बिरयानी विक्रेताओं को करते थे प्रतिबंधित पशुओं के मांस की होम डिलीवरी, 2 गिरफ्तार

up
बिरयानी विक्रेताओं को करते थे प्रतिबंधित पशुओं के मांस की होम डिलीवरी, 2 गिरफ्तार

नई दिल्ली। ग्रेटर नोएडा के जारचा थाना क्षेत्र के गांव नूरपुर स्थित दो घरों के फ्रिज से 20 किलो मांस व अवैध हथियार के साथ पकड़े गए जाहिद और याकूब को पुलिस ने जेल भेज दिया है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि प्रतिबंधित पशुओं के मांस को फॉरेंसिक की जांच के लिए मथुरा भेज दिया गया है। गिरफ्त में आए आरोपी आवारा पशुओं को जंगल से पकड़कर उनको मार देते थे और उसका मांस बिरयानी वालों बेच दिया करते थे।

Police Arrested 2 On Charrges Of Illegal Cattle Slaughtering And Selling Meet To Biryani Shop Weapon Seazed In Raid :

ग्रेटर नोएडा जारचा कोतवाली क्षेत्र के नूरपुर गांव में पुलिस ने 2 लोगों के घरों में छापा मारकर प्रतिबंधित मांस बरामद किया। पुलिस का कहना है कि पकड़े गए दोनों आरोपी जंगलों से आवारा पशुओं को पकड़ लेते थे और फिर उनको मारने के बाद बिरयानी वालों को 100 रुपए किलो के हिसाब से बेच दिया करते थे। पुलिस के मुताबिक, आरोपी जाहिर के फ्रिज में लगभग 20 किलोग्राम प्रतिबंधित मांस मिला। इसके अलावा गन व जिंदा कारतूस भी बरामद किए गए।

सख्ती से पूछताछ के बाद उसने अपने दूसरे साथ के बारे में बताया। उसका दूसरा साथी याकूब उसके घर के पास ही रहता था। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए याकूब के घर दबिश दी। इस दौरान उसके घर से करीब 10 किलोग्राम प्रतिबंधित मांस बरामद हुआ। साथ ही एक बंदूक और आवारा पशु काटने के लिए इस्तेमाल होने वाले औजार बरामद किए गए।

पुलिस का कहना है कि पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। उनसे पता किया जा रहा है कि अब तक वे ऐसी कितनी वारदात को अंजाम दे चुके हैं। पुलिस ने कहा कि फॉरेंसिक रिपोर्ट आने के बाद क्लियर हो पाएगा कि बरामद मांस किस जानवर का था। अभी तक की जांच में मांस प्रतिबंधित पशु का लग रहा है।

बिरयानी विक्रेताओं ने नहीं लगाई रेहड़ीः

रिपोर्ट्स के मुताबिक, नूरपुर में प्रतिबंधित मांस मिलने की खबर से आसपास के इलाकों में डर का माहैल है। इस वजह से शनिवार (25 मई) को इलाके में बिरयानी विक्रेताओं ने अपनी रेहड़ी नहीं लगाई। वहीं, मामला सामने आने पर गांव वालों ने भी नाराजगी व्यक्त की।

नई दिल्ली। ग्रेटर नोएडा के जारचा थाना क्षेत्र के गांव नूरपुर स्थित दो घरों के फ्रिज से 20 किलो मांस व अवैध हथियार के साथ पकड़े गए जाहिद और याकूब को पुलिस ने जेल भेज दिया है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि प्रतिबंधित पशुओं के मांस को फॉरेंसिक की जांच के लिए मथुरा भेज दिया गया है। गिरफ्त में आए आरोपी आवारा पशुओं को जंगल से पकड़कर उनको मार देते थे और उसका मांस बिरयानी वालों बेच दिया करते थे। ग्रेटर नोएडा जारचा कोतवाली क्षेत्र के नूरपुर गांव में पुलिस ने 2 लोगों के घरों में छापा मारकर प्रतिबंधित मांस बरामद किया। पुलिस का कहना है कि पकड़े गए दोनों आरोपी जंगलों से आवारा पशुओं को पकड़ लेते थे और फिर उनको मारने के बाद बिरयानी वालों को 100 रुपए किलो के हिसाब से बेच दिया करते थे। पुलिस के मुताबिक, आरोपी जाहिर के फ्रिज में लगभग 20 किलोग्राम प्रतिबंधित मांस मिला। इसके अलावा गन व जिंदा कारतूस भी बरामद किए गए। सख्ती से पूछताछ के बाद उसने अपने दूसरे साथ के बारे में बताया। उसका दूसरा साथी याकूब उसके घर के पास ही रहता था। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए याकूब के घर दबिश दी। इस दौरान उसके घर से करीब 10 किलोग्राम प्रतिबंधित मांस बरामद हुआ। साथ ही एक बंदूक और आवारा पशु काटने के लिए इस्तेमाल होने वाले औजार बरामद किए गए। पुलिस का कहना है कि पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। उनसे पता किया जा रहा है कि अब तक वे ऐसी कितनी वारदात को अंजाम दे चुके हैं। पुलिस ने कहा कि फॉरेंसिक रिपोर्ट आने के बाद क्लियर हो पाएगा कि बरामद मांस किस जानवर का था। अभी तक की जांच में मांस प्रतिबंधित पशु का लग रहा है। बिरयानी विक्रेताओं ने नहीं लगाई रेहड़ीः रिपोर्ट्स के मुताबिक, नूरपुर में प्रतिबंधित मांस मिलने की खबर से आसपास के इलाकों में डर का माहैल है। इस वजह से शनिवार (25 मई) को इलाके में बिरयानी विक्रेताओं ने अपनी रेहड़ी नहीं लगाई। वहीं, मामला सामने आने पर गांव वालों ने भी नाराजगी व्यक्त की।