गुजरात चुनाव: मोदी ने साधा राहुल व सिब्बल पर निशाना, बोले- इंसानियत पहले चुनाव बाद में


नई दिल्ली।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को यहां एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस समेत कपिल सिब्बल पर जमकर निशाना साधा। मोदी ने कहा कि सिब्बल कोर्ट में मुसलमानों के हक की बात करें, बाबरी मस्जिद पर दलीलें दें, इससे हमें कोई आपत्ति नहीं। लेकिन वो अयोध्या केस को 2019 के लोकसभा चुनाव से कैसे जोड़ सकते हैं?

नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘मुझे इस बात पर कोई आपत्ति नहीं है कि कपिल सिब्बल मुस्लिम समुदाय की तरफ से लड़ रहे हैं पर वह यह कैसे कह सकते हैं कि अगले चुनाव तक अयोध्या मामले का कोई हल नहीं होना चाहिए? इसका संबंध लोकसभा चुनाव से कैसे है?’ पीएम मोदी ने कहा कि आखिर 2019 में चुनाव कांग्रेस लड़ेगी या फिर सुन्नी वक्फ बोर्ड चुनाव लड़ेगा। उन्होंने कहा, ‘यह साफ है कि मैं तीन तलाक के मुद्दे पर चुप नहीं रहूंगा। हर चीज चुनाव के बारे में नहीं होती। यह मुद्दा महिलाओं के अधिकारों का है। चुनाव इंसानियत के बाद आता है।’

{ यह भी पढ़ें:- #CongressPresidentRahulGandhi: राहुल के लिए चुनौतियों की फेहरिस्त है लंबी }


राहुल के मंदिर दर्शन पर भी कसा तंज

राहुल गांधी के मंदिर दर्शन पर तंज करते हुए कहा कि मंदिर जाने से गुजरात में बिजली नहीं आई। साथ ही उन्होंने विपक्ष पर तीखा प्रहार करते हुए तीन तलाक मामले पर कहा कि मैं चुनाव के लिए फैसले नहीं लेता। विधानसभा चुनाव के मद्देनजर गुजरात के 33 जिलों में चुनाव प्रचार की कमान थामे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को अहमदाबाद के धंधुका में थे।

यहां उन्होंने बाबासाहेब अंबेडकर की पुण्यतिथि के मौके पर उन्हें याद किया। इसके बाद पीएम मोदी ने कांग्रेस को लपेटे में लेकर कहा कि एक परिवार के लिए अंबेडकर और सरदार पटेल के साथ नाइंसाफी हुई। नरेंद्र मोदी ने आगे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के सॉफ्ट हिंदुत्व फैक्टर पर धावा बोलते हुए कहा, ‘मंदिर-मंदिर जाने से गुजरात में बिजली नहीं आई। मैं इतने सालों से माला नहीं जप रहा था बल्कि काम कर रहा था।’

{ यह भी पढ़ें:- पीएम मोदी का सवाल- गुजरात चुनाव में पाकिस्तान क्यों कर रहा है हस्तक्षेप ? }

तीन तलाक
पीएम मोदी ने कहा कि जब तीन तलाक का मुद्दा सुप्रीम कोर्ट में था, तब सरकार ने कोर्ट में एफिडेविट दिया था। अखबारों ने लिखा कि मोदी यूपी के चुनाव के चलते कुछ नहीं बोल रहे। लोगों ने मुझसे इस मुद्दे पर नहीं बोलने के लिए कहा कि कहीं चुनाव में हार न मिल जाए। मैं एकदम साफ था कि तीन तलाक के मुद्दे पर खामोश नहीं रहूंगा। हर चीज चुनाव से नहीं जुड़ी होती। ये महिलाओं के हक की बात है। इंसानियत पहले आती है, चुनाव बाद में।

Loading...