महोबा में पीएम मोदी की रैली कल, बुन्देलखंड से मिलेगी ये बड़ी सौगात

महोबा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 24 अक्टूबर, सोमवार को बुंदेलखंड के महोबा में एक विशाल जनसभा को संबोधित करने आ रहे है। पीएम मोदी के इस कार्यक्रम को लेकर तैयारियां अंतिम चरण में है। सुरक्षा के मद्देनजर महोबा को हाई अलर्ट घोषित कर दिया है। बीजेपी के बड़े नेता रैली स्थल की तैयारियों में नजर बनाये हुए है। वहीँ प्रशासनिक अमला भी सुरक्षा की दृष्टि ने रैली स्थल का जायजा कर रहा है। पीएम बनने के बाद यह नरेन्द्र मोदी का पहला महोबा दौरा है। लोकसभा चुनावों के दौरान महोबा में उन्होंने किसानों की सिंचाई की परेशानी को दूर करने का वादा किया था। यही वजह है कि पीएम नरेन्द्र मोदी प्रधानमंत्री सिंचाई योजना की शुरूआत करने के लिए महोबा पहुंच रहे हैं। इसके अलावा बुन्देलियों को पीएम मोदी के पिटारे से बड़ी सौगात की उम्मीदें हैं।




जैसा की सभी जानते हैं कि दशकों से बदहाल और सूखे की मार के चलते सुर्ख़ियों में रहे बुन्देलखंड को अब तक सभी राजनैतिक दल मुद्दा बनाते रहे है। सूखे से पनपी पेयजल के बाद केन्द्र सरकार द्वारा भेजी गई वॉटर ट्रेन आने के समय भी महोबा सुर्ख़ियों में रहा। जिसके बाद से मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कई बार महोबा का दौरा किया लेकिन अब मिशन 2017 को फतह करने के लिए बुन्देलखंड को हाथों हाथ लेती नजर आ रही है। यही वजह बीजेपी 2017 के चुनाव को देखते हुए बुंदेलखंड से चुनावी आगाज करने जा रही है।

आपको बताते चले कि प्रधानमंत्री बनने से पहले नरेंद्र मोदी चुनाव के समय महोबा आये थे और उन्होंने बुन्देली किसानों के दर्द को नजदीक से महसूस किया था और यहाँ के किसानों से कई वादे किये थे। एकबार फिर 24 अक्टूबर को देश के पीएम नरेंद्र मोदी वीर आल्हा उदल की धरती पर एक विशाल जनसभा को संबोधित करने के लिए आ रहे है। 2017 के लिहाज से ये लिहाज से पीएम मोदी की यह रैली बेहद अहम है। पिछले कई वर्षों से बुंदेलखंड खासकर महोबा में जीत के लिए तरस रही बीजेपी को पीएम मोदी की इस रैली से संजीवनी मिल सकती है।




महोबा के पुलिस लाइन के पास बने 8 लाख वर्गफिट के मैदान में रैली स्थल बनाया गया है। बीजेपी के नताओं ने रैली में तीन लाख लोगों के जुटने की उम्मीद जताई जा रही है। पीएम मोदी की रैली को सफल बनाने के लिए बीजेपी नेता दिन रात लगे हुए है। पूर्व सांसद गंगा चरण राजपूत बताते है कि बुंदेलखंड में पेयजल की समस्या है। चार साल से दैवीय आपदाएं है। लोग पलायन कर रहे है। पीएम यहाँ सिचाई परियोजना का शिलान्यास करेंगे।

पूर्व सांसद का कहना है कि रैली में भीड़ ऐतिहासिक होगी और महोबा में समाएगी नहीं। किसानों के लिए ही पीएम मोदी आ रहे है। बुंदेलखंड के हर क्षेत्र को पीएम पानी देने की योजना बनाये हुए है। 24 अक्टूबर की रैली में पीएम के पिटारे से बहुत कुछ बुंदेलखंड को मिल सकता है। सिंचाई के लिए करीब 80 हजार करोड़ रुपये की परियोजना है जिससे सिंचाई की समस्या दूर की जायेगी।

बीजेपी को पूरी उम्मीद है कि पीएम की रैली के बाद बुन्देलखंड में बीजेपी को मजबूत पकड़ बनाने का मौका मिलेगा। रैली स्थल से पीएम द्वारा की जाने वाली घोषणाओं से बेन्देलखंड की जनता ​का विश्वास बीजेपी में बढ़ेगा। यह पहला मौका होगा जब देश का कोई प्रधानमंत्री महोबा की धरती पर आ रहा है। इससे पार्टी के साथ—साथ बुन्देलखंड के लोगों में भी उत्साह देखने को मिल रहा है। बुन्देलियों को उम्मीद है कि पीएम के दौरे के बाद युवाओं के सामने रोजगार के लिए पलायन की समस्या का हल उन्हें मिलेगा।




सुरक्षा के कड़े इंतजामात

सुरक्षा को लेकर भी कड़े इंतेजाम किये गए है। डीआईजी बाँदा मंडल ज्ञानेश्वर तिवारी ने बताया कि ख़ुफ़िया तंत्र को भी सतर्कता बरतने के लिए कह दिया गया है। साथ ही अपर महानिदेशक सीबीसीआईडी के निर्देशन में आठ आईपीएस और आठ अपर पुलिस अधीक्षक रैली की सुरक्षा ब्यवस्थाओ का जिम्मा संभालेंगे। पुलिस उपाधीक्षक स्तर के 42 अधिकारी तैनात किये जायेंगे। इन्स्पेक्टर रेंक के 74 पुलिस अफसर, 550 उप निरीक्षक,800 प्रधान आरक्षी तथा 1750 पुलिस जवानो को रैली में सुरक्षा के लिए तैनात किया गया है।




इन व्यवस्थाओं के अतिरिक्त स्पेशल कमांडो और सीआरपीएफ़ की दस कंपनीयां तथा पीएसी की छह कंपनी भी रैली में तैनात होंगी। सादा वर्दी में खुफिया जवान भीड़ के बीच एक—एक व्यक्ति की हर एक गतिविधि पर नजर रखेंगे।