मोदी ने भाषण में किया इस दुर्लभ फूल का जिक्र, 12 साल में एक बार खिलता

मोदी ने भाषण में किया इस दुर्लभ फूल का जिक्र, 12 साल में एक बार खिलता
मोदी ने भाषण में किया इस दुर्लभ फूल का जिक्र, 12 साल में एक बार खिलता

Pm Narendra Modi Independence Day Speech Mention Special Flower Neelakurinji Kerala Munnar

नई दिल्ली। 15 अगस्त के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जो भाषण दिया, वह कई मायनों में अहम है। ये भाषण काफी अहम है, क्‍योंकि यह प्रधानमंत्री के तौर पर उनके कार्यकाल का अंतिम भाषण है। भाषण के दौरान उन्‍होंने नीलगिरी की पहाड़ियों में खिलने वाले खूबसूरत नीले रंग के नीलाकुरिन्जी फूल का जिक्र किया। प्रकृति प्रेमियों के साथ ही ट्रैवलिंग के शौकीन लोगों के लिए भी यह नजारा देखने लायक होगा।

पीएम मोदी ने इस बार अपने भाषण की शुरुआत नीलगिरी की पहाड़ियों में खिलने वाले खूबसूरत नीलकुरिंजी फूल से की। पीएम ने कहा कि देश आज नई ऊंचाईयों को पार कर रहा है। आज का सूर्योदय नए उत्साह को लेकर आया है। हमारे देश में 12 साल में एक बार नीलकुरिंजी का पुष्प उगता है, इस साल यह पुष्प तिरंगे के अशोक चक्र की तरह खिल रहा है। 12 साल के लंबे इंतजार के बाद इस साल यह फूल खिला है। दरअसल यह फूल केरल के इडुक्की जिले के मुन्नार में देखने को मिलता है। खूबसूरत हिल स्टेशन मुन्नार जायकेदार चाय के बागानों के लिए भी जाना जाता है।

आपको बता दें कि किसी भी मौसम में घूमने का प्लान हो तो भारत में केरल सबसे अच्छी जगह है। यह नारियल, बेकवॉटर, संस्कृति और परंपराओं का गढ़ माना जाता है। केरल धरती पर सबसे खूबसूरत जगहों में से एक है जो ‘Gods Own Country’ के नाम से भी फेमस है। फैमिली हॉलीडे हो या हनीमून के लिए जाना हो केरल दुनिया में सबसे अच्छी जगहों में से एक है। हालांकि इस बार केरल जाने की एक खास वजह हो सकती है।

भारत को आज़ाद हुए 71 साल पूरे हो गए हैं और तब से लेकर अभी तक यह फूल सिर्फ 6 बार ही खिला है। अगली बार यह फूल 2030 में खिलेगा। इस बार मुन्‍नार में यूरोप और यूएस से करीब 10 लाख पर्यटक आने की उम्मीद जताई जा रही है। वैसे मुन्नार के अलावा कर्नाटक के वेस्टर्न घाट और तमिलनाडु के नीलगिरी पर्वत पर भी हर 12 साल में नीलकुरंजी के फूल खिलते हैं।

नई दिल्ली। 15 अगस्त के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जो भाषण दिया, वह कई मायनों में अहम है। ये भाषण काफी अहम है, क्‍योंकि यह प्रधानमंत्री के तौर पर उनके कार्यकाल का अंतिम भाषण है। भाषण के दौरान उन्‍होंने नीलगिरी की पहाड़ियों में खिलने वाले खूबसूरत नीले रंग के नीलाकुरिन्जी फूल का जिक्र किया। प्रकृति प्रेमियों के साथ ही ट्रैवलिंग के शौकीन लोगों के लिए भी यह नजारा देखने लायक होगा। पीएम मोदी ने इस बार अपने भाषण…