एक मई को पीएम मोदी जायेंगे अयोध्या, पीएम बनने के बाद पहला दौरा

d

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक मई को उत्तर प्रदेश के अयोध्या जा सकते हैं। मई 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद से अभी तक पीएम अयोध्या नहीं गए हैं। ऐसे में उनके अयोध्या दौरे के कार्यक्रम को अलग.अलग नजरिए से देखा जा रहा है।

Pm Modi To Visit Ayodhya On May 1 And Address Election Rally :

बता दें कि फैजाबाद लोकसभा सीट पर पांचवें चरण के तहत 6 मई को मतदान होना है। प्रधानमंत्री मोदी अम्बेडकरनगर और अयोध्या के बीच गोसाईंगंज के मया बाजार इलाके में 1 मई को चुनावी रैली को संबोधित करेंगे। हालांकि अभी यह साफ नहीं है कि पीएम मोदी का अयोध्या के मंदिरों में भी दर्शन.पूजन का कार्यक्रम है या नहीं। इस बीच आज से पीएम मोदी वाराणसी के दो दिन के दौरे पर हैं।

शाम को उनका मेगा रोड शो का कार्यक्रम है। इसके बाद शुक्रवार को पीएम मोदी अपना नामांकन दाखिल करेंगे। बीजेपी ने इसके लिए बड़े पैमाने पर तैयारियां की हैं। खुद अमित शाह वहां डटे हुए हैं। पीएम मोदी के अयोध्या दौरे के कई मायने निकाले जा रहे हैं। माना जा रहा है कि लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण की वोटिंग से पहले पीएम के इस दौरे से बीजेपी को आस.पास की सीटों पर फायदा मिल सकता है।

साथ ही इसे 6 मई को मतदान से पहले माहौल अपने पक्ष में करने की जुगत के रूप में भी देखा जा रहा है। 6 मई को फैजाबाद सीट के अलावा धौरहरा, सीतापुर, मोहनलालगंज, लखनऊ, रायबरेली, अमेठी, बांदा, फतेहपुर, कौशाम्बी, बाराबंकी, बहराइच, कैसरगंज और गोंडा लोकसभा सीटों पर भी मतदान है। ऐसे में एसपी,बीएसपी,आरएलडी गठबंधन की चुनौती से जूझ रही बीजेपी को इस रैली से काफी आशाएं हैं।

पिछले दो साल के दौरान योगी सरकार ने अयोध्या में कई बड़े आयोजन किए हैं। पिछले साल योगी सरकार ने भव्य दीपोत्सव का आयोजन किया था। इसके साथ ही फैजाबाद का नाम बदलकर अयोध्या किया गया था। अयोध्या में भगवान राम की बड़ी प्रतिमा लगाने को भी मंजूरी दी जा चुकी है।

लेकिन संसदीय सीट अभी फैजाबाद के नाम से जानी जाती है। इस लोकसभा सीट से बीजेपी के लल्लू सिंह सांसद हैं। बीजेपी ने एक बार फिर उनको टिकट दिया है। कांग्रेस ने यहां से पूर्व प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष निर्मल खत्री को उतारा है। खत्री 2009 में इस सीट से सांसद रह चुके हैं। वहींए गठबंधन की तरफ से एसपी के आनंदसेन यादव मैदान में हैं। उनके पिता मित्रसेन यादव भी फैजाबाद से सांसद निर्वाचित हुए थे।

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक मई को उत्तर प्रदेश के अयोध्या जा सकते हैं। मई 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद से अभी तक पीएम अयोध्या नहीं गए हैं। ऐसे में उनके अयोध्या दौरे के कार्यक्रम को अलग.अलग नजरिए से देखा जा रहा है। बता दें कि फैजाबाद लोकसभा सीट पर पांचवें चरण के तहत 6 मई को मतदान होना है। प्रधानमंत्री मोदी अम्बेडकरनगर और अयोध्या के बीच गोसाईंगंज के मया बाजार इलाके में 1 मई को चुनावी रैली को संबोधित करेंगे। हालांकि अभी यह साफ नहीं है कि पीएम मोदी का अयोध्या के मंदिरों में भी दर्शन.पूजन का कार्यक्रम है या नहीं। इस बीच आज से पीएम मोदी वाराणसी के दो दिन के दौरे पर हैं। शाम को उनका मेगा रोड शो का कार्यक्रम है। इसके बाद शुक्रवार को पीएम मोदी अपना नामांकन दाखिल करेंगे। बीजेपी ने इसके लिए बड़े पैमाने पर तैयारियां की हैं। खुद अमित शाह वहां डटे हुए हैं। पीएम मोदी के अयोध्या दौरे के कई मायने निकाले जा रहे हैं। माना जा रहा है कि लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण की वोटिंग से पहले पीएम के इस दौरे से बीजेपी को आस.पास की सीटों पर फायदा मिल सकता है। साथ ही इसे 6 मई को मतदान से पहले माहौल अपने पक्ष में करने की जुगत के रूप में भी देखा जा रहा है। 6 मई को फैजाबाद सीट के अलावा धौरहरा, सीतापुर, मोहनलालगंज, लखनऊ, रायबरेली, अमेठी, बांदा, फतेहपुर, कौशाम्बी, बाराबंकी, बहराइच, कैसरगंज और गोंडा लोकसभा सीटों पर भी मतदान है। ऐसे में एसपी,बीएसपी,आरएलडी गठबंधन की चुनौती से जूझ रही बीजेपी को इस रैली से काफी आशाएं हैं। पिछले दो साल के दौरान योगी सरकार ने अयोध्या में कई बड़े आयोजन किए हैं। पिछले साल योगी सरकार ने भव्य दीपोत्सव का आयोजन किया था। इसके साथ ही फैजाबाद का नाम बदलकर अयोध्या किया गया था। अयोध्या में भगवान राम की बड़ी प्रतिमा लगाने को भी मंजूरी दी जा चुकी है। लेकिन संसदीय सीट अभी फैजाबाद के नाम से जानी जाती है। इस लोकसभा सीट से बीजेपी के लल्लू सिंह सांसद हैं। बीजेपी ने एक बार फिर उनको टिकट दिया है। कांग्रेस ने यहां से पूर्व प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष निर्मल खत्री को उतारा है। खत्री 2009 में इस सीट से सांसद रह चुके हैं। वहींए गठबंधन की तरफ से एसपी के आनंदसेन यादव मैदान में हैं। उनके पिता मित्रसेन यादव भी फैजाबाद से सांसद निर्वाचित हुए थे।