नीरव मोदी की PNB को धमकी, कहा बंद कर लिए कर्ज लौटाने के रास्ते

नीरव मोदी, Nirav Modi
नीरव मोदी की PNB को धमकी, कहा बंद कर लिए कर्ज लौटाने के रास्ते

Pnb Gets Letter From Nirav Modi

नई दिल्ली। भारत की दूसरी सबसे बड़ी बैंकिंग संस्था पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) को करीब 11400 करोड़ का चूना लगाकर विदेश भाग चुके हीरा करोबारी नीरव मोदी का नाम इन दिनों सुर्खियों में हैं। पिछले एक सप्ताह से नीरव मोदी के कारनामे अखबारों के मुख्यपृष्ठ पर छाए हुए हैं, तो वहीं हर चर्चा के केन्द्र में इस हीरा कारोबारी की कारगुजारी है। जिसे सियासी विरोधियों ने देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की नियत पर भी सवाल उठाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है।

इस बीच नीरव मोदी की एक चिट्ठी का जिक्र हो रहा है। धमकी भरे लहजे में लिखी यह चिट्ठी नीरव मोदी की ओर से पीएनबी के शीर्ष मैनेजमेंट को ईमेल के रूप में भेजी गई है। जिसमें नीरव मोदी ने लिखा है कि बैंक ने लोन बसूली के मामले को सार्वजनिक कर उनकी कारोबारी क्षमताओं पर सवाल खड़े कर दिए हैं। जिस कारोबार की दम पर वह बैंक के कर्ज को वापस लौटा सकते थे उसकी साख को भी बैंक के अधिकारियों ने नष्ट कर दिया है। ऐसे में बैंक के कर्ज को चुकाने के सारे रास्ते बैंक अधिकारियों ने खुद ही बंद कर लिए है।

नीरव मोदी ने स्पष्ट रूप से लिखा है कि बैंक के अधिकारियों के कारण ही सार्वजनिक जीवन में उनके भाई, पत्नी और मामा मेहुल चौकसी को बदनामी झेलनी पड़ रही है, जबकि वास्तविकता में इन सभी लोगों का उसके कारोबार से कोई लेना देना नहीं है।

नीरव मोदी ने बैंक प्रबंधन के साथ 13 से 15 फरवरी तक कर्ज चुकाने को लेकर हुई बातचीत का हवाला देते हुए कहा है कि जब उस दौरान उन्होंने कर्ज वापसी का प्रस्ताव पेश किया था। इसके बावजूद बैंक प्रबंधन ने हड़बड़ी दिखाकर पूरे मामले को एक नया रुख दे दिया। सबकुछ बर्बाद कर दिया।

आपको बता दें कि यह चिट्ठी नीरव मोदी की ओर से 18 या 19 फरवरी की पीएनबी बैंक प्रबंधन को भेजी गई है। जिसे बैंक की ओर से सीबीआई को दिया गया है।

नई दिल्ली। भारत की दूसरी सबसे बड़ी बैंकिंग संस्था पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) को करीब 11400 करोड़ का चूना लगाकर विदेश भाग चुके हीरा करोबारी नीरव मोदी का नाम इन दिनों सुर्खियों में हैं। पिछले एक सप्ताह से नीरव मोदी के कारनामे अखबारों के मुख्यपृष्ठ पर छाए हुए हैं, तो वहीं हर चर्चा के केन्द्र में इस हीरा कारोबारी की कारगुजारी है। जिसे सियासी विरोधियों ने देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की नियत पर भी सवाल उठाने में कोई कसर…