G-20: शी जिनपिंग से मिले PM मोदी, बोले-दोनों देशों के संबंध और बेहतर होंगे

G-20: शी जिनपिंग से मिले PM मोदी, बोले-दोनों देशों के संबंध और बेहतर होंगे
G-20: शी जिनपिंग से मिले PM मोदी, बोले-दोनों देशों के संबंध और बेहतर होंगे

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को जी-20 शिखर सम्मेलन से अलग चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मुलाकात की। दोनों पड़ोसी देशों के बीच द्विपक्षीय संबंध मजबूत करने के तरीकों पर चर्चा की। मोदी और शी अप्रैल में चीनी शहर वुहान में हुई अपनी अनौपचारिक बैठक के बाद दो बार मिल चुके हैं।

Pm Narendra Modi And President Xi Jinping Meet On G20 Summit Sidelines :

पीएम मोदी ने कहा कि हमें संयुक्त राष्ट्र और अन्य संगठनों में विकासशील देशों के हितों को ध्यान में रखते हुए एक स्वर में बात करने की जरूरत है। यही वजह है कि हम ब्रिक्स के लिए साथ आएं हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्रपति जिनपिंग ने कहा कि वह अगले साल एक अनौपचारिक बैठक में उनकी मेजबानी करने की आशा करते हैं। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘आज की बैठक हमारे संबंधों को मजबूत करने के संदर्भ में एक दिशा प्रदान करने में अहम होगी।’’

पीएम मोदी ने कहा, ‘‘इस तरह की पहल गति को बनाए रखने में मददगार है।’’ उन्होंने कहा कि चिंगदाओ और जोहान्सबर्ग में दो समीक्षा बैठकें हुई थी। मोदी ने कहा, ‘‘इस मुलाकात के लिए वक्त निकालने को लेकर मैं आपको (राष्ट्रपति शी को) अपनी हार्दिक बधाई देता हूं। इस मुलाकात के बाद प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने ट्वीट किया कि दोनों नेताओं के बीच सार्थक चर्चा हुई।

सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस से भी मिले PM मोदी

इससे पहले पीएम मोदी ने सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान से मुलाकात की। सऊदी के आधिकारिक मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक दोनों नेता जी-20 शिखर सम्मेलन से इतर अर्जेंटीना की राजधानी ब्यूनस आयर्स में सलमान के आवास पर मिले।

सऊदी प्रेस एजेंसी ने बताया कि इस मुलाकात के दौरान, राजनीतिक, सुरक्षा, आर्थिक, निवेश, कृषि, ऊर्जा, संस्कृति और प्रौद्योगिकी सहित विभिन्न द्विपक्षीय मुद्दों पर चर्चा की गई।

निवेश के क्षेत्र में को लेकर दोनों नेताओं ने बुनियादी ढांचा सेक्टर में सार्वजनिक निवेश के जरिये इन्वेस्टमेंट फंड पर चर्चा की। साथ ही इस विषय पर भी चर्चा हुई कि कृषि उत्पादों को लेकर अवसरों को कैसे भुनाया जाए। ऊर्जा के क्षेत्र में पीएम मोदी और सलमान के बीच हुई चर्चा के दौरान सऊदी अरब ने भारत को तेल और पेट्रोलियम पदार्थों की सप्लाई का प्रस्ताव रखा।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को जी-20 शिखर सम्मेलन से अलग चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मुलाकात की। दोनों पड़ोसी देशों के बीच द्विपक्षीय संबंध मजबूत करने के तरीकों पर चर्चा की। मोदी और शी अप्रैल में चीनी शहर वुहान में हुई अपनी अनौपचारिक बैठक के बाद दो बार मिल चुके हैं।पीएम मोदी ने कहा कि हमें संयुक्त राष्ट्र और अन्य संगठनों में विकासशील देशों के हितों को ध्यान में रखते हुए एक स्वर में बात करने की जरूरत है। यही वजह है कि हम ब्रिक्स के लिए साथ आएं हैं।प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्रपति जिनपिंग ने कहा कि वह अगले साल एक अनौपचारिक बैठक में उनकी मेजबानी करने की आशा करते हैं। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘आज की बैठक हमारे संबंधों को मजबूत करने के संदर्भ में एक दिशा प्रदान करने में अहम होगी।’’पीएम मोदी ने कहा, ‘‘इस तरह की पहल गति को बनाए रखने में मददगार है।’’ उन्होंने कहा कि चिंगदाओ और जोहान्सबर्ग में दो समीक्षा बैठकें हुई थी। मोदी ने कहा, ‘‘इस मुलाकात के लिए वक्त निकालने को लेकर मैं आपको (राष्ट्रपति शी को) अपनी हार्दिक बधाई देता हूं। इस मुलाकात के बाद प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने ट्वीट किया कि दोनों नेताओं के बीच सार्थक चर्चा हुई।

सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस से भी मिले PM मोदी

इससे पहले पीएम मोदी ने सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान से मुलाकात की। सऊदी के आधिकारिक मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक दोनों नेता जी-20 शिखर सम्मेलन से इतर अर्जेंटीना की राजधानी ब्यूनस आयर्स में सलमान के आवास पर मिले।सऊदी प्रेस एजेंसी ने बताया कि इस मुलाकात के दौरान, राजनीतिक, सुरक्षा, आर्थिक, निवेश, कृषि, ऊर्जा, संस्कृति और प्रौद्योगिकी सहित विभिन्न द्विपक्षीय मुद्दों पर चर्चा की गई।निवेश के क्षेत्र में को लेकर दोनों नेताओं ने बुनियादी ढांचा सेक्टर में सार्वजनिक निवेश के जरिये इन्वेस्टमेंट फंड पर चर्चा की। साथ ही इस विषय पर भी चर्चा हुई कि कृषि उत्पादों को लेकर अवसरों को कैसे भुनाया जाए। ऊर्जा के क्षेत्र में पीएम मोदी और सलमान के बीच हुई चर्चा के दौरान सऊदी अरब ने भारत को तेल और पेट्रोलियम पदार्थों की सप्लाई का प्रस्ताव रखा।