1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. जहरीली शराब कांड: कुंभकर्णी नींद से जगा बिहार प्रशासन, ताबड़तोड़ छापेमारी में 16 गिरफ्तार, इंस्पेक्टर निलंबित

जहरीली शराब कांड: कुंभकर्णी नींद से जगा बिहार प्रशासन, ताबड़तोड़ छापेमारी में 16 गिरफ्तार, इंस्पेक्टर निलंबित

शराब बंदी के बाद भी बिहार (Bihar) में जहरीली शराब से हाहाकार मचा हुआ है। करीब दो दर्जन से ज्यादा लोगों की जहरीली शराब पीने से जान चली गयी है। वहीं, इस घटना के बाद नीतीश सरकार (Nitish Sarkar) कटघरे में खड़ी हुई है। विपक्ष इस घटना को लेकर नीतीश सरकार को घेरने में जुटी है। इस घटना के बाद पुलिस और प्रशासन अब कार्रवाई में जुट गई है।

By शिव मौर्या 
Updated Date

पटना। शराब बंदी के बाद भी बिहार (Bihar) में जहरीली शराब से हाहाकार मचा हुआ है। करीब दो दर्जन से ज्यादा लोगों की जहरीली शराब पीने से जान चली गयी है। वहीं, इस घटना के बाद नीतीश सरकार (Nitish Sarkar) कटघरे में खड़ी हुई है। विपक्ष इस घटना को लेकर नीतीश सरकार को घेरने में जुटी है। इस घटना के बाद पुलिस और प्रशासन अब कार्रवाई में जुट गई है।

पढ़ें :- बिहार विधानसभा में मिलीं शराब की बोतलें, तेजस्वी ने कहा-CM नीतीश कुमार को दे देना चाहिए इस्तीफा

अभी तक पुलिस ने छापेमारी कर 16 लोगों को गिरफ्तार किया है। वहीं, एक इंस्पेक्टर को निलंबित किया गया है। बता दें कि, बिहार के बेतिया और गोपालगंज में जहरीली शराब पीने से दो दर्जन से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है। वहीं, कई की स्थिति गंभीर बनी हुई है, जिनका उपचार अस्प्ताल में जारी है।

इस घटना के बाद मुजफ्फरपुर के गन्नीपुर स्थित क्षेत्रीय विधि विज्ञान प्रयोगशाला (आरएफएसएल) के वैज्ञानिक ने बेतिया और गोपालगंज पहुंचकर जांच की। जहां से लोगों ने शराब पी थी, वहां से सैंपल जमा कर पुलिस को सौंपे हैं।

वहीं, अब पुलिस कोर्ट की अनुमति से सैंपल को मुजफ्फरपुर स्थित आरएफएसएल जांच के लिए भेजेगी। बता दें कि, बिहार के विभिन्न हिस्सों में इस घटना को लेकर लोगों में आक्रोश है। इसके साथ ही विपक्ष भी इस घटना को लेकर नीतीश सरकार (Nitish Sarkar) पर हमले बोल रही है।

पढ़ें :- Chhath Mahaparv: सूर्योपासना का महापर्व उगते सूर्य को अर्घ्य देकर हुआ संपन्न, दिग्गजों ने दी बधाई
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...