पीएम नरेन्द्र मोदी को है भारत के सभी गरीबों की चिंता : स्वतंत्र देव

swatantra dev singh
पीएम नरेन्द्र मोदी को है भारत के सभी गरीबों की चिंता : स्वतंत्र देव

मथुरा। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह सोमवार को मथुरा में एक कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे। वहां उन्होने कहा कि बीजेपी एक पवित्र संगठन है, यह गरीबों की पार्टी है। हमारे पूर्वज श्यामा प्रसाद मुखर्जी, पंडित दीनदयाल उपाध्याय, अटल बिहारी वाजपेई जैसे महापुरुषों ने संगठन के कार्यकर्ताओं को संस्कारवान बनाकर इस संगठन को खड़ा किया है।

Pm Narendra Modi Worries About All The Poor Of India Swatantra Dev :

वो बाजना में आयोजित किसान सम्मान समारोह में मुख्य अतिथि के तौर पर पहुंचे थे। वहां उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गरीबों के उत्थान के लिए, देश की खुशहाली के लिए, हर घर में रोटी पानी पहुंचाने के लिए हमेशा प्रयासरत रहते हैं। आगे उन्होने कहा कि पीएम ने तीन तलाक जैसे विषय पर पीएम मोदी ने मुस्लिम महिलाओं के मान सम्मान का ख्याल रखा।

धारा 370 और 35-ए को समाप्त करके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं गृहमंत्री अमित शाह ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय, श्यामाप्रसाद मुखर्जी, बाबासाहेब आंबेडकर, सरदार वल्लभभाई पटेल जैसे अनेकों महापुरुषों के सपने को साकार किया है।

मथुरा। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह सोमवार को मथुरा में एक कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे। वहां उन्होने कहा कि बीजेपी एक पवित्र संगठन है, यह गरीबों की पार्टी है। हमारे पूर्वज श्यामा प्रसाद मुखर्जी, पंडित दीनदयाल उपाध्याय, अटल बिहारी वाजपेई जैसे महापुरुषों ने संगठन के कार्यकर्ताओं को संस्कारवान बनाकर इस संगठन को खड़ा किया है। वो बाजना में आयोजित किसान सम्मान समारोह में मुख्य अतिथि के तौर पर पहुंचे थे। वहां उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गरीबों के उत्थान के लिए, देश की खुशहाली के लिए, हर घर में रोटी पानी पहुंचाने के लिए हमेशा प्रयासरत रहते हैं। आगे उन्होने कहा कि पीएम ने तीन तलाक जैसे विषय पर पीएम मोदी ने मुस्लिम महिलाओं के मान सम्मान का ख्याल रखा। धारा 370 और 35-ए को समाप्त करके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं गृहमंत्री अमित शाह ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय, श्यामाप्रसाद मुखर्जी, बाबासाहेब आंबेडकर, सरदार वल्लभभाई पटेल जैसे अनेकों महापुरुषों के सपने को साकार किया है।