1. हिन्दी समाचार
  2. PM मोदी का बड़ा ऐलान- अब डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम से जाना जाएगा कोलकाता पोर्ट

PM मोदी का बड़ा ऐलान- अब डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम से जाना जाएगा कोलकाता पोर्ट

By रवि तिवारी 
Updated Date

Pm Modis Big Announcement Kolkata Port Will Now Be Known As Dr Shyama Prasad Mukherjee

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट के 150 साल पूरे होने पर आयोजित कार्यक्रम में शिरकत की। कार्यक्रम में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कोलकाता पोर्ट का नाम बदलकर डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी के ऊपर करने की घोषणा की। मोदी ने कोलकाता पोर्ट के विस्तार और आधुनिकीकरण के लिए आज सैकड़ों करोड़ रुपए के इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स का लोकार्पण और शिलान्यास भी किया गया है। आदिवासी बेटियों की शिक्षा और कौशल विकास के लिए हॉस्टल और स्किल डेवलपमेंट सेंटर का शिलान्यास हुआ है।

पढ़ें :- ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र 110 प्रतिशत की क्षमता के साथ कर रहे हैं काम : पीयूष गोयल

पीएम ने बताया कोलकाता पोर्ट का महत्व

कोलकाता पोर्ट के महत्व के बारे में बोलते हुए पीएम ने कहा, ‘इस पोर्ट ने भारत को विदेशी राज से स्वराज पाते देखा है। सत्याग्रह से लेकर स्वच्छाग्रह तक इस पोर्ट ने देश को बदलते हुए देखा है। ये पोर्ट सिर्फ मालवाहकों का ही स्थान नहीं रहा, बल्कि देश और दुनिया पर छाप छोड़ने वाले ज्ञानवाहकों के चरण भी यहां पड़े हैं। एक प्रकार से कोलकाता का ये पोर्ट भारत की औद्योगिक, आध्यात्मिक और आत्मनिर्भरता की आकांक्षा का प्रतीक है। ऐसे में जब ये पोर्ट डेढ़ सौवें साल में प्रवेश कर रहा है, तब इसको न्यू इंडिया के निर्माण का भी एक प्रतीक बनाना आवश्यक है।’

पीएम ने श्यामा प्रसाद मुखर्जी के योगदान को याद किया

पीएम ने कहा, ‘पश्चिम बंगाल की, देश की इसी भावना को नमन करते हुए मैं कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट का नाम, भारत के औद्योगीकरण के प्रणेता, बंगाल के विकास का सपना लेकर जीने वाले और एक देश, एक विधान के लिए बलिदान देने वाले डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम पर करने की घोषणा करता हूं। बंगाल के सपूत, डॉक्टर मुखर्जी ने देश में औद्योगीकरण की नींव रखी थी। चितरंजन लोकोमोटिव फैक्ट्री, हिन्दुस्तान एयरक्राफ्ट फैक्ट्री, सिंदरी फर्टिलाइज़र कारखाना और दामोदर वैली कॉर्पोरेशन, ऐसे अनेक बड़ी परियोजनाओं के विकास में डॉक्टर मुखर्जी का बहुत योगदान रहा है।’

बंगाल सरकार पर PM ने कसा तंज, कहा- ईश्वर सद्बुद्धि दें

इस कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का नाम लिए बिना उनपर और उनकी सरकार पर जोरदार वार किया। उन्होंने अपने भाषण में कट मनी और चिट फंड का जिक्र किया और सरकार पर तंज कसते हुए कहा, ‘मेरे दिल में हमेशा दर्द रहेगा और मैं चाहूंगा, ईश्वर से प्रार्थना करूंगा की बंगाल के नीति निर्धारकों को सद्बुद्धि दें। गरीबों की मदद के लिए आयुष्मान योजना और किसानों की जिंदगी में पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ मेरे बंगाल के गरीबों और किसानों को मिले।’

पढ़ें :- यूपी: 24 घटे में मिले कोरोना संक्रमित 27357 केस, लखनऊ में 5913 लोगों की रिपोर्ट आई पॉजिटिव

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...