पोलैंड ने द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान हुई क्षति के लिए जर्मनी से मांगा मुआवजा

पोलैंड ने द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान हुई क्षति के लिए जर्मनी से मांगा मुआवजा
पोलैंड ने द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान हुई क्षति के लिए जर्मनी से मांगा मुआवजा

Poland Demands Compensation To Germany Over Lost During Second World War

नई दिल्ली।पोलैंड सरकार ने कहा है कि द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान जर्मन सेनाओं ने 54 बिलियन डॉलर (करीब 99 हजार करोड़ रुपए) का नुकसान किया था। लिहाजा जर्मन सरकार को युद्ध के हर्जाने के रूप में 850 बिलियन डॉलर (करीब 60 लाख करोड़ रुपए) देना चाहिए।

पोलैंड के एक संसदीय आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान नाजियों द्वारा किए गए कब्जे की वजह से देश में 50 लाख लोगों की मौत हुई और करीब 54 अरब डॉलर का नुकसान हुआ। पोलैंड की मौजूदा सरकार द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान देश को नाजियों द्वारा पहुंचाई गई क्षति की पूर्ति जर्मनी से चाहती है और आयोग की कल की यह घोषणा उसी का हिस्सा है।

रिपोर्ट में बताया गया है कि यह प्रारंभिक आंकड़े हैं। सत्तारूढ़ लॉ ऐंड जस्टिस पार्टी के नेता जारोस्लाव काकजिन्सकी का तर्क है कि नाजियों ने 1939 में सबसे पहले पोलैंड पर हमला किया था। इस हमले औरविश्व युद्ध के कारण इस देश को द्वितीय विश्वयुद्ध में भारी क्षति पहुंची थी।

द्वितीय विश्वयुद्ध खत्म होने के बाद पोलैंड पर दशकों तक सोवियत रूस का प्रभुत्व था इसलिए यह देश स्वतंत्ररूप से जर्मनी से क्षतिपूर्ति राशि नहीं मांग पाया था। हालांकि जर्मनी ने पोलैंड में नाजियों के अत्याचार के बाद जिंदा बचे लोगों को मुआवजा दिया था।

नई दिल्ली।पोलैंड सरकार ने कहा है कि द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान जर्मन सेनाओं ने 54 बिलियन डॉलर (करीब 99 हजार करोड़ रुपए) का नुकसान किया था। लिहाजा जर्मन सरकार को युद्ध के हर्जाने के रूप में 850 बिलियन डॉलर (करीब 60 लाख करोड़ रुपए) देना चाहिए।पोलैंड के एक संसदीय आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान नाजियों द्वारा किए गए कब्जे की वजह से देश में 50 लाख लोगों की मौत हुई और करीब 54 अरब डॉलर…