पीएम नरेन्द्र मोदी बोले-अनुच्छेद 370 हटाने से जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों में जगी उम्मीद

PM Narendra modi
पीएम नरेन्द्र मोदी बोले-अनुच्छेद 370 हटाने से जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों में जगी उम्मीद

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को दिल्ली में एक समिट में कहा कि अनुच्छेद 370 हटाना राजनीतिक रूप से कठिन लग सकता है लेकिन इस एक फैसले ने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों में विकास की नई उम्मीद जगाई है। पीएम ने ​कहा कि हम देश को वादों की राजनीति की बजाए कामकाज की राजनीति की तरफ ले जा रहे हैं।

Pm Narendra Modi Said Removal Of Article 370 Raised Hopes Among People Of Jammu And Kashmir And Ladakh :

संसद में कई ट्रेनों की घोषणा की गई लेकिन एक भी शुरू नहीं हुई। उन ट्रेनों का कागजों में भी कोई जिक्र नहीं है। उन्होंने कहा कि हम पेज छोड़ने वालों में से नहीं बल्कि नया अध्याय लिखने वालों में से हैं। हम देश के सामर्थ्य, संसाधन और देश के सपनों पर भरोसा करने वाले लोग हैं।

हम पूरी निष्ठा और ईमानदारी के साथ देशवासियों के बेहतर भविष्य के लिए देश में मौजूद हर संसाधन का सदुपयोग करने की कोशिश कर रहे हैं। देश पूरे विश्वास के साथ अपनी अर्थव्यवस्था को पांच ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के लिए जुटा हुआ है। यह लक्ष्य अर्थव्यवस्था के साथ ही 130 करोड़ भारतीयों की औसत आय, इज ऑफ लिविंग और उनके बेहतर कल से जुड़ा है।

पीएम मोदी ने नागरिकता (संशोधन) विधेयक का जिक्र करते हुए कहा कि अपने देशों में उत्पीड़न का शिकार हो रहे लोगों को भारतीय नागरिकता देने से बेहतर कल सुनिश्चित होगा। उन्होंने कहा कि पड़ोसी देशों में उत्पीड़न का शिकार हो रहे लोगों को भारतीय नागरिकता देने से बेहतर कल सुनिश्चित होगा। प्रधानमंत्री मोदी ने समिट में नागरिकता संशोधन विधेयक के संदर्भ में कहा कि पड़ोसी देशों से आए सैकड़ों परिवार जिन्हें भारत में आस्था थी जब इनकी नागरिकता का रास्ता खुलेगा तो उससे उनका बेहतर भविष्य सुनिश्चित होगा।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को दिल्ली में एक समिट में कहा कि अनुच्छेद 370 हटाना राजनीतिक रूप से कठिन लग सकता है लेकिन इस एक फैसले ने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों में विकास की नई उम्मीद जगाई है। पीएम ने ​कहा कि हम देश को वादों की राजनीति की बजाए कामकाज की राजनीति की तरफ ले जा रहे हैं। संसद में कई ट्रेनों की घोषणा की गई लेकिन एक भी शुरू नहीं हुई। उन ट्रेनों का कागजों में भी कोई जिक्र नहीं है। उन्होंने कहा कि हम पेज छोड़ने वालों में से नहीं बल्कि नया अध्याय लिखने वालों में से हैं। हम देश के सामर्थ्य, संसाधन और देश के सपनों पर भरोसा करने वाले लोग हैं। हम पूरी निष्ठा और ईमानदारी के साथ देशवासियों के बेहतर भविष्य के लिए देश में मौजूद हर संसाधन का सदुपयोग करने की कोशिश कर रहे हैं। देश पूरे विश्वास के साथ अपनी अर्थव्यवस्था को पांच ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के लिए जुटा हुआ है। यह लक्ष्य अर्थव्यवस्था के साथ ही 130 करोड़ भारतीयों की औसत आय, इज ऑफ लिविंग और उनके बेहतर कल से जुड़ा है। पीएम मोदी ने नागरिकता (संशोधन) विधेयक का जिक्र करते हुए कहा कि अपने देशों में उत्पीड़न का शिकार हो रहे लोगों को भारतीय नागरिकता देने से बेहतर कल सुनिश्चित होगा। उन्होंने कहा कि पड़ोसी देशों में उत्पीड़न का शिकार हो रहे लोगों को भारतीय नागरिकता देने से बेहतर कल सुनिश्चित होगा। प्रधानमंत्री मोदी ने समिट में नागरिकता संशोधन विधेयक के संदर्भ में कहा कि पड़ोसी देशों से आए सैकड़ों परिवार जिन्हें भारत में आस्था थी जब इनकी नागरिकता का रास्ता खुलेगा तो उससे उनका बेहतर भविष्य सुनिश्चित होगा।