जेल से बाहर आते ही फिर हार्दिक पटेल को पुलिस ने किया गिरफ्तार

hardik
जेल से बाहर आते ही फिर हार्दिक पटेल को पुलिस ने किया गिरफ्तार

नई दिल्ली। गुजरात कांग्रेस के नेता हार्दिक पटेल को जमानत पर साबरमती जेल से बाहर आने के बाद गुरुवार को फिर गिरफ्तार कर लिया गया। उनकी गिरफ्तारी आचार संहिता उल्लंघन के मामले में की गई है. इससे पहले कोर्ट ने राजद्रोह के मामले में हार्दिक पटेल को जमानत दे दी थी. गौरतलब है कि पटेल राजद्रोह के मामले में साबरमती सेंट्रल जेल में बंद थे और बुधवार को ही जमानत पर बाहर आए थे।  

Police Arrested Hardik Patel Again As Soon As He Came Out Of Jail :

हार्दिक पटेल को अहमदाबाद में एक स्थानीय अदालत ने चार साल पुराने राजद्रोह के मामले में बुधवार को जमानत दी थी। गुरुवार को पटेल जैसे ही जेल से बाहर आए उन्हें गांधीनगर जिले के मनसा तहसील की पुलिस ने फिर गिरफ्तार कर लिया। पटेल के खिलाफ साल 2017 में पुलिस आदेश न मामले पर एफआईआर दर्ज की गई थी। मनसा के पुलिस सब-इंस्पेक्टर एसएस पवार ने बताया कि पटेल ने साल 2017 में गुजरात विधानसभा चुनाव के दौरान एक जनसभा को बिना पुलिस परमिशन के संबोधित किया था।

2017 में हुई थी एफआईआर

पवार ने बताया कि तभी पटेल के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी लेकिन उन्हें गुरुवार को गिरफ्तार किया गया। इससे पहले हार्दिक को 18 जनवरी को चार साल पुराने राजद्रोह के मामले में कोर्ट के सामने पेश न होने की वजह से गिरफ्तार किया गया था। बुधवार को अहमदाबाद की एक स्थानीय कोर्ट ने उन्हें जमानत दी थी।

नई दिल्ली। गुजरात कांग्रेस के नेता हार्दिक पटेल को जमानत पर साबरमती जेल से बाहर आने के बाद गुरुवार को फिर गिरफ्तार कर लिया गया। उनकी गिरफ्तारी आचार संहिता उल्लंघन के मामले में की गई है. इससे पहले कोर्ट ने राजद्रोह के मामले में हार्दिक पटेल को जमानत दे दी थी. गौरतलब है कि पटेल राजद्रोह के मामले में साबरमती सेंट्रल जेल में बंद थे और बुधवार को ही जमानत पर बाहर आए थे।   हार्दिक पटेल को अहमदाबाद में एक स्थानीय अदालत ने चार साल पुराने राजद्रोह के मामले में बुधवार को जमानत दी थी। गुरुवार को पटेल जैसे ही जेल से बाहर आए उन्हें गांधीनगर जिले के मनसा तहसील की पुलिस ने फिर गिरफ्तार कर लिया। पटेल के खिलाफ साल 2017 में पुलिस आदेश न मामले पर एफआईआर दर्ज की गई थी। मनसा के पुलिस सब-इंस्पेक्टर एसएस पवार ने बताया कि पटेल ने साल 2017 में गुजरात विधानसभा चुनाव के दौरान एक जनसभा को बिना पुलिस परमिशन के संबोधित किया था। 2017 में हुई थी एफआईआर पवार ने बताया कि तभी पटेल के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी लेकिन उन्हें गुरुवार को गिरफ्तार किया गया। इससे पहले हार्दिक को 18 जनवरी को चार साल पुराने राजद्रोह के मामले में कोर्ट के सामने पेश न होने की वजह से गिरफ्तार किया गया था। बुधवार को अहमदाबाद की एक स्थानीय कोर्ट ने उन्हें जमानत दी थी।