मूर्ति तोड़ पॉलिटिक्स से PM मोदी नाराज, सख्त एक्शन के निर्देश

मूर्ति तोड़ पॉलिटिक्स से नाराज मोदी, सख्त एक्शन के निर्देश
मूर्ति तोड़ पॉलिटिक्स से नाराज मोदी, सख्त एक्शन के निर्देश

Pm Narendra Modi Has Strongly Disapproved Incidents Vandalism Home Ministry

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के कुछ हिस्सों में मूर्ति तोड़ने की घटनाओं पर सख्त नाराजगी जाहिर की है। त्रिपुरा में बीजेपी की ऐतिहासिक जीत के बाद बेलोनिया टाउन में कॉलेज स्क्वेयर स्थित रूसी क्रांति के नायक व्लादिमीर लेनिन की मूर्ति तोड़ दी गई थी। इसके बाद मंगलवार रात तमिलनाडु में पेरियार और फिर कोलकाता में श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति को नुकसान पहुंचाया गया था। मोदी की इस नाराजगी को त्रिपुरा की जीत के बाद बीजेपी कार्यकर्ताओं को अतिउत्साह में न आने का एक संदेश भी माना जा रहा है।

बयान के मुताबिक, मोदी ने इस संबंध में गृह मंत्री राजनाथ सिंह से बात की और प्रतिमाओं को ढहाए जाने के कृत्यों में शामिल लोगों के प्रति सख्त कदम उठाने को कहा। गौरतलब है कि त्रिपुरा में लेनिन की प्रतिमा ढहाए जाने के बाद मंगलवार रात को तमिलनाडु के वेल्लोर में द्रविड़ आंदोलन के संस्थापक और समाज सुधारक ई.वी.आर.रामासामी (पेरियार) की प्रतिमा नष्ट कर दी गई थी।

मोदी ने एक बयान में कहा कि उन्होंने इन प्रतिमाओं को ढहाए जाने के संबंध में राजनाथ सिंह से बात की। बयान के मुताबिक, “केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इन घटनाओं पर सख्त कदम उठाया है। मंत्रालय ने राज्यों से कहा है कि वे इस तरह की घटनाओं पर रोक लगाने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाएं। इस तरह के कृत्यों में शामिल लोगों से सख्ती से निपटा जाना चाहिए और उन पर संबद्ध कानून के तहत मामला दर्ज किया जाना चाहिए।”

कौन हैं श्यामा प्रसाद मुखर्जी
जनसंघ के संस्थापक डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने देश के पहले प्रधानमंत्री नेहरू और पाकिस्तान के पीएम लियाकत अली के बीच हुए समझौते से नाराज होकर 6 अप्रैल 1950 को उन्होंने मंत्रिमंडल से त्यागपत्र दे दिया था। इसके बाद उन्होंने 21 अक्टूबर 1951 को राष्ट्रीय जनसंघ की स्थापना की। 1951-52 के आम चुनावों में राष्ट्रीय जनसंघ के 3 सांसद चुने गए जिनमें एक डॉ. मुखर्जी भी थे। इसके बाद उन्होंने संसद के अन्दर 32 लोकसभा और 10 राज्यसभा सांसदों के सहयोग से नैशनल डेमोक्रैटिक पार्टी का गठन किया। बता दें कि बीजेपी जनसंघ की उत्तराधिकारी है जिसका 1977 में जनता पार्टी में विलय हो गया था।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के कुछ हिस्सों में मूर्ति तोड़ने की घटनाओं पर सख्त नाराजगी जाहिर की है। त्रिपुरा में बीजेपी की ऐतिहासिक जीत के बाद बेलोनिया टाउन में कॉलेज स्क्वेयर स्थित रूसी क्रांति के नायक व्लादिमीर लेनिन की मूर्ति तोड़ दी गई थी। इसके बाद मंगलवार रात तमिलनाडु में पेरियार और फिर कोलकाता में श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति को नुकसान पहुंचाया गया था। मोदी की इस नाराजगी को त्रिपुरा की जीत के बाद बीजेपी कार्यकर्ताओं…