पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों पर पीएम मोदी आज करेंगे मंथन

prime minister of india
पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों पर पीएम मोदी आज करेंगे मंथन

नई दिल्ली। देश में लगातार बढ़ रही पेट्रोल डीलज की कीमतों से आम जनता परेशान है। इसकों लेकर लगातार हो रहे विरोध ने अब सरकार को भी कटघरे में खड़ा कर दिया है। इसी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को तेल एवं गैस क्षेत्र की वैश्विक और भारतीय कंपनियों के मुख्य कार्यपालक अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। इस बैठक में लगातार बढ़ रही तेल की कीमतों पर रोंक लगाने को लेकर मंथन किया जाएगा।

Pm Modis Meeting With Oil Company Over Petrol Deisel Price :

इसी के साथ ईरान पर अमेरिकी प्रतिबंधों तथा कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी की वजह से वृद्धि पर पड़ने वाले प्रभावों पर भी चर्चा होगी। पीएम मोदी बैठक के दौरान उभरते ऊर्जा परिदृश्य पर विचार विमर्श करेंगे। विभाग के अधिकारियों का कहना है कि तीसरी सालाना बैठक में तेल एवं गैस खोज तथा उत्पादन क्षेत्र में निवेश आकर्षित करने पर भी चर्चा होगी।

मोदी की इस बारे में पहली बैठक 5 जनवरी, 2016 को हुई थी जिसमें प्राकृतिक गैस कीमतों में सुधार के सुझाव दिए गए थे। इसके एक साल से कुछ अधिक समय बाद सरकार ने गहरे समुद्र जैसे कठिन क्षेत्रों जहां अभी उत्पादन शुरू नहीं हुआ है, के लिए प्राकृतिक गैस के लिए ऊंचे मूल्य की अनुमति दी गई थी।

सूत्रों ने बताया कि सऊदी अरब के पेट्रोलियम मंत्री खालिद ए अल फलीह, बीपी के सीईओ बॉब डुडले, टोटल के प्रमुख पैट्रिक फॉयेन, रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी और वेदांता के प्रमुख अनिल अग्रवाल भी इस अहम बैठक में शामिल हो सकते है। इनके अलावा बैठक में ओएनजीसी के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक शशि शंकर, आईओसी के चेयरमैन संजीव सिंह, गेल इंडिया के प्रमुख बी सी त्रिपाठी, हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन के चेयरमैन मुकेश कुमार शरण, आयल इंडिया के चेयरमैन उत्पल बोरा और भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन के चेयरमैन डी राजकुमार भी भाग लेंगे।

नई दिल्ली। देश में लगातार बढ़ रही पेट्रोल डीलज की कीमतों से आम जनता परेशान है। इसकों लेकर लगातार हो रहे विरोध ने अब सरकार को भी कटघरे में खड़ा कर दिया है। इसी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को तेल एवं गैस क्षेत्र की वैश्विक और भारतीय कंपनियों के मुख्य कार्यपालक अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। इस बैठक में लगातार बढ़ रही तेल की कीमतों पर रोंक लगाने को लेकर मंथन किया जाएगा।इसी के साथ ईरान पर अमेरिकी प्रतिबंधों तथा कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी की वजह से वृद्धि पर पड़ने वाले प्रभावों पर भी चर्चा होगी। पीएम मोदी बैठक के दौरान उभरते ऊर्जा परिदृश्य पर विचार विमर्श करेंगे। विभाग के अधिकारियों का कहना है कि तीसरी सालाना बैठक में तेल एवं गैस खोज तथा उत्पादन क्षेत्र में निवेश आकर्षित करने पर भी चर्चा होगी।मोदी की इस बारे में पहली बैठक 5 जनवरी, 2016 को हुई थी जिसमें प्राकृतिक गैस कीमतों में सुधार के सुझाव दिए गए थे। इसके एक साल से कुछ अधिक समय बाद सरकार ने गहरे समुद्र जैसे कठिन क्षेत्रों जहां अभी उत्पादन शुरू नहीं हुआ है, के लिए प्राकृतिक गैस के लिए ऊंचे मूल्य की अनुमति दी गई थी।सूत्रों ने बताया कि सऊदी अरब के पेट्रोलियम मंत्री खालिद ए अल फलीह, बीपी के सीईओ बॉब डुडले, टोटल के प्रमुख पैट्रिक फॉयेन, रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी और वेदांता के प्रमुख अनिल अग्रवाल भी इस अहम बैठक में शामिल हो सकते है। इनके अलावा बैठक में ओएनजीसी के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक शशि शंकर, आईओसी के चेयरमैन संजीव सिंह, गेल इंडिया के प्रमुख बी सी त्रिपाठी, हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन के चेयरमैन मुकेश कुमार शरण, आयल इंडिया के चेयरमैन उत्पल बोरा और भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन के चेयरमैन डी राजकुमार भी भाग लेंगे।