वाराणसी पहुंचे पीएम मोदी और फ्रांस के राष्ट्रपति, गंगा की सैर के बाद किया सोलर प्लांट का उद्घाटन

वाराणसी ,सोलर प्लांट का उद्घाटन
वाराणसी पहुंचे पीएम मोदी और फ्रांस के राष्ट्रपति, गंगा की सैर के बाद किया सोलर प्लांट का उद्घाटन

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंचे। यहां पीएम मोदी के साथ फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने सोलर पावर प्लांट का उद्घाटन करने के साथ ही वाराणसी में गंगा की लहरों की सवारी की। इस दौरान उनके साथ राज्यपाल राम नाईक और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहे। फ्रांस के सहयोग से बना यह 100 मेगावाट का सोलर प्लांट दोनों देशों के बीच गहरी होती दोस्ती का बेहतरीन उदाहरण है। यह प्लांट के बनने में करीब 650 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं।

इस सोलर प्लांट से एक लाख घरों की बिजली जरूरतों को पूरा किया जाएगा। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों के साथ आज सुबह वाराणसी पहुंचे। एयरपोर्ट पर यूपी के राज्यपाल राम नाईक के अलावा सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने उनका स्वागत किया। दादरकला में 382 एकड़ में स्थापित सोलर प्लांट ने उद्घाटन के बाद काम शुरु कर दिया। इस सोलर पावर प्लांट से बिजली उत्‍पादन को जिगना पावर हाउस के ग्रिड से जोड़ा गया है।

{ यह भी पढ़ें:- मुंडका-बहादुरगढ़ के बीच मेट्रो सेवा शुरू, पीएम नरेंद्र मोदी ने किया उद्घाटन }

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों वाराणसी के मशहूर अस्सी और दश्वाश्वमेध घाट पर भी जाएंगे। यहां दोनों का शानदार स्वागत किया जाएगा। इसकी तैयारियां भी पूरी कर ली गई हैं। घाट पर मैक्रों के स्वागत के लिए फूलों से सजे बोर्ड टांगे गए हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र में 6 घंटे रहेंगे। इस दौरान वह कई अन्‍य कार्यक्रमों में भी शिरकत करेंगे। अपराह्न में वह मंडुवाडीह रेलवे स्टेशन पहुंचेंगे। वह यहां से पटना जाने वाली नई ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे।

{ यह भी पढ़ें:- पीएम के संसदीय क्षेत्र में बदमाशों ने डॉक्टर से मांगी 30 लाख की रंगदारी }

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंचे। यहां पीएम मोदी के साथ फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने सोलर पावर प्लांट का उद्घाटन करने के साथ ही वाराणसी में गंगा की लहरों की सवारी की। इस दौरान उनके साथ राज्यपाल राम नाईक और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहे। फ्रांस के सहयोग से बना यह 100 मेगावाट का सोलर प्लांट दोनों देशों के बीच गहरी होती दोस्ती का बेहतरीन उदाहरण है। यह प्लांट के बनने में…
Loading...