डोनाल्ड ट्रंप के धन्यवाद का PM नरेंद्र मोदी ने दिया जवाब, कहा- हम साथ मिलकर जीतेंग

modi trump meet
डोनाल्ड ट्रंप के धन्यवाद का PM नरेंद्र मोदी ने दिया जवाब, कहा- हम साथ मिलकर जीतेंग

नई दिल्ली। वैसे तो कोरोना वायरस का कहर पूरी दुनिया में है लेकिन सबसे ज्यादा प्रभाव अमेरिका मे दिखाई दे रहा है। इसी वजह से अमेरिकी राष्ट्रपति ने हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा भारत से मांगी थी, हालांकि पहले तो भारत ने इसके निर्यात पर रोंक लगा दी थी लेकिन बाद में भारत ने निर्यात की परमीशन दे दी। इसी वजह से अमेरिकी राष्ट्रपति ने भारत के पीएम को धन्यवाद दिया था साथ ही तारीफ भी की थी। ट्रंप की तारीफ पर पीएम नरेंद्र मोदी ने भी जवाब दिया है। पीएम मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति के इस बात से सहमति जताई कि संकट के समय दोस्त नजदीक आ जाते हैं। साथ ही यह भी कहा कि कोविड-19 के खिलाफ जंग में भारत मानवता की सहायता के लिए हर संभव सहयोग करेगा।

Pm Narendra Modi Replied To Donald Trumps Thanks Said We Will Win Together :

पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट में कहा, ‘राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप आपसे पूरी तरह सहमत हूं। ऐसा समय दोस्तों को और नजदीक लाता है। भारत-अमेरिका की दोस्ती पहले के मुकाबले अधिक मजबूत है। कोविड-19 के खिलाफ जंग में भारत मानवता की हर संभव सहायता करेगा। हम साथ मिलकर जीतेंगे।’

गौरतलब है कि कोरोना के मरीजों में प्रभावी असर दिखाने वाली मलेरिया की दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के निर्यात को भारत ने मंजूरी दे दी है। भारत सरकार की इस मंजूरी के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत और पीएम नरेंद्र मोदी की तारीफ की है।

भारत सरकार के फैसले से खुश ट्रंप ने कहा है कि अमेरिका इस मदद को कभी नहीं भुला पाएगा। उन्होंने भारत, भारत के लोगों और पीएम मोदी को इसके लिए धन्यवाद दिया। डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद करना चाहता हूं जिन्होंने हमारे अनुरोध को मंजूरी दी। वह बड़े दिल वाले हैं। हम इस मदद को हमेशा याद रखेंगे।

ट्रंप ने आगे कहा, ‘चुनौतीपूर्ण समय में दोस्तों के बीच करीबी सहयोग की जरूरत होती है। हम हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन पर फैसले के लिए भारत और भारत के लोगों का धन्यवाद करते हैं। हम इसे कभी नहीं भूलेंगे। अमेरिकी राष्ट्रपति ने प्रधानमंत्री मोदी का शुक्रिया करते हुए कहा कि आपके मजबूत नेतृत्व से न सिर्फ भारत को बल्कि इस चुनौती से लड़ रही मानवता को मदद मिलेगी।’

बता दें कि दुनिया में 15 लाख से अधिक लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं और 88 हजार लोगों की जान जा चुकी है। सबसे अधिक 4 लाख 35 हजार लोग अमेरिका में संक्रमित हैं। यहां 14, 795 लोगों की मौत हो चुकी है। न्यूयॉर्क में 1 लाख 51 हजार लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हैं। यहां 6268 लोगों की मौत हो चुकी है।

नई दिल्ली। वैसे तो कोरोना वायरस का कहर पूरी दुनिया में है लेकिन सबसे ज्यादा प्रभाव अमेरिका मे दिखाई दे रहा है। इसी वजह से अमेरिकी राष्ट्रपति ने हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा भारत से मांगी थी, हालांकि पहले तो भारत ने इसके निर्यात पर रोंक लगा दी थी लेकिन बाद में भारत ने निर्यात की परमीशन दे दी। इसी वजह से अमेरिकी राष्ट्रपति ने भारत के पीएम को धन्यवाद दिया था साथ ही तारीफ भी की थी। ट्रंप की तारीफ पर पीएम नरेंद्र मोदी ने भी जवाब दिया है। पीएम मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति के इस बात से सहमति जताई कि संकट के समय दोस्त नजदीक आ जाते हैं। साथ ही यह भी कहा कि कोविड-19 के खिलाफ जंग में भारत मानवता की सहायता के लिए हर संभव सहयोग करेगा। पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट में कहा, 'राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप आपसे पूरी तरह सहमत हूं। ऐसा समय दोस्तों को और नजदीक लाता है। भारत-अमेरिका की दोस्ती पहले के मुकाबले अधिक मजबूत है। कोविड-19 के खिलाफ जंग में भारत मानवता की हर संभव सहायता करेगा। हम साथ मिलकर जीतेंगे।' गौरतलब है कि कोरोना के मरीजों में प्रभावी असर दिखाने वाली मलेरिया की दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के निर्यात को भारत ने मंजूरी दे दी है। भारत सरकार की इस मंजूरी के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत और पीएम नरेंद्र मोदी की तारीफ की है। भारत सरकार के फैसले से खुश ट्रंप ने कहा है कि अमेरिका इस मदद को कभी नहीं भुला पाएगा। उन्होंने भारत, भारत के लोगों और पीएम मोदी को इसके लिए धन्यवाद दिया। डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद करना चाहता हूं जिन्होंने हमारे अनुरोध को मंजूरी दी। वह बड़े दिल वाले हैं। हम इस मदद को हमेशा याद रखेंगे। ट्रंप ने आगे कहा, 'चुनौतीपूर्ण समय में दोस्तों के बीच करीबी सहयोग की जरूरत होती है। हम हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन पर फैसले के लिए भारत और भारत के लोगों का धन्यवाद करते हैं। हम इसे कभी नहीं भूलेंगे। अमेरिकी राष्ट्रपति ने प्रधानमंत्री मोदी का शुक्रिया करते हुए कहा कि आपके मजबूत नेतृत्व से न सिर्फ भारत को बल्कि इस चुनौती से लड़ रही मानवता को मदद मिलेगी।' बता दें कि दुनिया में 15 लाख से अधिक लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं और 88 हजार लोगों की जान जा चुकी है। सबसे अधिक 4 लाख 35 हजार लोग अमेरिका में संक्रमित हैं। यहां 14, 795 लोगों की मौत हो चुकी है। न्यूयॉर्क में 1 लाख 51 हजार लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हैं। यहां 6268 लोगों की मौत हो चुकी है।