अंसल—रोहतास ग्रुप के सीएमडी पर शिकंजा, जल्द होगी इनकी सम्पत्ति की कुर्की, लुकआउट नोटिस की तैयारी!

police
करोड़ों की धोखाधड़ी कर फरार अंसल—रोहतास ग्रुप के सीएमडी की सम्पत्ति की होगी कुर्की, जल्द जारी हो सकती है लुकआउट नोटिस!

लखनऊ। करोड़ों रुपये की धोखाधड़ी कर फरार अंसल—रोहतास ग्रुप के सीएमडी पर शिकंजा कसता जा रहा है। हजरतगंज पुलिस इनकी सम्पत्ति की कुर्की करने की तैयारी में जुट गयी है। इसके साथ ही इनके खिलाफ जल्द ही लुकआउट नोटिस जारी हो सकता है। इसके लिए एसएसपी की अंतिम मुहर लगनी बाकी है। सूत्रों की माने तो आरोपी कोर्ट में सरेंडर करने की तैयारी में हैं। हालांकि पुलिस इन पर शिकंजा कसती जा रही है।

Police Is Tightening The Cmd Of Ansal Rohtas Group :

हजरतगंज पुलिस फरार चल रहे सुनील अंसल और रोहतास ग्रुप के सीएमडी परेश रस्तोगी की प्रॉपर्टी का ब्योरा खंगालना शुरू कर दी है। प्रापर्टी का ब्योरा मिलने के बाद इनके घर पर कुर्की का नोटिस चस्पा किया जायेगा। बताया जा रहा है कि आरोपी विदेश भागने की फिराक में हैं, जिसके कारण पुलिस ने यह कार्रवाई की तैयारी शुरू कर दी है। रियल एस्टेट कंपनी अंसल और रोहतास ग्रुप के खिलाफ राजधानी के हजरतगंज कोतवाली समेत विभिन्न थानों में दर्जनों मुकदमें दर्ज हैं।

आरोपियों पर शिकंजा कसने के लिए हजरतगंज पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है। इसको लेकर इनके खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी करने के लिए फाइल एसएसपी कलानिधी नैथानी को भेज दी गयी है। एसएसपी की अंतिम मुहर लगने के बाद इनके खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी कर दिया जायेगा। इसके साथ ही देशभर के सभी एयरपोर्ट पर लुकआउट नोटिस भेज दिया जायेगा। इसके साथ ही पुलिस फरार चल रहे बिल्डर सुशील बंसल और प्रणव अंसल और रोहतास ग्रुप के सीएमडी परेश रस्तोगी के प्रापर्टियों का ब्योरा खंगाल रही है। प्रापर्टी डिटेल मिलने के बाद आरोपियों के खिलाफ कुर्की का आदेश लेकर उन पर शिकंजा कसेगी।

गठित की जायेगी स्पेशल टीम
निवेशकों का करोड़ों रुपये लेकर फरार चल रहे इन आरोपियों की धर पकड़ के लिए स्पेशल टीम गठित की जायेगी। स्पेशल टीम आरोपियों की गिरफ्तारी का हर संभव प्रयास करेगी और उन्हें सलाखों के पीछे भेजेगी। आरोपियों के खिलाफ 50 से ज्यादा मुकदमें विभिन्न थानों में दर्ज हैं।

कोर्ट में कर सकते हैं सरेंडर
सूत्रों की माने तो अंसल और रोहतास कंपनी के फरार चल रहे आरोपी जल्द ही कोर्ट में सरेंडर कर सकते हैं। इसके लेकर पुलिस भी सतर्क हो गयी है। इसके साथ ही कोर्ट में पड़ने वाले अग्रिम जमानतों पर भी पुलिस नजर रखे हुए है। इसके साथ ही कोर्ट के आस—पास पुलिस टीम को भी सादी वर्दी में तैनात किया गया है।

पुलिस का मिलता रहा संरक्षण
सूत्रों की माने तो करोड़ों रुपयों की ठगी करने वाले आरोपियों के खिलाफ राजधानी के विभिन्न थानों में मुकदमें दर्ज होते रहे लेकिन पुलिस इनको गिरफ्तार करने की कोशिश नहीं की। इतना ही नहीं इन्हें पुलिस को पूरा संरक्षण भी मिलता रहा, जिसके कारण अभी तक इनकी गिरफ्तारी नहीं हो सकती है।

