राष्ट्रपति भवन की ओर मार्च कर रहे JNU छात्रों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज

JNU
राष्ट्रपति भवन की ओर मार्च कर रहे JNU छात्रों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज

नई दिल्ली। जवाहरलाल नेहरु यूनिवर्सिटी (जेएनयू) के छात्रों ने सोमवार को हॉस्टल फीस बढ़ाने के विरोध में राष्ट्रपति भवन तक मार्च निकाला। वे फीस बढ़ोतरी को लेकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात करना चाहते हैं। हालांकि इसे रोकने के लिए यूनिवर्सिटी कैंपस के बाहर पुलिस तैनात थी लेकिन बाद में बैरिकेड खोल दिया गया। दावा किया जा रहा है कि पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प हुई जिसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज किया। जेएनयू के छात्र फीस वृद्धि पर बीते कई दिनों से प्रदर्शन कर रहे हैं।

Police Lathi Charged Jnu Students Marching Towards Rashtrapati Bhavan :

इससे पहले जेएनयू के सभी गेट पर बैरिकेड लगा दिया गया और सुरक्षा बलों की तैनाती कर दी गई, ताकि छात्र राष्ट्रपति भवन तक जुलूस न निकाल सकें। हालांकि, छात्र जुलूस को आगे बढ़ने देने के लिए सुरक्षा बलों को मनाने की कोशिश करते दिखे।

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्रसंघ (जेएनयूएसयू) ने जेएनयू से राष्ट्रपति भवन तक एक जुलूस का आह्वान किया था। जेएनयूएसयू ने इसका आह्वान अपने महीने भर लंबे विरोध प्रदर्शन के सकारात्मक नतीजे नहीं आने के बाद किया। प्रशासन ने उनकी हास्टल फीस की प्रस्तावित बढ़ोतरी को वापस लेने की मांग को अस्वीकार कर दिया।

कई दिनों से प्रदर्शन कर रहे हैं छात्र

बता दें कि जेएनयू के छात्र अपनी मांगों को लेकर कई दिनों से प्रदर्शन कर रहे हैं। यहा मामला संसद में भी उठ चुका है। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय की उच्च स्तरीय कमेटी भी छात्रों से मिल चुकी है लेकिन छात्रों का कहना है कि जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं होगी तब तक प्रदर्शन जारी रहेगा।

छात्रावास और सेवा शुल्क में कटौती की सिफारिश

अभी हाल में ही जेएनयू द्वारा गठित उच्च स्तरीय समिति ने छात्रावास के नए शुल्कों को संसोधित करते हुए कटौती की सिफारिश की थी। इसके तहत गरीबी रेखा से नीचे के छात्रों को उपयोगिता शुल्क और सर्विस चार्ज 500 रुपये देना होगा।

नई दिल्ली। जवाहरलाल नेहरु यूनिवर्सिटी (जेएनयू) के छात्रों ने सोमवार को हॉस्टल फीस बढ़ाने के विरोध में राष्ट्रपति भवन तक मार्च निकाला। वे फीस बढ़ोतरी को लेकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात करना चाहते हैं। हालांकि इसे रोकने के लिए यूनिवर्सिटी कैंपस के बाहर पुलिस तैनात थी लेकिन बाद में बैरिकेड खोल दिया गया। दावा किया जा रहा है कि पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प हुई जिसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज किया। जेएनयू के छात्र फीस वृद्धि पर बीते कई दिनों से प्रदर्शन कर रहे हैं। इससे पहले जेएनयू के सभी गेट पर बैरिकेड लगा दिया गया और सुरक्षा बलों की तैनाती कर दी गई, ताकि छात्र राष्ट्रपति भवन तक जुलूस न निकाल सकें। हालांकि, छात्र जुलूस को आगे बढ़ने देने के लिए सुरक्षा बलों को मनाने की कोशिश करते दिखे। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्रसंघ (जेएनयूएसयू) ने जेएनयू से राष्ट्रपति भवन तक एक जुलूस का आह्वान किया था। जेएनयूएसयू ने इसका आह्वान अपने महीने भर लंबे विरोध प्रदर्शन के सकारात्मक नतीजे नहीं आने के बाद किया। प्रशासन ने उनकी हास्टल फीस की प्रस्तावित बढ़ोतरी को वापस लेने की मांग को अस्वीकार कर दिया। कई दिनों से प्रदर्शन कर रहे हैं छात्र बता दें कि जेएनयू के छात्र अपनी मांगों को लेकर कई दिनों से प्रदर्शन कर रहे हैं। यहा मामला संसद में भी उठ चुका है। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय की उच्च स्तरीय कमेटी भी छात्रों से मिल चुकी है लेकिन छात्रों का कहना है कि जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं होगी तब तक प्रदर्शन जारी रहेगा। छात्रावास और सेवा शुल्क में कटौती की सिफारिश अभी हाल में ही जेएनयू द्वारा गठित उच्च स्तरीय समिति ने छात्रावास के नए शुल्कों को संसोधित करते हुए कटौती की सिफारिश की थी। इसके तहत गरीबी रेखा से नीचे के छात्रों को उपयोगिता शुल्क और सर्विस चार्ज 500 रुपये देना होगा।