मॉब लिंचिंग पर PM मोदी बोले, पूरे झारखंड का अपमान करना सही नहीं

narendra modi
मॉब लिंचिंग पर PM मोदी बोले, पूरे झारखंड का अपमान करना सही नहीं

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण पर संसद के दोनों सदनों में हुई चर्चा का प्रधानमंत्री ने जवाब दे दिया है। झारखंड में एक मुस्लिम युवक की पीट-पीटकर हत्या का मामला पर बोलते हुए कहा- देश में हिंसा की सारी घटनाओं को समान भाव से देखना चाहिए और कानून को अपना काम करना चाहिए। उन्होंने लिंचिंग को लेकर झारखंड को बदनाम नहीं करने की नसीहत भी दी।

Pm Narendra Modi Talks About Jharkhand Mob Lynching In Parliament :

संसद में राष्ट्रपति के संबोधन के धन्यवाद प्रस्ताव में अपने जवाब में मोदी ने कहा, “झारखंड में लिंचिंग की घटना से मुझे दुख हुआ। इससे दूसरों को भी दुख हुआ। लेकिन राज्यसभा में कुछ लोग झारखंड को लिंचिंग का हब मानते हैं। क्या यह सही है? वे एक राज्य का अपमान क्यों कर रहे हैं? “झारखंड का अपमान करने का अधिकार हम में से किसी को नहीं है।”

मोदी ने कहा कि ऐसी हत्याओं के लिए बिना किसी भेदभाव के देश का एक ही मत होना चाहिए, चाहे वह झारखंड में हो, केरल में हो या पश्चिम बंगाल में हो। उन्होंने कहा, “सिर्फ तभी हम हिंसा पर रोक लगा पाएंगे और हिंसा में शामिल लोगों को सजा मिलेगी।”

मोदी ने यह बयान राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद द्वारा झारखंड के सरायकेला में मॉब लिंचिंग की घटना की निंदा किए जाने के दो दिन बाद दिया है। आजाद ने कहा था कि झारखंड मॉब लिंचिंग की फैक्ट्री बन चुका है।

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण पर संसद के दोनों सदनों में हुई चर्चा का प्रधानमंत्री ने जवाब दे दिया है। झारखंड में एक मुस्लिम युवक की पीट-पीटकर हत्या का मामला पर बोलते हुए कहा- देश में हिंसा की सारी घटनाओं को समान भाव से देखना चाहिए और कानून को अपना काम करना चाहिए। उन्होंने लिंचिंग को लेकर झारखंड को बदनाम नहीं करने की नसीहत भी दी। संसद में राष्ट्रपति के संबोधन के धन्यवाद प्रस्ताव में अपने जवाब में मोदी ने कहा, “झारखंड में लिंचिंग की घटना से मुझे दुख हुआ। इससे दूसरों को भी दुख हुआ। लेकिन राज्यसभा में कुछ लोग झारखंड को लिंचिंग का हब मानते हैं। क्या यह सही है? वे एक राज्य का अपमान क्यों कर रहे हैं? “झारखंड का अपमान करने का अधिकार हम में से किसी को नहीं है।” मोदी ने कहा कि ऐसी हत्याओं के लिए बिना किसी भेदभाव के देश का एक ही मत होना चाहिए, चाहे वह झारखंड में हो, केरल में हो या पश्चिम बंगाल में हो। उन्होंने कहा, “सिर्फ तभी हम हिंसा पर रोक लगा पाएंगे और हिंसा में शामिल लोगों को सजा मिलेगी।” मोदी ने यह बयान राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद द्वारा झारखंड के सरायकेला में मॉब लिंचिंग की घटना की निंदा किए जाने के दो दिन बाद दिया है। आजाद ने कहा था कि झारखंड मॉब लिंचिंग की फैक्ट्री बन चुका है।