गरुड़चट्टी की गुफा से ध्यान साधना करके निकले पीएम मोदी

b

केदारनाथ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बाबा केदारनाथ के दर्शन करने के बाद रविवार को बद्रीनाथ धाम पहुंच गए हैं। वह मंदिर में भगवान के दर्शन और पूजा के लिए चले गए हैं। पीएम मोदी आज सुबह ही केदारघाटी में स्थित गरुड़चट्टी की गुफा से ध्यान साधना करके निकले। उन्होंने इस गुफा में पूरी रात प्रवास किया। इसके बाद उन्होंने केदारनाथ मंदिर में जाकर पूजा अर्चना की।

Pm Narendra Modi Offers Prayer In Kedarnath And Badrinath Today :

पीएम मोदी ने पूजा के बाद मीडिया से बात की। उन्होंने इस यात्रा के संबंध में चुनाव आयोग का आभार जताया। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग का आभार कि मैं 2 दिन आराम कर पाया। वह शनिवार को केदारनाथ पहुंचे थे। वह बाबा केदारनाथ के दर्शन करने के बाद गुफा में ध्यान साधना करने गए थे।

रात भर पीएम मोदी ने ध्यान साधना की। पीएम मोदी की केदारनाथ और बद्रीनाथ धाम की यात्रा को लेकर तृणमूल कांग्रेस ने चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज कराई है। टीएमसी का कहना है कि चुनाव के समय पीएम की यह यात्रा आचाह संहिता का उल्लंघन है।

पीएम मोदी ने कहा कि मैं भगवान से कभी कुछ नहीं मांगता। मैं मांगने की प्रवृत्ति से सहमत नहीं हूं। मेरा सौभाग्य रहा है कि आध्यात्मिक चेतना की भूमि पर जाने का मुझे कई वर्षों से अवसर मिलता रहा है। यहां का मेरा जो डेवलपमेंट मिशन है उसमें प्रकृति, पर्यावरण और पर्यटन हैं। पीएम मोदी ने कहा कि कल से मैं यहां हूं एकांत का अवसर बहुत लंबे अरसे के बाद मिला। भगवान के चरणों में आता हूं लेकिन कुछ नहीं मांगता हूं।

भगवान ने मांगने नहीं देने योग्य बनाया है। समाज और अध्यात्म देवता का मिलन है। मेरे देश में भी बहुत कुछ देखने योग्य है। यह गुफा केदारनाथ मंदिर से लगभग दो किलोमीटर दूर मंदाकिनी नदी के दूसरी तरफ मौजूद है। पहाड़ी शैली में बनी इस गुफा में सभी मूलभूत सुविधाएं मुहैया कराई गई हैं।

पीएम मोदी ने शनिवार को केदारनाथ मंदिर में पूजा अर्चना की थी। उन्होंने मंदिर के बाहर मौजूद तीर्थयात्रियों का अभिवादन भी स्वीकार किया था। इसके बाद उन्होंने केदारनाथ धाम में चल रहे पुनर्निर्माण कार्यों का जायजा लिया था। उत्तराखंड के चीफ सेक्रेटरी उत्पल कुमार ने भी केदारनाथ पहुंचकर उन्हें इस बाबत पूरी जानकारी उपलब्ध कराई थी।

केदारनाथ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बाबा केदारनाथ के दर्शन करने के बाद रविवार को बद्रीनाथ धाम पहुंच गए हैं। वह मंदिर में भगवान के दर्शन और पूजा के लिए चले गए हैं। पीएम मोदी आज सुबह ही केदारघाटी में स्थित गरुड़चट्टी की गुफा से ध्यान साधना करके निकले। उन्होंने इस गुफा में पूरी रात प्रवास किया। इसके बाद उन्होंने केदारनाथ मंदिर में जाकर पूजा अर्चना की। पीएम मोदी ने पूजा के बाद मीडिया से बात की। उन्होंने इस यात्रा के संबंध में चुनाव आयोग का आभार जताया। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग का आभार कि मैं 2 दिन आराम कर पाया। वह शनिवार को केदारनाथ पहुंचे थे। वह बाबा केदारनाथ के दर्शन करने के बाद गुफा में ध्यान साधना करने गए थे। रात भर पीएम मोदी ने ध्यान साधना की। पीएम मोदी की केदारनाथ और बद्रीनाथ धाम की यात्रा को लेकर तृणमूल कांग्रेस ने चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज कराई है। टीएमसी का कहना है कि चुनाव के समय पीएम की यह यात्रा आचाह संहिता का उल्लंघन है। पीएम मोदी ने कहा कि मैं भगवान से कभी कुछ नहीं मांगता। मैं मांगने की प्रवृत्ति से सहमत नहीं हूं। मेरा सौभाग्य रहा है कि आध्यात्मिक चेतना की भूमि पर जाने का मुझे कई वर्षों से अवसर मिलता रहा है। यहां का मेरा जो डेवलपमेंट मिशन है उसमें प्रकृति, पर्यावरण और पर्यटन हैं। पीएम मोदी ने कहा कि कल से मैं यहां हूं एकांत का अवसर बहुत लंबे अरसे के बाद मिला। भगवान के चरणों में आता हूं लेकिन कुछ नहीं मांगता हूं। भगवान ने मांगने नहीं देने योग्य बनाया है। समाज और अध्यात्म देवता का मिलन है। मेरे देश में भी बहुत कुछ देखने योग्य है। यह गुफा केदारनाथ मंदिर से लगभग दो किलोमीटर दूर मंदाकिनी नदी के दूसरी तरफ मौजूद है। पहाड़ी शैली में बनी इस गुफा में सभी मूलभूत सुविधाएं मुहैया कराई गई हैं। पीएम मोदी ने शनिवार को केदारनाथ मंदिर में पूजा अर्चना की थी। उन्होंने मंदिर के बाहर मौजूद तीर्थयात्रियों का अभिवादन भी स्वीकार किया था। इसके बाद उन्होंने केदारनाथ धाम में चल रहे पुनर्निर्माण कार्यों का जायजा लिया था। उत्तराखंड के चीफ सेक्रेटरी उत्पल कुमार ने भी केदारनाथ पहुंचकर उन्हें इस बाबत पूरी जानकारी उपलब्ध कराई थी।