पुलिस ने एनकाउंटर में विकास दुबे के दो और साथियों प्रभात मिश्रा और बउअन को मार गिराया

kanpur-shoots

नई दिल्ली: कानपुर एनकाउंटर मामले में यूपी पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है. पुलिस ने एनकाउंटर में विकास दुबे के दो और साथियों प्रभात मिश्रा और बउअन को मार गिराया है. विकास के करीबी माने जाने दोनों अपराधी कानपुर कांड में शामिल थे. हालांकि इस कांड का मुख्य आरोपी विकास अब भी पुलिस के हाथ नहीं आया है. करीब 10 राज्यों की पुलिस विकास की तलाश में लगी हुई हैं. कानपुर में इनकाउंटर वाली जगह पर फॉरेंसिक की टीम पहुंच गई है. एडीजी सहित तमाम आला अधिकारी मौके पर मौजूद हैं.

Police Killed Two More Colleagues Of Vikas Dubey Prabhat Mishra And Bauan In The Encounter :

प्रभात को कानपुर की पनकी थाना क्षेत्र में हुई मुठभेड़ में पुलिस ने ढेर किया. प्रभात को फरीदाबाद से गिरफ्तार करके रिमांड पर लाया जा रहा था, यहां उसने पुलिस का हथियार छिनकर भागने की कोशिश की और मारा गया. पुलिस की गाड़ी पंचर हो जाने की वजह से प्रभात ने भागने की नाकाम कोशिश की. प्रभात ने पुलिस का हथियार छीनकर फायर किया जिसमें पुलिस के दो जवान घायल हे गए. प्रभात बिकरु गांव का रहने वाला था.

वहीं इटावा के सिविल लाइन थाना क्षेत्र में कुछ बदमाशों ने एक गाड़ी लूटी. पुलिस को सूचना मिली और एनकाउंटर के दौरान एक अपराधी को गोली लगी और उसकी पहचान रणवीर उर्फ बउअन के रूप में हुई. बउअन पर 50 हजार का इनाम था.बउअन अपने तीन साथियों के साथ भागने की कोशिश कर रहा था. बउउन के पास से 512 बोर की एक डबल बैरल राइफल और एक पिस्टल बरामद हुई है.

विकास के दिल्ली-एनसीआर में छुपे होने इनपुट मिलने के बाद नोएडा पुलिस हाई अलर्ट मोड में आ गई है. पुलिस अधिकारियों को आशंका है कहीं विकास दुबे फरीदाबाद से निकलकर ग्रेटर नोएडा में आकर आत्म समर्पण न करे, इसलिए सूरजपुर जिला कोर्ट में आने वाले लोगों का मास्क हटवाकर चेहरा देखा गया था. मिली जानकारी के अनुसार, कोर्ट के बाहर पुलिस की चौकसी बढ़ा दी गई थी. सैक्टर 16ए स्थित फिल्म सिटी जो मीडिया का हब का जाता वहाँ पुलिस की जांच में जुटी है कि विकास दुबे कही चैनल के द्वारा सेरेंडर न कर दे. नोएडा-ग्रेटर नोएडा में पुलिस को सतर्क कर दिया गया है. गाड़ी में बैठे लोगों के चहरे से मास्क हटाकर उन्हें आगे जाने दिया जा रहा है.

ग्रेटर नोएडा के सूरजपुर डिस्टिक कोर्ट पर तैनात पुलिस कोर्ट में आने वाले लोगों का मास्क हटवाकर चेहरा देखा. पुलिस नोएडा के फिल्म सिटी जो मीडिया का हब का जाता वहाँ भी नाकाबंदी कर जांच कर रही है. डीएनडी पर पहले से ही वाहनो को जांच करने के बाद प्रवेश दिया जा रहा है. वही परी चौक पर भी सघन चेकिंग अभियान जारी है. सभी वाहनों को रोक कर गाड़ी में बैठे लोगों के चहरे से मास्क हटाकर उन्हें आगे जाने दिया जा रहा है.

पुलिस अधिकारियों को यह आशंका है कि एनकाउंटर से बचने के लिए विकास दिल्ली या ग्रेटर नोएडा स्थित सूरजपुर कोर्ट में सरेंडर कर सकता है. इसे देखते हुए पुलिस ने नोएडा कोर्ट और आसपास के सभी रास्तों पर सख्ती बढ़ा दी है. पुलिस कर्मी सड़क पर आने-जाने वाले हर वाहन की गहनता से जांच करने के साथ ही कोर्ट के अंदर आने वाले हर व्यक्ति की पड़ताल कर रहे हैं.

विकास की धरपकड़ के लिए स्थानीय पुलिस तो अलर्ट पर है ही, एसटीएफ की टीमें भी दिल्ली-एनसीआर में चक्कर काट रही हैं. पुलिस उससे जुड़े हर इनपुट को गंभीरता से ले रही है. पुलिस को विकास से जुड़ी हर छोटी से छोटी जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों तक पहुंचाने के लिए भी कहा गया है. पुलिस उसकी तलाश में दिल्ली, यूपी, गुरुग्राम और फरीदाबाद और राजस्थान सहित तमाम जगहों पर छापेमारी कर रही है.