लखनऊ। करोड़ों रुपये की धोखाधड़ी कर फरार अंसल—रोहतास ग्रुप के सीएमडी पर शिकंजा कसता जा रहा है। हजरतगंज पुलिस इनकी सम्पत्ति की कुर्की करने की तैयारी में जुट गयी है। इसके साथ ही इनके खिलाफ जल्द ही लुकआउट नोटिस जारी हो सकता है। इसके लिए एसएसपी की अंतिम मुहर लगनी बाकी है। सूत्रों की माने तो आरोपी कोर्ट में सरेंडर करने की तैयारी में हैं। हालांकि पुलिस इन पर शिकंजा कसती जा रही है। हजरतगंज पुलिस फरार चल रहे सुनील अंसल और रोहतास ग्रुप के सीएमडी परेश रस्तोगी की प्रॉपर्टी का ब्योरा खंगालना शुरू कर दी है। प्रापर्टी का ब्योरा मिलने के बाद इनके घर पर कुर्की का नोटिस चस्पा किया जायेगा। बताया जा रहा है कि आरोपी विदेश भागने की फिराक में हैं, जिसके कारण पुलिस ने यह कार्रवाई की तैयारी शुरू कर दी है। रियल एस्टेट कंपनी अंसल और रोहतास ग्रुप के खिलाफ राजधानी के हजरतगंज कोतवाली समेत विभिन्न थानों में दर्जनों मुकदमें दर्ज हैं। आरोपियों पर शिकंजा कसने के लिए हजरतगंज पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है। इसको लेकर इनके खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी करने के लिए फाइल एसएसपी कलानिधी नैथानी को भेज दी गयी है। एसएसपी की अंतिम मुहर लगने के बाद इनके खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी कर दिया जायेगा। इसके साथ ही देशभर के सभी एयरपोर्ट पर लुकआउट नोटिस भेज दिया जायेगा। इसके साथ ही पुलिस फरार चल रहे बिल्डर सुशील बंसल और प्रणव अंसल और रोहतास ग्रुप के सीएमडी परेश रस्तोगी के प्रापर्टियों का ब्योरा खंगाल रही है। प्रापर्टी डिटेल मिलने के बाद आरोपियों के खिलाफ कुर्की का आदेश लेकर उन पर शिकंजा कसेगी। गठित की जायेगी स्पेशल टीम निवेशकों का करोड़ों रुपये लेकर फरार चल रहे इन आरोपियों की धर पकड़ के लिए स्पेशल टीम गठित की जायेगी। स्पेशल टीम आरोपियों की गिरफ्तारी का हर संभव प्रयास करेगी और उन्हें सलाखों के पीछे भेजेगी। आरोपियों के खिलाफ 50 से ज्यादा मुकदमें विभिन्न थानों में दर्ज हैं। कोर्ट में कर सकते हैं सरेंडर सूत्रों की माने तो अंसल और रोहतास कंपनी के फरार चल रहे आरोपी जल्द ही कोर्ट में सरेंडर कर सकते हैं। इसके लेकर पुलिस भी सतर्क हो गयी है। इसके साथ ही कोर्ट में पड़ने वाले अग्रिम जमानतों पर भी पुलिस नजर रखे हुए है। इसके साथ ही कोर्ट के आस—पास पुलिस टीम को भी सादी वर्दी में तैनात किया गया है। पुलिस का मिलता रहा संरक्षण सूत्रों की माने तो करोड़ों रुपयों की ठगी करने वाले आरोपियों के खिलाफ राजधानी के विभिन्न थानों में मुकदमें दर्ज होते रहे लेकिन पुलिस इनको गिरफ्तार करने की कोशिश नहीं की। इतना ही नहीं इन्हें पुलिस को पूरा संरक्षण भी मिलता रहा, जिसके कारण अभी तक इनकी गिरफ्तारी नहीं हो सकती है।