लिए बनते थे। वैसे दशकों से गरीबों के लिए घर बनाने की योजनाएं चल रही हैं। लेकिन करोड़ों गरीबों को घर देने का लक्ष्य था, वो कभी पूरा नहीं हो पाया।

पीएम ने कहा कि पहले गरीब सरकार के पीछे दौड़ता था, अब सरकार लोगों के पास जा रही है। अब किसी की इच्छा के अनुसार लिस्ट में नाम जोड़ा या घटाया नहीं जा सकता, चयन से लेकर निर्माण तक वैज्ञानिक और पारदर्शी तरीका अपनाया जा रहा है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...