दिग्विजय की हार पर जल समाधि का दावा करने वाले मिर्ची बाबा को पुलिस ने किया नजरबंद

mirchi baba
दिग्विजय की हार पर जल समाधि का दावा करने वाले मिर्ची बाबा को पुलिस ने किया जनरबंद

भोपाल। लोकसभा चुनाव में दिग्विजय सिंह की हार पर समाधि लेने का दावा करने वाले वैराज्ञानन्द उर्फ मिर्ची बाबा अब पुलिस की निगरानी में हैं। दरअसल उन्होने रविवार को समाधि लेने की बात कही थी, जिसके बाद उस तालाब पर हजारों लोगों की भीड़ जमा हो गई। हालाकि पुलिस ने उस तालाब को अपने कब्जे में ले लिया, जिसके चलते मिर्ची बाबा समाधि नहीं ले सके। बाबा भोपाल में प्रकट तो हुए लेकिन पुलिस ने उन्हें समाधि नहीं लेने दी। जिसके बाद मिर्ची बाबा का कहना है कि अगर उन्हें जल समाधि नहीं लेने दी गई तो वह अन्न जल त्याग देंगे।

Police Claim That Mirchi Baba Who Claimed Water Samadhi On The Defeat Of Digvijay :

बता दें कि मिर्ची बाबा ने भोपाल से कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह के लिए 5 क्विंटल मिर्च से हवन किया था। इस दौरान उन्होने कहा था कि दिग्विजय सिंह भारी मतों से जीत रहे हैं। यहीं नहीं उन्होने दावा किया था कि अगर दिग्विजय सिंह चुनाव नहीं जीतेंगे तो वो जलसमाधि ले लेंगे। बाद में जब दिग्विजय सिंह चुनाव हार गए तो बाबा वैराज्ञानन्द उर्फ मिर्ची बाबा गायब हो गए थे।

बताया जा रहा है कि तीन दिन पहले बाबा ने अचानक डीएम को चिट्ठी भेजकर कहा कि रविवार को 2 बजकर 11 मिनट पर जल समाधि लेंगे, जिसके लिए उन्होने प्रशासन से अनुमति मांगी थी। चिट्ठी मिलते ही प्रशासन हरकत में आया। रविवार को जैसे ही मिर्ची बाबा भोपाल पहुंचे उन्हें भोपाल पुलिस ने अपने घेरे में ले लिया और साये की तरह बाबा के साथ हो लिए। बाबा ने जिस तालाब पर जलसमाधि लेने को बोला था, पुलिस ने उस तालाब को भी कब्जे में ले लिया है।
वहीं पुलिस मिर्ची बाबा को एक होटल में ले गई और उन्हें वहीं नज़रबंद कर दिया।

भोपाल। लोकसभा चुनाव में दिग्विजय सिंह की हार पर समाधि लेने का दावा करने वाले वैराज्ञानन्द उर्फ मिर्ची बाबा अब पुलिस की निगरानी में हैं। दरअसल उन्होने रविवार को समाधि लेने की बात कही थी, जिसके बाद उस तालाब पर हजारों लोगों की भीड़ जमा हो गई। हालाकि पुलिस ने उस तालाब को अपने कब्जे में ले लिया, जिसके चलते मिर्ची बाबा समाधि नहीं ले सके। बाबा भोपाल में प्रकट तो हुए लेकिन पुलिस ने उन्हें समाधि नहीं लेने दी। जिसके बाद मिर्ची बाबा का कहना है कि अगर उन्हें जल समाधि नहीं लेने दी गई तो वह अन्न जल त्याग देंगे। बता दें कि मिर्ची बाबा ने भोपाल से कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह के लिए 5 क्विंटल मिर्च से हवन किया था। इस दौरान उन्होने कहा था कि दिग्विजय सिंह भारी मतों से जीत रहे हैं। यहीं नहीं उन्होने दावा किया था कि अगर दिग्विजय सिंह चुनाव नहीं जीतेंगे तो वो जलसमाधि ले लेंगे। बाद में जब दिग्विजय सिंह चुनाव हार गए तो बाबा वैराज्ञानन्द उर्फ मिर्ची बाबा गायब हो गए थे। बताया जा रहा है कि तीन दिन पहले बाबा ने अचानक डीएम को चिट्ठी भेजकर कहा कि रविवार को 2 बजकर 11 मिनट पर जल समाधि लेंगे, जिसके लिए उन्होने प्रशासन से अनुमति मांगी थी। चिट्ठी मिलते ही प्रशासन हरकत में आया। रविवार को जैसे ही मिर्ची बाबा भोपाल पहुंचे उन्हें भोपाल पुलिस ने अपने घेरे में ले लिया और साये की तरह बाबा के साथ हो लिए। बाबा ने जिस तालाब पर जलसमाधि लेने को बोला था, पुलिस ने उस तालाब को भी कब्जे में ले लिया है। वहीं पुलिस मिर्ची बाबा को एक होटल में ले गई और उन्हें वहीं नज़रबंद कर दिया।