नोट बदलने गए लोगों पर पुलिस ने भांजी लाठिया, 3 बुजुर्ग घायल

Police Beaten People During Rs 500 And 1000 Notes Change In Bank

फतेहपुर: उत्तर प्रदेश के फतेहपुर में 500 और 1000 के पुराने नोट बदलने के लिए लाइन में लगे लोगों को पुलिस की लाठियां खानी पड़ी, जिसमें 3 बुजुर्ग घायल हो गए। यहां पुलिस ने बैंक के बाहर लाइन में खड़े लोगों की बेरहमी से पीटा।




मामला फतेहपुर जिले के किशनपुर कस्बे के एसबीआई ब्रांच की है। यहां सुबह से ही अपना पैसा बैंक में जमा करने और निकालने के लिए लोग लाइन में लगे थे। इसी दौरान एक सिपाही बिना कुछ पूछे लाठियां बरसानी शुरू कर दिया। उसने बुजुर्ग हो या युवा सभी की बेरहमी से पिटाई करने लगा। बताया जाता है कि इस घटना में तीन लोगों को ज्‍यादा चोटें लगी हैं, जिनका इलाज स्‍थानीय स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र में चल रहा है।




पीड़ित किसान जय सिंह ने बताया कि हमलोग सुबह से पैसे जमा करने के लिए लाइन में लगे थे। कोई हंगामा नहीं कर रहा था। कुछ लोग आगे आपस में बात कर रहे थे। इसी दौरान वहां तैनात सिपाही ने बिना कुछ पूछे लाठियां बरसाना शुरू कर दिया। जो लोग लाइन में खड़े थे उनको भी मारना-पिटना शुरू कर दिया।

उधर देवरिया जिले के भारतीय स्टेट बैंक, तरकुलवा ब्रांच में सोमवार सुबह कैश के लिए लगी कतार में भगदड़ मच गई। इसमें कनकपुरा गांव के 65 वर्षीय रामनाथ कुशवाहा की दबने से मौत हो गई। बताया जा रहा है कि रामनाथ के बहू की एक दिन पहले जिला अस्पताल में डिलेवरी हुई थी। वह जरूरी खर्चे के लिए रुपये निकालने आज सुबह सात बजे ही बैंक पहुंच गए थे।




प्रत्‍यक्षदर्शियों के मुताबिक बैंक के सामने करीब एक हजार लोग सुबह से ही कतार में लगे थे । दस बजे के लगभग जैसे ही बैंक का चैनल खुला काउंटर पर आगे पहुंचने की होड़ में भगदड़ मच गई। हादसे की सूचना पर पहुंची पुलिस ने किसी तरह से भीड़ को संभाला। बैंक मैनेजर विजय बहादुर सिंह ने बताया कि भीड़ की हड़बड़ी के कारण हादसा हुआ। पुलिस की मौजूदगी में बैंक पर दोबारा कैश की निकासी का काम शुरू हो गया है। मृतक के मामले घटना की लीपापोती का प्रयास शुरु हो गया है ।

फतेहपुर: उत्तर प्रदेश के फतेहपुर में 500 और 1000 के पुराने नोट बदलने के लिए लाइन में लगे लोगों को पुलिस की लाठियां खानी पड़ी, जिसमें 3 बुजुर्ग घायल हो गए। यहां पुलिस ने बैंक के बाहर लाइन में खड़े लोगों की बेरहमी से पीटा। मामला फतेहपुर जिले के किशनपुर कस्बे के एसबीआई ब्रांच की है। यहां सुबह से ही अपना पैसा बैंक में जमा करने और निकालने के लिए लोग लाइन में लगे थे। इसी दौरान एक सिपाही बिना…