50 दिन मेरा साथ दें वैसा देश दूंगा जैसा आप चाहते हैं: पीएम मोदी

नई दिल्ली। विदेश दौरे से भारत लौटे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को गोवा में एक कार्यक्रम के दौरान देश को संबोधित करते हुए कहा कि नोटबंदी को लेकर तरह तरह की बातें हो रहीं हैं। इस आॅपरेशन के लिए गोपनीय तरीके से पिछले 10 महीनों से काम चल रहा था। 125 करोड़ जनता को उन पर विश्वास रखना होगा। केवल 50 दिन उनके साथ खड़े रहें वादा है कि वे वैसा भारत उन्हें देंगे जैसा वे चाहते हैं।




उन्होंने कहा कि कुछ लोगों को बुरा लग रहा है। लोगों को लग रहा था कि मैं कोई राजनीतिक काम कर रहा हूं, लेकिन मैं देश का काम कर रहा था। उन लोगों को बुरा लगना भी चाहिए ही जिन लोगों ने ये बीमारी 70 सालों तक पाली है। मुझे इस 17 महीने में ये बीमारी मिटानी है। जिसके लिए पिछले 10 महीनों से मैं दवाईयां दे रहा था। कुछ फैसलों के लिए लोग मुझे मना करने आए थे, लेकिन मैने उनकी नहीं सुनी। अब लोग समझ गए हैं कि मोदी को समझाया नहीं जा सकता।




प्रधानमंत्री ने कहा कि जो लोग अभी भी खेल कर रहे हैं उन्हें वह छोड़ने वाले नहीं हैं। जरूरत पड़ी तो वह 1 लाख लोगों को सिर्फ इसलिए नौकरियां देंगे, ​जो कालेधन का खेल करने वालों का 1947 से लेकर आजतक का इतिहास खोज लाएंगे।




गरीबों को हो रही परेशानी पर पीएम मोदी ने कहा कि 8 नवंबर के संबोधन में ही ये बात मैने स्वीकार किया था कि लोगों को परेशानी होगी। इसकी तैयारी सरकार बनने के साथ जन—धन योजना के साथ शुरू कर दी थी। जिसके साथ ये सोच थी कि गरीब आदमी का पैर बैंक तक पहुंचे। गरीबों के लिए अब बैंक नई जगह नहीं रही है। पहले उन्हें बैंक के नाम से डर लगता था।