1. हिन्दी समाचार
  2. पुलिस ने संयुक्त एक्शन के दौरान एक डकैत को किया गिरफ्तार, 16 साल की नाबालिग लड़की बरामद

पुलिस ने संयुक्त एक्शन के दौरान एक डकैत को किया गिरफ्तार, 16 साल की नाबालिग लड़की बरामद

Police Arrested A Dacoit During Joint Action 16 Year Old Minor Girl Recovered

By सोने लाल 
Updated Date

नई दिल्ली। राजस्थान के धौलपुर जिले की बाड़ी सदर थाना पुलिस और बसईडांग थाना पुलिस ने संयुक्त एक्शन के दौरान एक डकैत को कब्जे में लिया तो उसके साथ एक 16 साल की नाबालिग लड़की ​भी मिली है। उसकी मांग में सिंदूर भरा हुआ था। जब उस लड़की का मेडिकल चेकप हुआ तो वह लड़की 7 महीने की गर्भवती निकली। उसके पति के जेल जाने के बाद वह अपने घर इस हालत में वापस नहीं जाना चाहती है।

पढ़ें :- Kylie Jenner ने शेयर की Halloween पार्टी की हॉट तस्वीरें, सोशल मीडिया पर मचा कोहराम

पकड़े गए डकैत राकेश डोयला के कब्जे से मिली 16 साल की नाबालिग लड़की 7 माह की गर्भवती निकली। परोल से फरार होने के बाद पांच हजार रुपए के इनामी डकैत राकेश डोयला ने 22 मार्च 2020 को बसईडांग क्षेत्र के गांव से हथियारों के बल पर रात के अंधेरे में करीब आधा दर्जन बदमाशों के साथ 16 साल की एक नाबालिग लड़की का अपहरण कर लिया था।

मुखबिर की सूचना पर पुलिस जब डकैत को पकड़ने गई तो उसके साथ नाबालिग लड़की मिली, नाबालिग की मांग में सिंदूर भरा हुआ था और वह डकैत के साथ विवाहिता की तरह रह रही थी। 16 साल की गर्भवती मां को पुलिस ने जब बाल कल्याण समिति सदस्य गिरीश गुर्जर के समक्ष पेश किया तो काउंसिलिंग के दौरान मासूम लड़की अधिकांश समय गुमसुम सी रही।

समिति सदस्य गिरीश गुर्जर से नाबालिग ने बस इतना ही कहा कि वह माता-पिता के पास जाना नहीं चाहती क्योंकि जिस डकैत ने उससे शादी कर ली है, वह जेल में रहेगा और माता-पिता उसे गर्भवती होने पर स्वीकार करना नहीं चाहेंगे, ऐसे में उसे कहीं और भिजवा दिया जाए।

पढ़ें :- बिहार चुनाव: जेपी नड्डा ने विपक्ष पर साधा निशाना, पूछा-क्या यह महागठबंधन विकास सुनिश्चित करेगा?

मासूम लड़की की बात सुनकर बाल कल्याण समिति के गिरीश गुर्जर ने मेडिकल करवाकर फिलहाल उसे चाइल्ड लाइन में रखवाया है। समिति सदस्य गिरीश गुर्जर ने बताया कि किशोरी अगर इच्छा जताएगी तो उसे परिजनों के पास भेजा जाएगा अन्यथा उसे बालिका गृह भरतपुर में भेजने की कार्यवाही की जाएगीं

नाबालिग आठवीं तक पढ़ी है, पुलिस ने शुक्रवार देर शाम जांच प्रक्रिया पूरी कर नाबालिग को सीडब्ल्यूसी के समक्ष पेश किया हैं। पुलिस ने पहले मामला 363, 366 ए आईपीसी में दर्ज किया था लेकिन अब जांच के दौरान 376, 3/4 व 4/5 पॉक्सो एक्ट की धाराएं जोड़ी गई हैं।

अपहृत किशोरी के संबंध में हाई कोर्ट में व्यक्तिगत स्वतंत्रता के लिए हेवियस कॉपर्स की रिट लगी हुई। पुलिस ने नाबालिग के 161 बयान के बाद 164 के बयान शुक्रवार को न्यायालय में करा दिए हैं। अपहरण करने के बाद डकैत राकेश डोयला नाबालिग को विवाहिता की तरह रखता था।

आपको बता देते हैं कि 22 मार्च 2020 को 16 साल की नाबालिग का अपहरण करने के बाद डकैत उसे बीहड़ों में ले गया। मामले को लेकर नाबालिग के भाई ने 24 मार्च 2020 को बसईडांग थाने में बहन के अपहरण का मामला भी दर्ज करवाया। पुलिस ने डकैतों के खिलाफ आईपीसी की धारा 363, 366 ए के तहत मामला दर्ज किया था।

नाबालिग के मामले में हाई कोर्ट, जयपुर में हेवियस कॉपर्स की रिट भी लगी हुई है। पुलिस ने जब डकैत राकेश डोयला को गिरफ्तार किया तो नाबालिग उसके पास मिली, बाल कल्याण समिति सदस्य गिरीश गुर्जर ने बताया कि नाबालिग ने उन्हें बताया कि डकैत ने उसके साथ शादी कर ली है जिसके कारण फिर उसे विवाहिता की तरह रहना पड़ा। अब इस गर्भवती की डिलीवरी बाल कल्याण समिति अपनी देखरेख में करवाएगी।

पढ़ें :- Halloween मे Kim Kardashian ने कुछ इस तरह बिखेरे जलवे, देखने वालों की रातों की उड़ी नींद

बाल कल्याण समिति सदस्य गिरीश गुर्जर ने बताया कि पत्नी के लिए पति ही उसका संरक्षक होता है। डकैत ने 16 साल की लड़की के साथ शादी की है लेकिन डकैत आपराधिक किस्म का है जिसके कारण किशोरी का भविष्य उसके साथ सुरक्षित नहीं है। ऐसे में गर्भवती किशोरी की डिलीवरी बाल कल्याण समिति अपनी देख-रेख में करवाएगी।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...