नई दिल्ली: कानपुर एनकाउंटर मामले में यूपी पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है. पुलिस ने एनकाउंटर में विकास दुबे के दो और साथियों प्रभात मिश्रा और बउअन को मार गिराया है. विकास के करीबी माने जाने दोनों अपराधी कानपुर कांड में शामिल थे. हालांकि इस कांड का मुख्य आरोपी विकास अब भी पुलिस के हाथ नहीं आया है. करीब 10 राज्यों की पुलिस विकास की तलाश में लगी हुई हैं. कानपुर में इनकाउंटर वाली जगह पर फॉरेंसिक की टीम पहुंच गई है. एडीजी सहित तमाम आला अधिकारी मौके पर मौजूद हैं. प्रभात को कानपुर की पनकी थाना क्षेत्र में हुई मुठभेड़ में पुलिस ने ढेर किया. प्रभात को फरीदाबाद से गिरफ्तार करके रिमांड पर लाया जा रहा था, यहां उसने पुलिस का हथियार छिनकर भागने की कोशिश की और मारा गया. पुलिस की गाड़ी पंचर हो जाने की वजह से प्रभात ने भागने की नाकाम कोशिश की. प्रभात ने पुलिस का हथियार छीनकर फायर किया जिसमें पुलिस के दो जवान घायल हे गए. प्रभात बिकरु गांव का रहने वाला था. वहीं इटावा के सिविल लाइन थाना क्षेत्र में कुछ बदमाशों ने एक गाड़ी लूटी. पुलिस को सूचना मिली और एनकाउंटर के दौरान एक अपराधी को गोली लगी और उसकी पहचान रणवीर उर्फ बउअन के रूप में हुई. बउअन पर 50 हजार का इनाम था.बउअन अपने तीन साथियों के साथ भागने की कोशिश कर रहा था. बउउन के पास से 512 बोर की एक डबल बैरल राइफल और एक पिस्टल बरामद हुई है. विकास के दिल्ली-एनसीआर में छुपे होने इनपुट मिलने के बाद नोएडा पुलिस हाई अलर्ट मोड में आ गई है. पुलिस अधिकारियों को आशंका है कहीं विकास दुबे फरीदाबाद से निकलकर ग्रेटर नोएडा में आकर आत्म समर्पण न करे, इसलिए सूरजपुर जिला कोर्ट में आने वाले लोगों का मास्क हटवाकर चेहरा देखा गया था. मिली जानकारी के अनुसार, कोर्ट के बाहर पुलिस की चौकसी बढ़ा दी गई थी. सैक्टर 16ए स्थित फिल्म सिटी जो मीडिया का हब का जाता वहाँ पुलिस की जांच में जुटी है कि विकास दुबे कही चैनल के द्वारा सेरेंडर न कर दे. नोएडा-ग्रेटर नोएडा में पुलिस को सतर्क कर दिया गया है. गाड़ी में बैठे लोगों के चहरे से मास्क हटाकर उन्हें आगे जाने दिया जा रहा है. ग्रेटर नोएडा के सूरजपुर डिस्टिक कोर्ट पर तैनात पुलिस कोर्ट में आने वाले लोगों का मास्क हटवाकर चेहरा देखा. पुलिस नोएडा के फिल्म सिटी जो मीडिया का हब का जाता वहाँ भी नाकाबंदी कर जांच कर रही है. डीएनडी पर पहले से ही वाहनो को जांच करने के बाद प्रवेश दिया जा रहा है. वही परी चौक पर भी सघन चेकिंग अभियान जारी है. सभी वाहनों को रोक कर गाड़ी में बैठे लोगों के चहरे से मास्क हटाकर उन्हें आगे जाने दिया जा रहा है. पुलिस अधिकारियों को यह आशंका है कि एनकाउंटर से बचने के लिए विकास दिल्ली या ग्रेटर नोएडा स्थित सूरजपुर कोर्ट में सरेंडर कर सकता है. इसे देखते हुए पुलिस ने नोएडा कोर्ट और आसपास के सभी रास्तों पर सख्ती बढ़ा दी है. पुलिस कर्मी सड़क पर आने-जाने वाले हर वाहन की गहनता से जांच करने के साथ ही कोर्ट के अंदर आने वाले हर व्यक्ति की पड़ताल कर रहे हैं. विकास की धरपकड़ के लिए स्थानीय पुलिस तो अलर्ट पर है ही, एसटीएफ की टीमें भी दिल्ली-एनसीआर में चक्कर काट रही हैं. पुलिस उससे जुड़े हर इनपुट को गंभीरता से ले रही है. पुलिस को विकास से जुड़ी हर छोटी से छोटी जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों तक पहुंचाने के लिए भी कहा गया है. पुलिस उसकी तलाश में दिल्ली, यूपी, गुरुग्राम और फरीदाबाद और राजस्थान सहित तमाम जगहों पर छापेमारी कर रही है.