सदन की कार्यवाही से हटाया गया पीएम मोदी के भाषण का ये अंश

pm-modi
सदन की कार्यवाही से हटाया गया पीएम मोदी के भाषण का ये अंश

नई दिल्ली। राज्यसभा के उपसभापति के रूप में एनडीए के प्रत्याशी हरिवंश की जीत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कांग्रेस उम्मीदवार बीके हरिप्रसाद पर की गयी टिप्पणी को सदन के रिकॉर्ड से हटा दिया गया है। कांग्रेस ने पीएम मोदी की टिप्पणी को अपमानजनक बताया था। सदन में राष्ट्रीय जनता दल के सांसद मनोज झा ने पीएम मोदी की टिप्पणी पर ऐतराज जताते हुए सभापति से इसे कार्यवाही से हटाने की मांग की थी। उन्होंने दावा किया कि स्वतंत्र भारत के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि किसी प्रधानमंत्री की टिप्पणी को कार्यवाही से हटाना पड़ा हो।

Pm Narendra Modis Derogatory Remarks On Bk Hariprasad Expunged From Rajya Sabha Records :

आमतौर पर सदन में भाषण के दौरान किसी आपत्तिजनक बात को कह देना आम बात है, लेकिन ऐसा बहुत कम होता है कि प्रधानमंत्री के भाषण के किसी हिस्से को हटाना पड़े। एनडीए उम्मीदवार हरिवंश नारायण सिंह को जीत की बधाई देते हुए पीएम मोदी ने कहा था कि यह चुनाव दो हरि के बीच में था। अब सदन पर ‘हरि-कृपा’ बनी रहेगी। पीएम मोदी ने इसके बाद बीके हरिप्रसाद के नाम का जिक्र कर एक टिप्पणी की, जिस पर कांग्रेस पार्टी ने आपत्ति की।

प्रधानमंत्री ने हरिवंश के सादे जीवन पर टिप्‍पणी करते हुए कहा कि वह दिल्ली, कोलकाता और हैदराबाद जैसे प्रमुख शहरों में रहे, लेकिन उन्हें महानगरों की चकाचौंध कभी रास नहीं आई। उन्होंने हमेशा जन सामान्य और आखिरी पंक्ति में खड़े वंचितों की आवाज प्रमुखता से उठाई।

नई दिल्ली। राज्यसभा के उपसभापति के रूप में एनडीए के प्रत्याशी हरिवंश की जीत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कांग्रेस उम्मीदवार बीके हरिप्रसाद पर की गयी टिप्पणी को सदन के रिकॉर्ड से हटा दिया गया है। कांग्रेस ने पीएम मोदी की टिप्पणी को अपमानजनक बताया था। सदन में राष्ट्रीय जनता दल के सांसद मनोज झा ने पीएम मोदी की टिप्पणी पर ऐतराज जताते हुए सभापति से इसे कार्यवाही से हटाने की मांग की थी। उन्होंने दावा किया कि स्वतंत्र भारत के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि किसी प्रधानमंत्री की टिप्पणी को कार्यवाही से हटाना पड़ा हो। आमतौर पर सदन में भाषण के दौरान किसी आपत्तिजनक बात को कह देना आम बात है, लेकिन ऐसा बहुत कम होता है कि प्रधानमंत्री के भाषण के किसी हिस्से को हटाना पड़े। एनडीए उम्मीदवार हरिवंश नारायण सिंह को जीत की बधाई देते हुए पीएम मोदी ने कहा था कि यह चुनाव दो हरि के बीच में था। अब सदन पर 'हरि-कृपा' बनी रहेगी। पीएम मोदी ने इसके बाद बीके हरिप्रसाद के नाम का जिक्र कर एक टिप्पणी की, जिस पर कांग्रेस पार्टी ने आपत्ति की।प्रधानमंत्री ने हरिवंश के सादे जीवन पर टिप्‍पणी करते हुए कहा कि वह दिल्ली, कोलकाता और हैदराबाद जैसे प्रमुख शहरों में रहे, लेकिन उन्हें महानगरों की चकाचौंध कभी रास नहीं आई। उन्होंने हमेशा जन सामान्य और आखिरी पंक्ति में खड़े वंचितों की आवाज प्रमुखता से उठाई।