PM मोदी बोले- राम मंदिर पर अध्यादेश नहीं लाएगी हमारी सरकार

modi
PM मोदी बोले- राम मंदिर पर अध्यादेश नहीं लाएगी हमारी सरकार

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि राम मंदिर निर्माण के लिए अध्यादेश लाने पर फैसला न्यायिक प्रक्रिया के पूरा होने के बाद ही लिया जाएगा। इंटरव्यू में उन्होंने राम मंदिर पर अदालती कार्यवाही में देरी को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के वकील सुप्रीम कोर्ट में बाधाएं उत्पन्न कर रहे हैं, इसके चलते राम मंदिर मसले की सुनवाई की गति धीमी हो गई है।

Pm Narendra Modis Interview Before 2019 Elections :

राम मंदिर के अब भी बीजेपी के लिए इमोशनल मुद्दा होने के सवाल पर मोदी ने कहा, ‘हमने अपने मेनिफेस्टो में हमने कहा था कि इस मसले का समाधान संवैधानिक तरीके से किया जाएगा।’ बीजेपी ने लोकसभा चुनाव के अपने घोषणापत्र में कहा था कि वह अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण चाहती है।

बता दें कि बीते कुछ दिनों में पार्टी के भीतर से ही और आरएसएस के द्वारा यह कहा जाता रहा है कि राम मंदिर निर्माण के लिए जल्द रास्ता साफ होना चाहिए। आरएसएस से जुड़े संगठन बीते कुछ दिनों से तीन तलाक पर जारी अध्यादेश की ही तर्ज पर राम मंदिर निर्माण के लिए भी ऑर्डिनेंस जारी करने की मांग कर रहे हैं। यहां तक कि बीजेपी की सहयोगी पार्टी शिवसेना ने भी राम मंदिर के लिए अध्यादेश की मांग की है।

पीएम मोदी ने अध्यादेश के सवाल पर सीधे तौर पर कहा कि यह मामला सुप्रीम कोर्ट में है और संभवत: आखिरी चरण में है। उन्होंने कहा, ‘कानूनी प्रक्रिया पूरी हो जाने दीजिए। इस प्रक्रिया की समाप्ति के बाद सरकार के तौर पर जो भी जिम्मेदारी होगी, उसके लिए हम तैयार हैं।’ गौरतलब है कि राम मंदिर के मसले पर 4 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनी है। सुप्रीम कोर्ट में रोजाना सुनवाई की मांग के लिए याचिका दाखिल की गई है।

पाकिस्तान पर क्या बोले पीएम मोदी?

पाकिस्तान पर पूछे गए सवाल के जवाब में पीएम मोदी ने कहा, ”एक लड़ाई से पाकिस्तान नहीं सुधरेगा। पाकिस्तान को सुधरने में वक्त लगेगा।” उन्होंने कहा, ”सर्जिकल स्ट्रइक पर फैसला जोखिम भरा था। हमारी पहली चिंता सैनिकों की सुरक्षा थी और हमेशा रहेगी।”

लोकसभा चुनाव पर क्या बोले पीएम मोदी?

पीएम मोदी ने लोकसभा चुनाव को लेकर बड़ा बयान दिया है। पीएम मोदी ने कहा कि साल 2019 का चुनाव जनता बनाम गठबंधन होगा। मोदी जनता के प्यार और आशीर्वाद की अभिव्यक्ति हैं।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि राम मंदिर निर्माण के लिए अध्यादेश लाने पर फैसला न्यायिक प्रक्रिया के पूरा होने के बाद ही लिया जाएगा। इंटरव्यू में उन्होंने राम मंदिर पर अदालती कार्यवाही में देरी को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के वकील सुप्रीम कोर्ट में बाधाएं उत्पन्न कर रहे हैं, इसके चलते राम मंदिर मसले की सुनवाई की गति धीमी हो गई है। राम मंदिर के अब भी बीजेपी के लिए इमोशनल मुद्दा होने के सवाल पर मोदी ने कहा, 'हमने अपने मेनिफेस्टो में हमने कहा था कि इस मसले का समाधान संवैधानिक तरीके से किया जाएगा।' बीजेपी ने लोकसभा चुनाव के अपने घोषणापत्र में कहा था कि वह अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण चाहती है। बता दें कि बीते कुछ दिनों में पार्टी के भीतर से ही और आरएसएस के द्वारा यह कहा जाता रहा है कि राम मंदिर निर्माण के लिए जल्द रास्ता साफ होना चाहिए। आरएसएस से जुड़े संगठन बीते कुछ दिनों से तीन तलाक पर जारी अध्यादेश की ही तर्ज पर राम मंदिर निर्माण के लिए भी ऑर्डिनेंस जारी करने की मांग कर रहे हैं। यहां तक कि बीजेपी की सहयोगी पार्टी शिवसेना ने भी राम मंदिर के लिए अध्यादेश की मांग की है। पीएम मोदी ने अध्यादेश के सवाल पर सीधे तौर पर कहा कि यह मामला सुप्रीम कोर्ट में है और संभवत: आखिरी चरण में है। उन्होंने कहा, 'कानूनी प्रक्रिया पूरी हो जाने दीजिए। इस प्रक्रिया की समाप्ति के बाद सरकार के तौर पर जो भी जिम्मेदारी होगी, उसके लिए हम तैयार हैं।' गौरतलब है कि राम मंदिर के मसले पर 4 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनी है। सुप्रीम कोर्ट में रोजाना सुनवाई की मांग के लिए याचिका दाखिल की गई है। पाकिस्तान पर क्या बोले पीएम मोदी? पाकिस्तान पर पूछे गए सवाल के जवाब में पीएम मोदी ने कहा, ''एक लड़ाई से पाकिस्तान नहीं सुधरेगा। पाकिस्तान को सुधरने में वक्त लगेगा।'' उन्होंने कहा, ''सर्जिकल स्ट्रइक पर फैसला जोखिम भरा था। हमारी पहली चिंता सैनिकों की सुरक्षा थी और हमेशा रहेगी।'' लोकसभा चुनाव पर क्या बोले पीएम मोदी? पीएम मोदी ने लोकसभा चुनाव को लेकर बड़ा बयान दिया है। पीएम मोदी ने कहा कि साल 2019 का चुनाव जनता बनाम गठबंधन होगा। मोदी जनता के प्यार और आशीर्वाद की अभिव्यक्ति हैं।