अमेरिका में पुलिस ने अफ्रीकी मूल के शख्स को घुटनों के नीचे दबाकर मार डाला

usa police
अमेरिका में पुलिस ने अफ्रीकी मूल के शख्स को घुटनों के नीचे दबाकर मार डाला

अमेरिका के मिनियापोलिस शहर में एक अफ्रीकी मूल के अमेरिकी शख्स की पुलिस बर्बरता से मौत हो गई। इस घटना का वीडियो सामने आया है। वीडियो में एक अश्वेत को हथकड़ी लगी है और वह जमीन पर उल्टा लेटा है। एक पुलिस अफसर पांच मिनट से ज्यादा समय तक उसकी गर्दन पर अपना घुटना गढ़ाए रहता है। बाद में उस आदमी की मौत हो जाती है। चारों पुलिस वालों को बर्खास्त कर दिया गया है।

Police In America Killed African Born Man By Kneeling Down :

मरने वाले अश्वेत का नाम जॉर्ज फ्लॉयड है। अमेरिका में इस मामले को लेकर कई जगह विरोध-प्रदर्शन शुरू हो गए हैं। जबकि, मिनियापोलिस के मेयर जैकब फ्रे ने जॉर्ज फ्लॉयड की हिरासत में मौत के बाद चार पुलिस अधिकारियों पर त्वरित कार्रवाई की है। वीडियो में सुना जा सकता है कि करीब 40 साल का जॉर्ज लगातार पुलिस अफसर से घुटना हटाने को कहता रहा। वह कहता है, ‘आपका घुटना मेरी गर्दन पर है, मैं सांस नहीं ले पा रहा हूं…’, धीरे-धीरे उसकी हरकत बंद हो जाती है। इसके बाद अफसर कहते  हैं ‘उठो और कार में बैठो’ लेकिन कोई प्रतिक्रिया न आने पर उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो जाती है।

धोखाधड़ी में पकड़ा था

मिनियापोलिस के मेयर ने इस घटना पर नाराजगी जताते हुए बताया कि अधिकारियों पर मुकदमा चलाया जा रहा है। उधर, नागरिक अधिकारों के वकील बेन क्रंप ने कहा कि फ्लायड को पुलिस ने धोखाधड़ी के जुर्म में पकड़ा था। उस पर फर्जी चेक देने और जाली नोट के इस्तेमाल के आरोप थे। यह एक हिंसक अपराध नहीं था, लेकिन पुलिस ने अमानवीयता दिखाते हुए ताकत का गलत इस्तेमाल कर उसकी हत्या कर दी।

हत्या का मामला दर्ज हो

मिनियोपोलिस के पुलिस चीफ मैडारिया एराडोन्डो ने बताया कि मामला एफबीआई को सौंप दिया गया है। पुलिस अफसरों पर पर अधिकारों के गलत इस्तेमाल का केस चलाया जाएगा, लेकिन विरोध कर रहे लोगों की मांग है कि अफसर पर हत्या का मामला दर्ज होना चाहिए। उसके साथ शामिल सभी अधिकारियों पर भी हत्या का मामला दर्ज होना चाहिए।

अमेरिका के मिनियापोलिस शहर में एक अफ्रीकी मूल के अमेरिकी शख्स की पुलिस बर्बरता से मौत हो गई। इस घटना का वीडियो सामने आया है। वीडियो में एक अश्वेत को हथकड़ी लगी है और वह जमीन पर उल्टा लेटा है। एक पुलिस अफसर पांच मिनट से ज्यादा समय तक उसकी गर्दन पर अपना घुटना गढ़ाए रहता है। बाद में उस आदमी की मौत हो जाती है। चारों पुलिस वालों को बर्खास्त कर दिया गया है। मरने वाले अश्वेत का नाम जॉर्ज फ्लॉयड है। अमेरिका में इस मामले को लेकर कई जगह विरोध-प्रदर्शन शुरू हो गए हैं। जबकि, मिनियापोलिस के मेयर जैकब फ्रे ने जॉर्ज फ्लॉयड की हिरासत में मौत के बाद चार पुलिस अधिकारियों पर त्वरित कार्रवाई की है। वीडियो में सुना जा सकता है कि करीब 40 साल का जॉर्ज लगातार पुलिस अफसर से घुटना हटाने को कहता रहा। वह कहता है, ‘आपका घुटना मेरी गर्दन पर है, मैं सांस नहीं ले पा रहा हूं...’, धीरे-धीरे उसकी हरकत बंद हो जाती है। इसके बाद अफसर कहते  हैं ‘उठो और कार में बैठो’ लेकिन कोई प्रतिक्रिया न आने पर उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो जाती है। धोखाधड़ी में पकड़ा था मिनियापोलिस के मेयर ने इस घटना पर नाराजगी जताते हुए बताया कि अधिकारियों पर मुकदमा चलाया जा रहा है। उधर, नागरिक अधिकारों के वकील बेन क्रंप ने कहा कि फ्लायड को पुलिस ने धोखाधड़ी के जुर्म में पकड़ा था। उस पर फर्जी चेक देने और जाली नोट के इस्तेमाल के आरोप थे। यह एक हिंसक अपराध नहीं था, लेकिन पुलिस ने अमानवीयता दिखाते हुए ताकत का गलत इस्तेमाल कर उसकी हत्या कर दी। हत्या का मामला दर्ज हो मिनियोपोलिस के पुलिस चीफ मैडारिया एराडोन्डो ने बताया कि मामला एफबीआई को सौंप दिया गया है। पुलिस अफसरों पर पर अधिकारों के गलत इस्तेमाल का केस चलाया जाएगा, लेकिन विरोध कर रहे लोगों की मांग है कि अफसर पर हत्या का मामला दर्ज होना चाहिए। उसके साथ शामिल सभी अधिकारियों पर भी हत्या का मामला दर्ज होना चाहिए।